लोको पायलट सिलेबस

लोको पायलट (Loko Pilot) सिलेबस  

वर्तमान समय में रेलवे में होनें वाली नियुक्तियों के अंतर्गत लोको पायलट पद के लिए रूचि रखनें वाले अनेको अभ्यर्थियों द्वारा आवेदन किया गया है, इस पद पर नियुक्तियां परीक्षा के माध्यम से की जाएँगी, परन्तु किसी भी परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें के लिए परीक्षा  सम्बंधित पाठ्यक्रम के बारें में जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है, यदि आप लोको पायलट बनना चाहते है, तो परीक्षा से सम्बंधित पाठ्यक्रम की विस्तृत जानकारी आपको इस पेज पर दे रहें है, जिससे आपको परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें में आसानी होगी |

ये भी पढ़ें: लोको पायलट कैसे बने

लोको पायलट परीक्षा सिलेबस

लोको पायलट का चयन  4 चरणों के माध्यम से किया जाएगा, परीक्षा के प्रथम तथा द्वितीय चरण में नकारात्मक अंकन किया जायेगा, प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक तिहाई अंक काटा जाएगा, तथा कंप्यूटर बेस्ड एप्टीट्यूड टेस्ट में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी ।

1.प्रथम चरण कंप्यूटर आधारित टेस्ट (सीबीटी) |

2.द्वितीय चरण कंप्यूटर आधारित टेस्ट (सीबीटी)|

3.कंप्यूटर आधारित एप्टीट्यूड टेस्ट |

4.दस्तावेज़ सत्यापन |

1.प्रथम चरण कंप्यूटर आधारित परीक्षा सिलेबस

प्रथम चरण कंप्यूटर आधारित परीक्षा में कुल 75 प्रश्न पूछें जाते है, जिसके लिए  60 मिनट का समय निर्धारित होता है,परीक्षा में पूछें जाने वाले प्रश्न विषयों के अनुसार इस प्रकार है |

i).अंक शास्त्र

अंक शास्त्र के अंतर्गत, एलसीएम, एचसीएफ, अनुपात और अनुपात, संख्या प्रणाली, बोडमास, दशमलव, अंश,  प्रतिशत, मानकीकरण, समय और कार्य, समय और दूरी, सरल और मिश्रित ब्याज, लाभ और हानि, बीजगणित, ज्यामिति और त्रिकोणमिति, प्राथमिक सांख्यिकी, स्क्वायर रूट, आयु की गणना, कैलेंडर और घड़ी, पाइप्स और कूटर आदि विषयों से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है ।

ii).जनरल  इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग   

इसके अंतर्गत, कोडिंग- डिकोडिंग, गणितीय संचालन, रिश्ते, सिलेगिजम, एनालोजीज़, वर्णानुक्रमिक और संख्या श्रृंखला, वेन आरेख, डाटा इंटरप्रिटेशन और दक्षता, निष्कर्ष और निर्णय लेने, समानताएं और अंतर, विश्लेषणात्मक तर्क, वर्गीकरण, निर्देश, वक्तव्य – तर्क और आकलन आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है |

iii).सामान्य विज्ञान

सामान्य विज्ञान के अंतर्गत दसवीं स्तर के रसायन विज्ञान, भौतिकी और जीवन विज्ञान से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है ।

ये भी पढ़े : प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करे  

iv).सामान्य जागरूकता  

सामान्य जागरूकता के अंतर्गत, संस्कृति, व्यक्तित्व, अर्थशास्त्र, राजनीति, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, खेल तथा अन्य विषयों में वर्तमान में घटित होनें वाली घटनाओं से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है |

2.द्वितीय चरण कंप्यूटर आधारित टेस्ट

द्वितीय चरण के अंतर्गत होनें वाली परीक्षा में दो भागों में आयोजित की जाती है, प्रथम भाग में कुल 100 प्रश्न पूछें जाते है, तथा समय अवधि 90 मिनट होती है |

प्रथम भाग प्रश्न पत्र

i).गणित  

संख्या प्रणाली, सरल और मिश्रित ब्याज, लाभ और हानि, बीजगणित, ज्यामिति और त्रिकोणमिति, प्राथमिक सांख्यिकी, स्क्वायर रूट, आयु की गणना, बोडमास, दशमलव, अंश, एलसीएम, एचसीएफ, अनुपात और अनुपात, प्रतिशत, मानकीकरण, समय और कार्य; समय और दूरी, कैलेंडर और घड़ी, पाइप्स और कूटर आदि विषयों से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है |

