UPPSC सिलेबस की सम्पूर्ण जानकारी

UPPSC सिलेबस   

Table of Contents

यूपीपीएससी परीक्षा का आयोजन यूपीएससी के माध्यम से किया जाता है,  इस परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को देश की सरकारी सेवाओं जैसे आईएएस, आईपीएस, पीसीएस, आईएफएस, आईआरएस और आईआरटीएस के लिए चुना जाता है, इन महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति के लिए इससे सम्बंधित पाठ्यक्रम की जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है, यूपीपीएससी का सिलेबस क्या होता है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बात रहें है |

ये भी पढ़ें: PCS कैसे बने

यूपीपीएससी सिलेबस

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा इस परीक्षा का आयोजन तीन चरणों में किया जाता है, जो इस प्रकार है –

1.प्रारम्भिक परीक्षा |

2.मुख्य परीक्षा |

3.साक्षात्कार |

1.प्रारम्भिक परीक्षा प्रथम प्रश्न पत्र सिलेबस

उत्तर प्रदेश सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 400 अंकों की होती है,  जिसमें सामान्य अध्ययन पेपर प्रथम और सामान्य अध्ययन पेपर द्वितीय के दो अनिवार्य प्रश्न पत्र होते हैं, इस परीक्षा में वैकल्पिक प्रश्न पूछें जाते है,  इस परीक्षा के अंक परीक्षा के ओवर आल अंकों में नहीं जोड़े जाते है, यदि अभ्यर्थी द्वारा पहले पेपर के मूल्याङ्कन के आधार पर उस वर्ष के कट-ऑफ मार्क्स को क्रॉस कर जाते हैं, तो उत्तर प्रदेश सिविल सर्विसेज मेंस परीक्षा में सम्मिलित होनें का अवसर प्राप्त होगा |

इस प्रश्न पत्र में आनें वाले टापिक इस प्रकार है –

1.राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व  की वर्तमान घटनाएँ |

2.भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास |

3.भारत और विश्व का भूगोल: प्राकृतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल |

4.भारतीय राजनीति और प्रशासन: संविधान , राजनीतिक प्रणाली , पंचायती राज , लोक नीति, अधिकारों के मुद्दे |

5.आर्थिक और सामाजिक विकास:सतत विकास गरीबी समावेशन , जनसांख्यिकी , सामाजिक क्षेत्र की पहल आदि |

6.पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन पर ज्वलंत मुद्दे |

7.सामान्य विज्ञान |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

प्रारम्भिक परीक्षा द्वितीय प्रश्न पत्र सिलेबस

1.कॉम्प्रिहेंशन  स्किल्स |

2.पारस्परिक कौशल वसंचार कौशल |

3.तार्किक शक्तिऔर विश्लेषणात्मक क्षमता |

4.निर्णय लेने और समस्या को सुलझाने की क्षमता |

5.सामान्य मानसिक योग्यता |

6.प्रारंभिक गणित के अंकगणित , बीजगणित, ज्यामिति और सांख्यिकी |

7.सामान्य अंग्रेजी कक्षा 10 स्तर तक |

2.मुख्य परीक्षा सिलेबस

मुख्य परीक्षा के अंतर्गत चार प्रश्न पत्र होते है, जो इस प्रकार है –

i).सामान्य अध्ययन पेपर |

ii).सामान्य अध्ययन पेपर |

iii).सामान्य हिंदी |

iv).निबंध |

सामान्य अध्ययन प्रथम प्रश्न पत्र सिलेबस

इस प्रश्न पत्र में भारत का इतिहास  प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक इतिहास में उन्नीसवीं सदी के मध्य के भारत और भारतीय संस्कृति के इतिहास के विषय में, भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन और भारतीय संस्कृति, भारतीय संदर्भ मेंजनसंख्या , पर्यावरण और शहरीकरण, विश्व भूगोल, भारत का भूगोल और इसके प्राकृतिक संसाधन, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व की वर्तमान घटनाएँ भारतीय कृषि, व्यापार और वाणिज्य आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है, इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश के विषय में विशिष्ट ज्ञान जैसे– प्रदेश की शिक्षा, संस्कृति, कृषि, व्यापार , वाणिज्य, सामाजिक रीति-रिवाजों तथा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वर्तमान घटनाओं खेलकूद आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है ।

