एयर फ़ोर्स में पायलट कैसे बने

कैसे बने- एयर फ़ोर्स में पायलट 

भारतीय वायु सेना भारतीय सशस्त्र सेनाओ के तीन प्रमुख अंगों में से एक है, हमारे देश के अधिकांश युवा वर्ग एयर फोर्स अर्थात भारतीय वायु सेना में सम्मलित होकर देश की सेवा करना चाहते है, भारतीय वायु सेना में पायलट पद के लिए छात्रों में अधिक रूचि देखनें को मिलती है, क्योंकि यह एक ऐसा करियर है, जो हर तरह की सुविधाओं, शानदार जीवन शैली और देश के लिए कुछ करनें के लिए सम्मान से परिपूर्ण है, इस पद को प्राप्त करनें के लिए इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना अनिवार्य  है, क्योंकि सही जानकारी के माध्यम से आप आसानी से सफलता प्राप्त कर सकते है, यदि आप एयर फोर्स में पायलट बनना चाहते है तो, इसके बारें में विस्तृत जानकारी इस पेज पर दे रहें है |

ये भी पढ़े: भारतीय वायु सेना कैसे ज्वाइन करे ?

ये भी पढ़े: मर्चेंट नेवी में कैसे जाए 

एयर फ़ोर्स में पायलट बननें हेतु योग्यता

1.एयर फोर्स में भर्ती होने के लिए अभ्यर्थी बारहवीं  50 प्रतिशत अंको के साथ पीसीएम सब्जेक्ट से उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है |

2.आवेदक की आयु 16 वर्ष  से 23 वर्ष के मध्य होना चाहिए , तथा शारीरिक रूप से फिट होना चाहिये |

एयर फ़ोर्स में पायलट बननें हेतु लम्बाई (हाइट)

भारतीय वायु सेना में पायलट के रूप में सम्मिलित होनें के लिए हाइट 162.5 सेमी से कम नहीं होनी चाहिए, आवेदको के बैठनें पर ऊंचाई,  81 सेंटीमीटर और 96 सेंटीमीटर के मध्य होनी चाहिए ।

ये भी पढ़े: लोको पायलट सिलेबस

एयर फ़ोर्स में पायलट बननें हेतु परीक्षा  

भारतीय वायु सेना में पायलट बननें के लिए अभ्यर्थी को मानसिक और शारीरिक, दोनों तरह से स्वस्थ होना आवश्यक है, पायलट  बननें  के लिए योग्यता के आधार पर दो तरह की परीक्षाए आयोजित की जाती है, एक ग्रेजुएट स्तर की और दूसरी अंडर ग्रेजुएट स्तर की होती है ,  ग्रेजुएट स्तर की परीक्षा में छात्रों को ग्रेजुएशन या इंजीनियरिंग स्तर पर पढ़ाए जानें वाले विषयों का गंभीरता से अध्ययन करना चाहियें और अंडर ग्रेजुएट छात्रों को दसवीं और बारहवीं के गणित और विज्ञान विषयों पर विशेष ध्यान देना चाहिए |  भारतीय वायुसेना में पायलट बननें के कई विकल्प है, जिनमें पहला नेशनल डिफेन्स एकेडमी, दूसरा कंबाइंड डिफेंस सर्विस यानी (सीडीएसई), तीसरा एनसीसी स्पेशल एंट्री और चौथा एसएससी परीक्षा के माध्यम से पायलट बन सकते है |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

 1.नेशनल डिफेन्स एकेडमी(NDA)

योग्यता

इसके अंतर्गत पायलट बननें वाले अभ्यर्थियों की आयु  16 से 19 वर्ष के मध्य होनी चाहियें, तथा भौतिक विज्ञान, गणित और अंग्रेजी विषयों से बारहवीं उत्तीर्ण छात्र एनडीए परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है, परन्तु इस परीक्षा में सिर्फ पुरुष अभ्यर्थियों को सम्मिलित किया जाता है |

आवेदन से सम्बंधित जानकारी

एनडीए की परीक्षाओं का आयोजन यूपीएससी द्वारा वर्ष में दो बार मई और दिसंबर महीने में किया जाता है, आवेदन से सम्बंधित जानकारी कमीशन की वेबसाइट (www.upsc.gov.in)   से प्राप्त कर सकते हैं ।

ये भी पढ़े: असिस्टेंट कमांडेंट कैसे बने

एनडीए की ट्रेनिंग

एनडीए की परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें के पश्चात, अभ्यर्थी को भारतीय वायुसेना के लिए चयनित किया जाता है, उसके बाद तीन वर्ष की ट्रेनिंग के लिए राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के खडकवासला स्थित प्रशिक्षण केंद्र में भेजा जाता है, प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षु पायलटों को हर तरह के हथियार और विमान चलानें का प्रशिक्षण दिया जाता है, इस प्रशिक्षण को पूरा करनें के पश्चात  प्रशिक्षु पायलटों को वायुसेना में परमानेंट कमीशंड अधिकारी का पद प्राप्त होता है, और देश में स्थित किसी भी एयरफोर्स स्टेशन में नियुक्त कर दिया जाता है |

2.कंबाइंड डिफेंस सर्विस (CDSE)