ii).सामान्य इंटेलिजेंस और रिज़निंग  

गणितीय संचालन, रिश्ते, सिलेगिजम, वेन आरेख, डेटा इंटरप्रिटेशन और दक्षता, निष्कर्ष और निर्णय लेने, समानताएं और अंतर, विश्लेषणात्मक तर्क, वर्गीकरण, निर्देश, एनालॉग्स, वर्णानुक्रमिक और संख्या श्रृंखला, कोडिंग और डिकोडिंग, वक्तव्य – तर्क और आकलन आदि ।

iii).बेसिक साइंस और इंजीनियरिंग  

इसके अंतर्गत विस्तृत विषय इंजीनियरिंग ड्रॉइंग (प्रोजेक्शन, दृश्य, ड्राइंग इंस्ट्रूमेंट्स, लाइन्स, ज्यामितीय आंकड़े, प्रतीकात्मक प्रतिनिधित्व), ऊर्जा, गति और वेग, गर्मी और तापमान , बेसिक इलेक्ट्रिसिटी, लीवर एंड सिंपल मशीन, व्यावसायिक सुरक्षा और स्वास्थ्य, पर्यावरण शिक्षा, आईटी, इकाइयां, मापन, जन वजन और घनत्व, कार्य शक्ति और साक्षरता आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है ।

iv).सामान्य जागरूकता  

इसके अंतर्गत वर्तमान मामलों से सम्बंधित (करंट अफेयर्स ), विज्ञान और प्रौद्योगिकी, खेल, संस्कृति, व्यक्तित्व, अर्थशास्त्र, राजनीति और महत्व, आदि विषयों से प्रश्न पूछें जाते है |

ये भी पढ़ें: 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये

द्वितीय भाग

द्वितीय भाग में कुल प्रश्नों की संख्या 75 होती है, जिसकी समय अवधि 60 मिनट होती है, परीक्षा का यह भाग क्वालीफाइंग प्रकार का है, इसमें डीजीईटी द्वारा निर्धारित ट्रेड पाठ्यक्रम से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है,  आईटीआई/ट्रेड अप्रेंटिसशिप योग्यता वाले अभ्यर्थियों को अपनें संबंधित ट्रेड के प्रश्नो वाले भाग को हल करना होगा, जबकि  डिग्री, डिप्लोमा और एचएससी ( 10+2) की योग्यता वाले अभ्यर्थियों को अपनें इंजीनियरिंग विषय से संबंधित ट्रेड का चयन करना होगा ।

मैकेनिकल  सिलेबस

इसके अंतर्गत आयाम, गर्मी, इंजन, टर्बो मशीनरी उत्पादन अभियांत्रिकी स्वचालन इंजीनियरिंग एप्लाइड मैकेनिक्स प्रबंधन  काइनेटिक सिद्धांत,धातुकर्म,सामग्री की ताकत, धातु हैंडलिंग ऊर्जा सामग्री, रेफ्रिजरेटर और एयर कंडीशनर, थर्मो डायनेमिक्स ऊर्जा सरंक्षण आदि |

इलेक्ट्रिकल सिलेबस

रोल्स, केबल्स, विद्युत भारत,लाइट, मैग्नेटिज्म, स्थानांतरण, तीन चरण मोटर सिस्टम, मौलिक विद्युत प्रणाली होने का प्रमाणन, मोटर्स एक वैकल्पिक प्रणाली एकल चरण मोटर |

इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन सिलेबस

इलेक्ट्रॉनिक ट्यूब,डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स, ट्रांजिस्टर,डायस, नेटवर्किंग और औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स,कंप्यूटर और माइक्रो प्रोसेसर, अर्ध-कंडक्टर भौतिकी, रोबोट रेडियो कम्युनिकेशंस सिस्टम और सैटेलाइट |

ऑटोमोबाइल  सिलेबस

मशीन डिजाइन, थर्मो डायनेमिक्स, सिस्टम थ्योरी, गर्मी का हस्तांतरण, धातुकर्म उत्पादन प्रौद्योगिकी, मोशन लागू करनें वाली सामग्री, आईसी इंजन,पावर प्लांट टर्बाइन और बॉयलर |

लोको पायलट परीक्षा पैटर्न

       परीक्षा      विषय प्रश्न स०  समय
 

प्रथम चरण सीबीटी

अंक शास्त्र  

 

75

 

 

60 मिनट

जनरल  इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग
सामान्य विज्ञान
सामान्य जागरूकता
 

द्वितीय चरण

(भाग -1)

अंक शास्त्र  

 

100

 

 

90 मिनट

जनरल  इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग
बेसिक साइंस एंड इंजीनियरिंग
सामान्य जागरूकता
द्वितीय चरण (भाग -2) ट्रेड विषय 75 60 मिनट
कुल        250

यहाँ आपको हमनें लोको पायलट परीक्षा सिलेबस के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़ें: एयर फ़ोर्स में पायलट कैसे बने