पोस्ट ऑफिस बचत योजना

पोस्ट ऑफिस (Post Office) बचत योजना के विषय में जानकारी

भारतीय पोस्ट ऑफिस भारत के नागरिकों को कई बचत योजनाओं में भाग लेने की सुविधा प्रदान करता है | इन योजनाओं के द्वारा भविष्य के लिए आर्थिक पक्ष को मजबूत करने का प्रयास किया जाता है | जिससे अधिक से अधिक लोग इसका लाभ ले सके | पोस्ट ऑफिस में जारी की गयी सभी स्कीम केंद्र सरकार के दिशा- निर्देश के द्वारा तय की जाती है, जिससे इसमें ब्याज अन्य की अपेक्षा अच्छा प्राप्त होता है | सरकार कुछ स्कीम में सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट भी प्रदान करती है | सरकार प्रत्येक तिमाही इनकी ब्याज तय करती है | इस पेज पर पोस्ट ऑफिस बचत योजनाओं के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना क्या है

ये भी पढ़ें: इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) क्या है ?

पोस्ट ऑफिस (Post Office) की महत्वपूर्ण स्कीम

स्कीम ब्याज दर न्यूनतम अधिकतम
सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (एससीएसएस) 8.70 1000 15 लाख
सुकन्या समृद्धि 8.50 250 1.50 लाख
पीपीएफ 8.00 500 1.50 लाख
नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (एनएससी) 8.00 100 कोई सीमा नहीं
टाइम डिपॉजिट 7.00 – 7.80 200 कोई सीमा नहीं
पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम 7.70 1500 4.5 लाख
किसान विकास पत्र 7.70 1000 कोई सीमा नहीं
रेकरिंग डिपॉजिट 7.30 10 कोई सीमा नहीं
सेविंग डिपॉजिट 4.00 20 कोई सीमा नहीं

 पोस्ट ऑफिस बचत योजनाएं (Saving Schemes)

पोस्ट ऑफिस बचत योजनाएं इस प्रकार है-

1.सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS)

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में वरिष्ठ नागरिक शामिल हो सकते है | वरिष्ठ नागरिक का तात्पर्य यह है कि जिनकी आयु 60 साल या इससे अधिक हो गयी है वह सभी इस  सेविंग्स स्कीम में भाग ले सकते है | इस स्कीम के द्वारा नियमित ब्याज आय प्राप्त की जा सकती है | इस स्कीम पर ब्याज तिमाही आधार पर प्रदान किया जाता है | एससीएसएस में पांच साल की लॉक-इन का प्रावधान है | परन्तु एक वर्ष के बाद पेनाल्टी देने के बाद आप इसकी निकासी कर सकते है | इस स्कीम में अधिकतम 15 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है | इसमें खाता एकल या संयुक्त रूप से खोला जा सकता है | एक लाख से अधिक की राशि केवल चेक के द्वारा ही जमा किया  जा सकता है | सरकार सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट भी प्रदान करती है |

ये भी पढ़ें: सरकारी बांड (Government Bond) क्या है?

2.सुकन्या समृद्धि योजना

सुकन्या समृद्धि योजना का संचालन ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के अंतर्गत किया जा रहा है | इस स्कीम को एक्जेम्प्ट-एक्जेम्प्ट-एक्जेम्प्ट (ईईई) का टैक्स दर्जा प्रदान किया गया है | इसका अर्थ है कि निवेश की गयी राशि, ब्याज और मैच्योरिटी की राशि तीनों पर ही टैक्स की छूट प्रदान की जाएगी | बेटी 10 वर्षीय होने तक उसके माता- पिता इस स्कीम के अंतर्गत खाता खोल सकते है | सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ केवल परिवार की दो बेटियों को ही दिया जा सकता है | जब बेटी 21 वर्ष की होगी तब इसकी मैच्योरिटी की जा सकती है | एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम राशि न जमा कर पाने पर कुछ राशि पेनॉलिटी के रूप में देनी होती है |

ये भी पढ़ें: बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना क्या है

3.पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड निवेश करने का सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है, इस स्कीम को भी केंद्र सरकार ने ईईई का दर्जा प्रदान किया है | इस स्कीम का 15 वर्षीय लॉक-इन पीरियड है | इसमें सातवें वर्ष आंशिक रूप से निकासी की जा सकती है | तीसरे वर्ष लोन की सुविधा प्रदान की गयी है |

ये भी पढ़ें: म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) क्या होते है

4.नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (NSC)

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स में पांच वर्षीय वर्षीय लॉक-इन पीरियड है | इसमें निवेश एकल या नाबालिग की ओर से किया जा सकता है | इसमें सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट प्रदान किया जाता है |

5.पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट (POTD)

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट में एक, दो, तीन और पांच साल की अवधि के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट किया जा सकता है | 10 वर्ष से अधिक आयु के नाबालिग भी इस स्कीम में भाग ले सकते है | पांच वर्ष के बाद प्राप्त राशि पर सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट प्रदान किया जाता है |

ये भी पढ़ें: चेक बाउंस (Cheque Bounce) का क्या मतलब होता है?

6.पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट (RD)

पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट में प्रति माह/ तिमाही / छमाही या वार्षिक धन राशि जमा की जा सकती है | इसकी अवधि 5 वर्षीय होती है | यदि आप लगातार चार किश्ते देने में असफल रहते है तो आपका खाता बंद कर दिया जाता है | दो महीने के अंदर इसे दोबारा शुरू किया जा सकता है |

7.पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट

डाकघर में भी बैंक की तरह बचत खाता खोला जा सकता है | इसको केवल 20 रुपये से खोला जा सकता है | इसकी अधिकतम सीमा निर्धारित नहीं की गयी है | यदि आप चेक की सुविधा नहीं लेते है, तो आपको अपने खाते में न्यूनतम बैलेंस 50 रुपये रखना अनिवार्य है | अगर आप चेक की सुविधा लेना चाहते है, तो आपको न्यूनतम बैलेंस 500 रुपये रखना होगा |

ये भी पढ़ें: पीएफ का बैलेंस कैसे चेक करे

8.किसान विकास पत्र (KVP)

किसान विकास पत्र अपनी राशि को दोगुना करने का सबसे अच्छा विकल्प है | इसके अंतर्गत निर्धारित की गयी समय सीमा के बाद जमा की गयी राशि का दो गुना धन प्रदान किया जाता है |

ये भी पढ़े: किसान विकास पत्र (KVP) योजना क्या है

9.पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (POMIS)

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम के द्वारा आपको प्रतिमाह ब्याज की धन राशि प्रदान कर दी जाती है | इस स्कीम की अवधि 5 साल होती है | एक वर्ष के बाद कुछ पेनाल्टी देकर प्रीमैच्योर किया जा सकता है | ब्याज के लिए पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खुलवाना होता है, जिसमें ब्याज प्रति माह आवंटित कर दिया जाता है |

ये भी पढ़ें: मंथली एवरेज बैलेंस (Monthly Average Balance) क्या है

यहाँ पर हमनें पोस्ट ऑफिस बचत योजना के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: सेविंग अकाउंट डिपाजिट लिमिट क्या है, कितना पैसा रख सकते हैं

ये भी पढ़ें: सेविंग अकाउंट पर बैंक काटता है चार्ज – जानिए

ये भी पढ़ें: IFSC Code क्या है

ये भी पढ़ें: बीमा क्या होता है?