आईएएस कैसे बने?

आईएएस (IAS) के विषय में जानकारी

भारत में कलेक्टर का पद अंग्रेजी शासन में शुरू किया गया था | उस समय इस पद पर अंग्रेज व्यक्ति ही रहता था, किसी भी भारतीय को इस पद पर नियुक्त नहीं किया जाता था | यदि कोई योग्य व्यक्ति इस पद पर पहुंचने का प्रयास करता था उसको किसी न किसी प्रकार से अयोग्य करार कर दिया जाता था | स्वतंत्रता के बाद भारत ने इसी पद को अपना लिया और उसे कई प्रकार के अधिकार प्रदान कर दिए जिससे इस पद की गरिमा बहुत ही अधिक बढ़ गयी | इसकी गरिमा और शक्ति को ध्यान में रखते हुए इसके चयन प्रकिया को भी कठिन बनाया गया जिससे इस पद पर केवल योग्य व्यक्ति ही पहुंच सके | इस पेज पर आईएएस बनने के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: भारत में कितने आईएएस (IAS) अफसर है

ये भी पढ़ें: PCS कैसे बने

आईएएस का पूरा नाम क्या है (Full Form)?

आईएएस का पूरा नाम इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (Indian Administrative Service) है ?

आईएएस की परीक्षा का आयोजन कौन करता है (Who conducts IAS Exam)?

आईएएस की परीक्षा का आयोजन संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा की जाती है ?

संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) क्या है?

स्वतंत्रता से पूर्व आईएएस की परीक्षा का आयोजन इंग्लैण्ड में किया जाता था | राष्ट्रवादियों ने राजनीतिक आन्दोलन चला कर इसे भारत में स्थापित करने की मांग की थी | प्रथम लोक सेवा आयोग की स्थापना अक्टूबर 1926 को हुई थी | आजादी के बाद इसे संघ लोक सेवा आयोग का नाम दिया गया, इसकी स्थापना संविधान के अनुछेद 315 के अंतर्गत की गयी |

ये भी पढ़े: आईपीएस (IPS) कैसे बने

संघ लोक सेवा आयोग कौन- कौन सी परीक्षा का आयोजन करता है ?

वर्तमान समय में संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा 24 सेवाओं के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाता है, इसमें से प्रमुख इस प्रकार है-

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा
  • भारतीय पुलिस सेवा
  • भारतीय राजस्व सेवा
  • भारतीय अभियांत्रिकी सेवा
  • भारतीय आर्थिक और सांख्यिकी सेवा
  • भूगर्भ सेवा
  • विशिष्ट श्रेणी रेलवे प्रशिक्षु सेवा
  • संयुक्त चिकित्सा सेवा
  • केंद्रीय पुलिस सेवा
  • संयुक्त रक्षा सेवा
  • राष्टीय रक्षा सेवा

ये भी पढ़े: IRS (Indian Revenue Service) Officer कैसे बने

आईएएस परीक्षा के चरण (Steps)

संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा आईएएस की परीक्षा तीन चरणों में सम्पन्न की जाती है-

  • प्रारंभिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार

 ये भी पढ़े: बिना कोचिंग के आईएएस (IAS) परीक्षा की तैयारी

आईएएस परीक्षा के लिए योग्यता (Qualification)

मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थी इस परीक्षा में भाग ले सकते है | इस परीक्षा में अंक प्रतिशत की कोई भी बाध्यता नहीं रहती है, आपको किसी भी संकाय में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए है |

ये भी पढ़े: UPPSC सिलेबस की सम्पूर्ण जानकारी

प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न (Pre Exam Pattern)

क्र०सं० प्रश्न पत्र अंक
1 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र I (वस्तुनिष्ठ) 200
2 सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र II (वस्तुनिष्ठ) 200

मुख्य परीक्षा पैटर्न (Main Exam Pattern)

क्र०सं० प्रश्न पत्र अंक
1. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –I) 250
2. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –II) 250
3. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –III) 250
4. सामान्य अध्ययन  (प्रश्नपत्र –IV) 250
5. वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –I) 250
6. वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –II) 250
7. निबंध लेखन 250
8. अंग्रेज़ी (अनिवार्य) 300
9. भारतीय भाषा (अनिवार्य) 300