इस परीक्षा का आयोजन यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा किया जाता है, इसमें चयनित पुरुष अभ्यर्थी वायुसेना में परमानेंट कमीशन अधिकारी का पद प्राप्त करते है ।

ये भी पढ़े: एयर होस्टेस कैसे बने

योग्यता

इसमें सम्मिलित होनें वाले अभ्यर्थियों की आयु 19 से 23 वर्ष के मध्य होनी चाहियें, तथा भौतिक विज्ञान, गणित और अंग्रेजी विषयों से ग्रेजुएट, बीटेक, बीई या उसके समकक्ष होना चाहियें है, जो छात्र ग्रेजुएशन के फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा दे रहे हैं, वह  भी इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है, इस परीक्षा में सिर्फ पुरुष आवेदक ही आवेदन कर सकते हैं ।

आवेदन से सम्बंधित जानकारी

इस परीक्षा का आयोजन यूपीएससी द्वारा वर्ष में दो बार जून और अक्तूबर महीने में विज्ञापन जारी किया जाता है, जिसे आप कमीशन की (वेबसाइट (www.upsc.gov.in) पर देख सकते हैं ।

ये भी पढ़े: कैसे भरे सरकारी नौकरियों के ऑनलाइन फॉर्म

3.एनसीसी स्पेशल एंट्री

नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसी) के एयर विंग सीनियर डिविजन से सी-सर्टिफिकेट धारक एनसीसी कैडेट के अभ्यर्थी भारतीय सेना की फ्लाइंग शाखा के लिए आवेदन कर सकते हैं, उन्हें भी भारतीय वायुसेना में परमानेंट कमीशन का पद दिया जाता है ।

योग्यता

इसके अंतर्गत ऐसे अभ्यर्थी जिनकी आयु  19 से 23 वर्ष के मध्य है, और मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से 60 प्रतिशत अंकों के साथ भौतिक विज्ञान, गणित और अंग्रेजी विषयों से ग्रेजुएट, बीटेक, बीई या उसके समकक्ष योग्यता के साथ-साथ उनके पास एनसीसी के एयर विंग सीनियर डिविजन से सी-सर्टिफिकेट है, इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है, ग्रेजुएशन के अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा देनें वाले छात्र इस परीक्षा में बैठ सकते हैं,  इसके लिए बारहवीं और ग्रेजुएशन, दोनों स्तरों पर आपके पास विज्ञान विषय होना अनिवार्य है ।

ये भी पढ़े: 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये

आवेदन से सम्बंधित जानकारी

एनसीसी कैडेट्स को इसके लिए एनसीसी के डीजी या एयर स्क्वाड्रन से संपर्क कर जानकारी प्राप्त करना होगा ।

4.एसएससी परीक्षा 

भारतीय वायुसेना सेना की फ्लाइंग ब्रांच के लिए एसएससी परीक्षा द्वारा आवेदन कर सकते है, इसमें पुरुष और महिला दोनों सम्मिलित हो सकते है, इन्हें भी इंडियन एयरफोर्स में 14 वर्षो  के लिए शॉर्ट सर्विस कमीशन दिया जाता है ।

योग्यता

एसएससी परीक्षा के माध्यम से पायलट बननें वाले अभ्यर्थियों की आयु 19 से 23 वर्ष के मध्य होना आवश्यक है, शैक्षिक योग्यता के अंतर्गत, आवेदक किसी भी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से 60 प्रतिशत अंकों के साथ भौतिक विज्ञान, गणित और अंग्रेजी विषयों से ग्रेजुएट, बीटेक, बीई या उसके समकक्ष होना चाहियें, साथ ही जिसके पास एनसीसी के एयर विंग सीनियर डिविजन से सी-सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है, इसके लिए बारहवीं और स्नातक, दोनों स्तरों पर आपके पास विज्ञान विषय होना अनिवार्य हैं ।

ये भी पढ़े: कैसे करे SSC CGL परीक्षा के लिए तैयारी 

आवेदन से सम्बंधित जानकारी

भारतीय वायुसेना द्वारा एसएससी के माध्यम से एयर फोर्स कॉमन एंट्रेस टैस्ट (एएफसीएटी) के लिए वर्ष में दो बार जून और दिसंबर माह में आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं, इससे सम्बंधित जानकारी अधिकारिक वेबसाइट  www.ssc.nic.in और www.careerairforce.nic.in से प्राप्त कर सकते हैं ।

वेतनमान और अन्य सुविधाएं

एक ट्रेंड एयरफोर्स पायलट को प्रारंभिक वेतन के रूप में लगभग 50 हजार रुपए प्राप्त होता है, ट्रेनिंग के दौरान प्रशिक्षु पायलटों को 21 हजार रुपए प्रति माह स्टाइपेंड के रूप में दिया जाता हैं, इसके साथ ही सरकार द्वारा पायलटों को रहनें के लिए सरकारी सुविधा, स्वास्थ्य सुविधा और बच्चों के लिए मुफ्त शिक्षा जैसी सुविधाए प्राप्त होती हैं ।

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी

यहाँ आपको हमनें एयर फ़ोर्स में पायलट बननें के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: पायलट कैसे बने 

ये भी पढ़े: इंडियन आर्मी में पद और रैंक  

ये भी पढ़े:  रॉ एजेंट बननें के लिए क्या करें