इंजीनियर किसे कहते है

इंजीनियर से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी

दुनिया में सभी अभ्यर्थी पढ़ाई करते समय अपना कुछ बनने का एक लक्ष्य निर्धारित करते हैं, जिनमे से कुछ अभ्यर्थी डॉक्टर बनने का सपना देखते हैं, तो कुछ बैंक मैनेजर और जिनमे से बहुत अभ्यर्थी ऐसे भी होते हैं, जिनका सपना इंजीनियर बनने का होता है | इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थियों को बारहवीं में सफलता प्राप्त कर लेने के बाद से ही इंजीनियर बनने की तैयारी शुरू कर देनी होती हैं, क्योंकि इंजीनियर का कोर्स करने में 3 या 4 साल का समय लगता है और साथ ही इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थियों को बहुत अधिक मेहनत भी करनी होती है, जिसके बाद ही अभ्यर्थी अपने इस लक्ष्य तक पहुंचने में सफल हो सकते है | यह एक बहुत ही बड़ा पद होता हैं जिसमें अभ्यर्थियों को बहुत अधिक जानकारी के साथ-साथ सैलरी भी अच्छी प्रदान की जाती है | यदि आप इंजीनियर बनने के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको इंजीनियर किसे कहते है, Engineer कैसे बने, योग्यता,  कोर्स की जानकारी प्रदान की जा रही है |

इंजीनियर किसे कहते है

न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (NSG) क्या है?

ADVERTISING

इंजीनियर क्या होता है

जो  व्यक्ति किसी वस्तु का आविष्कार करें उसका डिजाइन बनाएं या मशीन टेस्ट करें, अलग-अलग प्रयोग करके  किसी नई वस्तु का आविष्कार करके सफलता प्राप्त कर  लें, तो उस व्यक्ति को ही इंजीनियर कहा जाता  हैं | जो  अभ्यर्थी  इंजीनियर बनने का सपना देखता  हैं उसे इंजीनियर की पढ़ाई करनी होती है | जिसके लिए अभ्यर्थियों को कम से कम 3 साल का डिप्लोमा या डिग्री  प्राप्त करना जरूरी होता है क्योंकि इन डिग्रियों के बिना अभ्यर्थी एक इंजीनियर नहीं बन सकता है | किसी  नई चीज का निर्माण करने वाले व्यक्ति को हम इंजीनियर कहते है |

इंजीनियरिंग कितने प्रकार के होते हैं

इंजीनियरिंग के कई पार्ट होते हैं जिनमें अभ्यर्थी अलग – अलग डिपार्ट के इंजीनियर बनते है, क्योंकि कुछ अभ्यर्थी  कंप्यूटर में रुचि रखते है, तो वह कंप्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग करके अपना भविष्य कंप्यूटर के क्षेत्र में बनाने के लिए पढ़ाई करते है | इसके साथ ही इंजीनियर के अंतर्गत और भी कई पार्ट होते हैं, जिनके लिए पढ़ाई करके अभ्यर्थी के इंजीनियर बन सकता है | जो  इस प्रकार से है- 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने

Types Of Mechanical इंजीनियरिंग Degrees

  • Biomedical इंजीनियरिंग डिग्री
  • Biomechanical इंजीनियरिंग डिग्री
  • Automotive इंजीनियरिंग डिग्री
  • Mechanical इंजीनियरिंग डिग्री
  • Aerospace इंजीनियरिंग डिग्री

Types Of Civil इंजीनियरिंग Degrees

  • Civil इंजीनियरिंग डिग्री
  • Structural इंजीनियरिंग डिग्री
  • Architectural इंजीनियरिंग डिग्री

Types Of Electrical इंजीनियरिंग Degrees

  • Robotics इंजीनियरिंग डिग्री
  • Microelectronic इंजीनियरिंग डिग्री
  • Mechatronics इंजीनियरिंग डिग्री
  • Electrical इंजीनियरिंग डिग्री
  • Electronics इंजीनियरिंग डिग्री
  • Computer इंजीनियरिंग डिग्री

Types Of Chemical इंजीनियरिंग Degrees

  • Materials Science इंजीनियरिंग डिग्री
  • Sustainability Design डिग्री
  • Environmental इंजीनियरिंग डिग्री
  • Chemical इंजीनियरिंग डिग्री
  • Agricultural इंजीनियरिंग डिग्री
  • Paper इंजीनियरिंग डिग्री

Types Of इंजीनियरिंग Management Degrees

  • Systems इंजीनियरिंग डिग्री
  • Industrial इंजीनियरिंग डिग्री
  • Manufacturing इंजीनियरिंग डिग्री
  • MBA In इंजीनियरिंग डिग्री
  • इंजीनियरिंग Management डिग्री

Types Of Geotechnical इंजीनियरिंग Degrees

  • Geological इंजीनियरिंग डिग्री
  • इंजीनियरिंग Physics
  • Marine इंजीनियरिंग डिग्री
  • Mining इंजीनियरिंग डिग्री
  • Ceramics इंजीनियरिंग डिग्री
  • Photonics इंजीनियरिंग डिग्री
  • Geomatics इंजीनियरिंग डिग्री
  • Nuclear इंजीनियरिंग डिग्री
  • Nanotechnology इंजीनियरिंग
  • Metallurgical इंजीनियरिंग डिग्री
  • Petroleum इंजीनियरिंग डिग्री
  • Project Management डिग्री