विशेष- अंग्रेज़ी (अनिवार्य), भारतीय भाषा (अनिवार्य) के अंकों को चयन प्रक्रिया में सम्मिलित नहीं किया जाता है |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

साक्षात्कार (Interview)

मुख्य परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों की पद के अनुरूप शार्ट लिस्टिंग किया जाता है, फिर पद की संख्या के आधार पर अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है, यह साक्षात्कार कुल 275 अंक का होता है |

चयन का आधार (Base of selection)

परीक्षा के तीनों चरणों में सफल होने वाले अभ्यर्थी को भारतीय प्रशासनिक सेवा (Indian administrative service) के अंतर्गत आने वाले पदों के लिए चयनित किया जाता है, जिस अभ्यर्थी की रैंक सबसे अच्छी होती है, उन्हें आईएएस के पद पर चयनित किया जाता है, जिनकी रैंक कम होती है, उन्हें अन्य पदों पर नियुक्ति प्रदान की जाती है, जिन्हें कुछ वर्षों की सेवा के बाद पदोन्नति के बाद आईएएस का पद प्रदान कर दिया जाता है | चयन के लिए मेरिट मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार के अंको के आधार पर बनायीं जाती है |

ये भी पढ़े: परीक्षा के लिए Preparation नोट्स कैसे बनाए

आईएएस के लिए तैयारी कैसे करे (Preparation)?

आईएएस की परीक्षा का स्तर इस प्रकार से बनाया गया कि इसमें केवल योग्य व्यक्ति ही आ सके इसलिए तैयारी का स्तर भी इसी के अनुरूप होना चाहिए आप इसकी तैयारी इस प्रकार करे-

दृढ़ निश्चय (Determination)

आईएएस के पद तक पहुंचने के लिए बहुत ही संयम रखने की आवश्यकता होती है, इसमें यदि आपका दृढ़ निश्चय कमजोर हुआ तो आप इस मार्ग से विमुख हो जायेंगे जिससे आप सफल नहीं हो पाएंगे जिससे संघ लोक सेवा आयोग द्वारा निर्धारित प्रयास व्यर्थ हो जायेंगे, इसलिए आपका दृढ़ निश्चय बहुत ही मजबूत होना चाहिए |

ये भी पढ़े: Reasoning को कैसे बनाये आसान

पाठ्यक्रम को समझे (Syllabus)

दृढ़ निश्चय होने के बाद आपको इसके पाठ्यक्रम को सही ढंग से समझना होगा आपको प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के पाठ्यक्रम को बहुत ही गंभीरता से लेना होगा दोनों परीक्षाओं के लिए अलग- अलग योजना बनानी होगी | पाठ्यक्रम के प्रत्येक बिंदु को मार्किंग करते हुए क्लियर करते जाए जिससे पूरा पाठ्यक्रम समाप्त किया जा सके |

रिवीजन

पाठ्यक्रम समाप्त होने के बाद आपको रिवीजन करना होगा आप जितना अधिक रिवीजन करेंगे परीक्षा में सफल होने के चांस उसी के अनुरूप बढ़ते जायेंगे |

ये भी पढ़ें: आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) फ्री कोचिंग कैसे पाए, ऑनलाइन फॉर्म

स्वयं के नोट्स बनाये (Notes)

अच्छी तैयारी करने के लिए आपको अपने स्वयं के नोट्स बनाने चाहिए यदि आप स्वयं नोट्स बनाते है, तो आप चीजों को अधिक समय तक याद रख सकते है |

समय सारणी (Time Table)

आपको एक समय सारणी बनानी होगी जिसमे आप सभी विषयों को पर्याप्त समय दे सके | समय सारणी बनने से आप की कमांड सारे विषयों पर बराबर हो जायेगी |

अपनी तैयारी को चेक करे

आप समय- समय पर अपनी तैयारी को चेक करते रहे है, इसके लिए आपको मॉडल प्रश्न पत्र को हल करना चाहिए | आप ऑनलाइन मॉक टेस्ट में भी भाग लेकर अपनी तैयारी की जाँच कर सकते है |

ये भी पढ़े: विभिन्न स्तर की परीक्षाओं की तैयारी कैसे करे

यहाँ पर हमनें आईएएस के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: वन अधिकारी (Forest Officer) कैसे बने

ये भी पढ़े: शादीशुदा अभ्यर्थी सरकारी नौकरी की तैयारी कैसे कर सकते है ?