सामान्य अध्ययन द्वितीय प्रश्न पत्र सिलेबस

सामान्य अध्ययन द्वितीय प्रश्न पत्र के अंतर्गत, भारतीय राजनीति, भारत और भारतीय संविधान में राजनीतिक प्रणाली, भारतीय/अर्थव्यवस्था, भारत में आर्थिक नीति, सामान्य विज्ञान, भारत के सन्दर्भ मेंविज्ञान और प्रौद्योगिकी कीभूमिका और उसके प्रभाव, सामान्य मानसिक योग्यता, सांख्यिकीय विश्लेषण, रेखांकन और चित्र, सांख्यिकीय विश्लेषण, रेखांकन और चित्र को समझनें की शक्ति आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है |

 सामान्य हिंदी पाठ्यक्रम

कॉम्प्रिहेंशन और प्रश्नोत्तर, संक्षेपण, सरकारी एवं अर्धसरकारी पत्र लेखन, तार लेखन, कार्यालय आदेश, अधिसूचना, परिपत्र, शब्द ज्ञान एवं प्रयोग, उपसर्ग एवं प्रत्यय प्रयोग, विलोम शब्द,  वाक्यांश के लिए एकशब्द,  वर्तनी एवं वाक्य शुद्धि, लोकोक्ति एवं मुहावरे आदि |

ये भी पढ़ें: SDM Officer कैसे बने

निबंध

निबंध के प्रश्नपत्र में तीन भाग होते है,अभ्यर्थी को प्रत्येक भाग से एक टॉपिक को चुनना है, और हर टॉपिक पर 700 शब्दों का निबंध लिखना होता है |

तीनों सेक्शन से सम्बंधित टॉपिक इस प्रकार है :—

सेक्शन ए : (1) साहित्य और संस्कृति (2) सामाजिक क्षेत्र (3) राजनीतिक क्षेत्र |

सेक्शन  बी : (1) विज्ञान, पर्यावरण और प्रौद्योगिकी (2) आर्थिक क्षेत्र (3) कृषि, उद्द्योग और व्यापार |

सेक्शन सी :  (1) राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटना (2) प्राकृतिक आपदा– लैंड स्लाइड, भूकंप, बाढ़ , सूखा आदि (3) राष्ट्रीय विकास कार्यक्रम और परियोजनाएँ |

साक्षात्कार

यह साक्षात्कार सिविल सेवा के बोर्ड द्वारा लिया जाता है,  साक्षात्कार में सामाजिक लक्षण और समसामयिक मामलों में अपनी रुचि का आकलन करनें और सार्वजनिक सेवा में एक कैरियर हेतु अभ्यर्थी की व्यक्तिगत उपयुक्तता का विश्लेषण करनें  के उद्देश्य से सक्षम और निष्पक्ष का एक बोर्ड द्वारा आयोजित किया जाता है ।

साक्षात्कार में व्यक्तित्व परीक्षण के दौरान मूल्यांकन गुणों में से कुछ मानसिक सतर्कता, स्पष्ट और तार्किक प्रदर्शनी, आत्मसात, विविधता और ब्याज की गहराई के महत्वपूर्ण शक्तियों, न्याय के संतुलन, बौद्धिक और सामाजिक सामंजस्य और नेतृत्व के लिए नैतिक अखंडता की क्षमता का भी परिक्षण किया जाता है,  साक्षात्कार के दौरान  अभ्यर्थी के मानसिक गुणों को प्रकट करनें का उद्देश्य और बातचीत पर अधिक महत्व दिया जाता है |

यहाँ आपको हमनें यूपीपीएससी सिलेबस के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़ें: सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी