Gramin Dak Sevak (GDS) क्या होता है ?

Gramin Dak Sevak (GDS) कैसे बने ?

भारतीय पोस्ट ऑफिस ने अपनी सभी योजनाओं के विषय में देश के प्रत्येक नागरिक तक जानकारी पहुंचाने के लिए ग्रामीण डाक सेवकों की भर्ती करने की योजना बनायीं है, जिससे सभी लोग सरकार की योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सके, इस भर्ती के अंतर्गत अभ्यर्थी का चयन ग्रामीण परिवेश में किया जाता है, जिससे अधिक से अधिक ग्रामीणों को इसका लाभ मिल सके, ग्रामीण डाक सेवक पोस्ट ऑफिस की सारी योजनाओं को गावं तक पहुंचाने का एक बहुत ही अच्छा माध्यम है, इस पेज पर आपको ग्रामीण डाक सेवक क्या होता है, उसकी योग्यता, वेतन और कार्य के विषय में विस्तार से जानकारी प्रदान कर रहे है |

ये भी पढ़े: 10th के बाद कैरियर कैसे बनाये

ग्रामीण डाक सेवक क्या होता है ?

भारतीय पोस्ट ऑफिस इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंर्तगत एक विभाग है, इसलिए सरकार इस विभाग के माध्यम से अपनी योजनाओं को विस्तार देना चाहती है, अधिकांश देखा गया है, कि ग्रामीण परिवेश में योजनाओं की जानकारी समय पर नहीं हो पाती है, जिससे बहुत से लोग योजनाओं का लाभ लेने से वंचित रह जाते है, इसलिए सरकार ने ग्रामीण डाक सेवक पद पर भर्ती करने का निर्णय लिया है, इन पदों पर भर्ती राज्य के अनुसार होती है, इनका मुख्य कार्य पोस्ट ऑफिस की सभी योजनाओं के विषय में सभी ग्रामीणों को परिचित करवाना है, जिससे वह इसका लाभ प्राप्त कर सके |

ग्रामीण डाक सेवक बननें के लिए क्या करे ?

ग्रामीण डाक सेवक बनने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर अधिसूचना जारी की जाती है, इस अधिसूचना के अंतर्गत सभी भारतीय नागरिकों से आवेदन पत्र मांगे जाते है, इसके लिए सरकार द्वारा शैक्षिक योग्यता हाईस्कूल रखी गयी है, इसमें भर्ती मेरिट के आधार पर की जाएगी, इसलिए जिनके अंक हाईस्कूल में अच्छे है, उनको यह जॉब आसानी से प्राप्त हो जाएगी, आवेदन करने के उपरांत मेरिट लिस्ट जारी की जाती है, मेरिट में आने के पश्चात आपको डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाता है, डॉक्युमेंट सही पाए जाने पर आपको नियुक्ति पत्र जारी कर दिया जायेगा |

योग्यता

अभ्यर्थी को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से हाई स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है |

आयु

अभ्यर्थी की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए, आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है |

ये भी पढ़े: ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने

व्यक्तिगत योग्यता

अभ्यर्थी को व्यवहार कुशल होना चाहिए, जिससे वह अपने क्षेत्र के लोगो को इसकी जानकारी दे सके, ग्रामीण परिवेश में रहने की जानकारी होना चाहिए, जिससे वह ग्रामीणों की समस्याओं के अनुसार उनको योजनाओं की जानकारी सही से दे पाएंगे |

कार्य

पोस्ट ऑफिस की सभी योजनाओं के विषय में सभी को जानकारी प्रदान करना और उनकी सहायता करना जैसे फॉर्म भरना उसको सही से सबमिट करवाना इत्यादि |

वेतन

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ग्रामीण डाक सेवकों के मूल वेतन को बढ़ाकर 14,500 रुपये तक करने की स्वीकृति प्रदान की है, इस तरह से अब सभी डाक सेवक का मूल वेतन 10000 रु० से 14500 रु० तक हो गया है |

यहाँ पर हमनें आपको ग्रामीण डाक सेवक के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे