डॉक्टर कैसे बने

डॉक्टर बनने के लिए क्या करे ?

मेडिकल का क्षेत्र बहुत ही विस्तृत है , इस क्षेत्र में भारत सहित विश्व के अनेक देशों के छात्र डॉक्टर के रूप में अपना करियर बनाना चाहते है, क्योकि इस प्रोफेशन में सम्मान के साथ-साथ मानव सेवा करनें का अवसर प्राप्त होता है, अधिकांश छात्र बचपन से ही डाक्टर बननें का सपना देखने लगते है और बड़े होकर सपना पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित करते है, परन्तु डाक्टर बननें के लिए कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है, और अनेक परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है, यदि आप एक डाक्टर बनना चाहते है, तो इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: नर्स कैसे बने, जाने विस्तार से 

डॉक्टर बननें हेतु योग्यता

डाक्टर बननें के लिए अभ्यर्थी को बारहवीं में बायोलाजी से उत्तीर्ण होना आवश्यक है, तथा प्रत्येक विषय में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए | अभ्यर्थी की आयु 17 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए |

डॉक्टर बननें हेतु परीक्षा 

मेडिकल क्षेत्र में डॉक्टर बननें के लिए छात्रों को दसवीं कक्षा से ही तैयारी करनी पड़ती है,  क्योंकि जब छात्र दसवीं उत्तीर्ण कर ग्यारहवीं में प्रवेश लेते है, तो साइंस स्ट्रीम में छात्रों के समक्ष  मेडिकल और नॉन मेडिकल दो विकल्प मिलते है, इनमें से उन्हें मेडिकल सेलेक्ट करना है, जिसके अंतर्गत आपके विषय फिजिक्स,केमिस्ट्री और बायोलॉजी होंगे, इस विषयों में छात्रों को अपना स्कोर 60 प्रतिशत से अधिक बनाना होगा, इसके साथ-साथ एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी भी करनी चाहिए |

ये भी पढ़े: कैंपस प्लेसमेंट की तैयारी कैसे करे

एंट्रेंस एग्जाम

बारहवीं कक्षा में आप आल इंडिया मेडिकल एग्जाम या फिर स्टेट लेवल के फॉर्म भर सकते है, परन्तु एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक प्राप्त करना आवश्यक होता है, क्योंकि इन्ही अंको के आधार पर आपको कॉलेज मिलेगा, एमबीबीएस में एडमिशन के लिए अखिल भारतीय स्तर और राज्य स्तर पर कई परीक्षाएं ली जाती हैं, मेडिकल क्षेत्र में जानें  के लिए आपको सीबीएससी बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट-यूजी) की परीक्षा उत्तीर्ण करके किसी मान्यता प्राप्त संस्था से एमबीबीएस की पढ़ाई करनी होती है ।

आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज अर्थात एम्स जैसे बड़े संस्थान सीधे प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं, अखिल भारतीय स्तर पर सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन अर्थात सीबीएसई द्वारा प्रत्येक वर्ष आयोजित की जानी वाली आल इंडिया प्री-मेडिकल, प्री-डेंटल टेस्ट सबसे प्रमुख परीक्षा है, इसके अतिरिक्त कुछ अन्य मेडिकल एंट्रेंस आयोजित करने वाले प्रमुख संस्थानों के नाम इस प्रकार हैं –

  • आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज
  • उत्तर प्रदेश कम्बाइंड प्री-मेडिकल टेस्ट (सीपीएमटी)
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी-दिल्ली
  • वर्धा मेडिकल कॉलेज-वर्धा, आम्र्ड फोर्स-पुणे

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

एमबीबीएस कोर्स एवं इंटर्नशिप

सामान्यत: एमबीबीएस का कोर्स की अवधि साढ़े चार वर्ष होती है, इसके सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद अनिवार्य रूप से किसी मेडिकल कॉलेज में एक वर्ष की इंटर्नशिप करनी होती है, इस तरह एमबीबीएस का कोर्स कुल साढ़े पांच वर्षो में पूरा होता है। कोर्स सफलतापूर्वक पूरा करनें के पश्चात एमसीआई अर्थात मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा प्रमाणित डॉक्टर के रूप में एमबीबीएस की डिग्री प्रदान की जाती है, इसके बाद अपनी इच्छानुसार प्रैक्टिस आरंभ कर सकते है, अथवा अपनी रुचि और योग्यता के अनुसार, एमडी, एमएस के रूप में पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स तथा उसके बाद रिसर्च कर सकते हैं |

ये भी पढ़े: रीक्षा के लिए Preparation नोट्स कैसे बनाए

प्रवेश परीक्षा की तैयारी हेतु आवश्यक जानकारी

मेडिकल की प्रवेश परीक्षा दसवीं और बारहवीं के पाठ्यक्रम पर आधरित होती  हैं, इसलिए छात्रों को अपने पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से कवर करना आवश्यक है, बारहवीं के तीनों विषयों के फंडामेंटल्स को पूर्ण रूप से तैयार करें और उनके एप्लीकेशंस पर फोकस करें, तथा इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा समाप्त होते ही मेडिकल परीक्षा से सम्बंधित पूर्व में पूछें गये प्रश्नों को  गंभीरता से हल करना प्रारम्भ करें और उनके प्रारूप को समझने का प्रयास करें, इसके अतरिक्त , सैंपल पेपर को भी निर्धारित समय में हल करने का निरंतर प्रयास करते रहें, उसके आधार पर अपना मूल्यांकन करें और अपनी कमजोरियों को पहचान कर उन्हें दूर करनें का   प्रयास करें, तथा आवश्यकतानुसार किसी अच्छे कोचिंग संस्थान से मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते है ।

ये भी पढ़े: Reasoning को कैसे बनाये आसान

भारत के प्रमुख मेडिकल कॉलेज

  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लूर
  • जेआईपीएमईआर, पांडुचेरी
  • मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, दिल्ली
  • ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई
  • मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई
  • यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेस एंड जीटीबी हॉस्पिटल, दिल्ली
  • सेंट जॉन्स मेडिकल, कॉलेज बेंगलुरू

यहाँ आपको हमनें एमबीबीएस डाक्टर बननें के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: Current Affairs की तैयारी कैसे करे 

ये भी पढ़े: अपने अंदर के Talent को कैसे पहचाने

ये भी पढ़े: ये 5 बातें जो आपको सफल नहीं होनें देंगी