भारत के प्रमुख शोध-संस्थान (India’s Major Research Institute)

Engineer कैसे बने 

इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थियों को बारहवीं के बाद पढ़ाई करनी होती है | इसके साथ ही अभ्यर्थी कुछ और टिप्सों को अपनाकर इंजीनियर बनने की तैयारी कर सकते है | जो इस प्रकार से है- 

1.अपनी रूचि के प्रति एक लक्ष्य तय करें 

एक इंजीनियर बनने वाले अभ्यर्थी को अपना सपना पूरा करने के लिए सबसे पहले वह इंजीनियर के उस  क्षेत्र का चुनाव कर लें, जिसमें उसकी रूचि हो, क्योंकि जब तक अभ्यर्थी उस काम के प्रति रूचि नहीं होगी तब तक अभ्यर्थी सफल इंजीनियर नहीं बन सकता है |  इसलिए अभ्यर्थी को अपनी रूचि के मुताबिक़, उस क्षेत्र का चुनाव करके उसकी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए उस क्षेत्र में  जाकर उसका डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त कर लेनी आवश्यक है |  

2.इंजीनियरिंग शाखा से डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त कर लें 

अभ्यर्थी दसवीं और बारहवीं कक्षा में सफलता प्राप्त कर लेने के बाद इंजीनियरिंग शाखा से डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त कर सकते है, लेकिन अभ्यर्थी को  बारहवीं  पास करने के बाद डिग्री करने के लिए  12 वीं कक्षा में मेडिकल और नॉन मेडिकल के विषय का चुनाव करना होता है, जिसके बाद अभ्यर्थी आगे इस क्षेत्र के लिए पढ़ाई कर सकते है | इसके अलावा अभ्यर्थी दसवीं कक्षा के बाद  आईटीआई करके या फिर पॉलिटेक्निक का डिप्लोमा (Diploma ) प्राप्त करके  बीटेक (B.Tech)  कर सकते है, जिसके बाद अभ्यर्थी को  इंजीनियरिंग की डिग्री  प्राप्त हो जाएगी |  

कम्प्यूटर एक्सपर्ट(Computer Expert) कैसे बने

3.अपने काम के लिए कंपनी का चुनाव करे 

यदि अभ्यर्थी को डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त हो जाती है, तो अभ्यर्थी  इंजीनियरिंग डिप्लोमा से संबंधित कंपनी  का चुनाव कर सकते है और उस कंपनी में जाकर इंटरव्यू देकर नौकरी प्राप्त कर सकते है और एक इंजीनियर बन सकते है |

इंजीनियर बनने के लिए योग्यता  

इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थी को 12वीं में सफलता प्राप्त करनी आवश्यक होती है, इसके साथ ही इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके 3 साल का डिप्लोमा या डिग्री करना आवश्यक होता है | इसके अलावा अभ्यर्थी B.E और B.TEC का कोर्स करके भी इंजीनियर बन सकते है |

इंजीनियर बनने के लिए कोर्स 

इंजनियरर बनने के लिए अभ्यर्थी कई कोर्स कर सकते है जैसे -डिप्लोमा  इंजीनियरिंग का कोर्स और बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग का कोर्स करके अभ्यर्थी इंजीनियर बन सकता है |

डिप्लोमा इंजीनियरिंग का कोर्स

डिप्लोमा इंजीनियरिंग का यह  कोर्स अभ्यर्थियों  को 3  साल तक करना होता है लेकिन इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थी के पास दसवीं कक्षा में  साइंस  और  मैथ्स  जैसे विषय होना आवश्यक है | इंजीनियर बनने के लिए प्रमुख कोर्स इस प्रकार है- 

  • Diploma in Automobile Engineering
  • Diploma in Computer Science & Engineering
  • Diploma in Electronics and Communication Engineering (DETCE)
  • Diploma in Mechanical Engineering (DME)
  • Diploma in Aeronautical Engineering
  • Diploma in Information Science
  • Diploma in Civil Engineering (DCE)
  • Diploma in Electrical Engineering (DEE)
  • Diploma in Metallurgical Engineering
  • Diploma in Electronic Instrumentation & Control Engineering

बैचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग 

इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थियों 12वीं में सफलता प्राप्त करना अनिवार्य है और आपने इंटर में साइंस के विषय से पढ़ाई की हो | इंजीनियर बनने के लिए प्रमुख कोर्स इस प्रकार है- 

  • Aerospace Engineering
  • Automobile Engineering
  • Biotechnology Engineering
  • Chemical Engineering
  • Civil Engineering
  • Computer Engineering
  • Electrical Engineering
  • Industrial Engineering
  • Information Technology Engineering
  • Mechanical Engineering
  • Metallurgical Engineering

यहाँ पर हमने आपको इंजीनियर बनने के विषय में जानकारी प्राप्त कराई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करते रहे |

वैज्ञानिक कैसे बनें ? 

ADVERTISING