डाउन पेमेंट का मतलब क्या है

डाउन पेमेंट का मतलब  

आप जब कोई वस्तु खरीदते है और उसके लिए अपनी तरफ से उस वस्तु की कीमत का एक ही हिस्सा चुकाते हैं तो उसे डाउन पेमेंट कहते हैं | और उस वस्तु की बाकी कीमत के लिए बैंक आपको लोन के रूप में देता है | जो आपको बाद में किस्तवार महीनेवार, तिमाही, छमाही, या सालाना भरते है, और उस रकम को बाद में चुकाते रहते है | उस वस्तु पर दी गई नकद रकम को डाउन पैमेंट कहते है | यदि आपको डाउन पेमेंट के बारे में कोई जानकारी नहीं है तो जानिये डाउन पेमेंट का क्या मतलब है?  तो यहाँ पर दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: बैंक की शिकायत कैसे करें?

ये भी पढ़ें: सेविंग अकाउंट पर बैंक काटता है चार्ज

ये भी पढ़ें: इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) क्या है ?

Down Payment Meaning in Hindi

डाउन पेमेंट (Down Payment) को हिंदी में अग्रिम भुगतान कहते है या तत्काल भुगतान भी कहा जाता है |  यदि आप किसी चीज को खरीदते है और उसके लिए पूरा भुगतान न करके कुछ हिस्सा तत्काल भुगतान करते है, तो इसके लिए आपको  बैंक और गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (NBFC) आसानी से लोन दे देती हैं |

ये भी पढ़ें: शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है

ये भी पढ़ें: Money Laundering (मनी लॉन्ड्रिंग) क्या है?

डाउन पेमेंट का लोन की अवधि पर असर  

बैंक से लोन लेने के लिए हम आवेदन  करते है तो उसी के साथ हमारी मासिक क़िस्त भी अवधि के मुताबिक तय कर ली जाती है | यदि आप अधिक समय के लिए लोन लेने की शर्त रखते हैं तो इस लोन की रकम मासिक किस्त (EMI) के  हिसाब से कम  चुकानी पड़ती है | वहीं काफी लम्बे समय के लिए कराये गए  लोन की EMI और अधिक बढ़ जाती है | इसके अलावा  डाउन पेमेंट करने के बावजूद भी उसी EMI पर लोन लेने के लिए आपको और अधिक रकम प्राप्त हो जाएगी | इसलिए अब आप भी लोन करवाकर अधिक कीमत वाली वस्तु आसानी से खरीद सकते है |

ये भी पढ़ें: जीडीपी (GDP) क्या होता है?

ये भी पढ़ें: शेयर मार्केट में निवेश कैसे किया जाता है?

ब्याज दर पर डाउन पेमेंट का असर

ब्याज दर पर डाउन पेमेंट का असर लोन की रकम और अवधि के साथ ही  होता  है | वहीं, जो भी ग्राहक बहुत से बैंक और  NBFC कार की कुल कीमत का एक हिस्सा डाउन पेमेंट के रूप में भरने वाले ग्राहकों की  लोन की प्रोसेसिंग जल्द ही शुरू कर दी जाती हैं | इसके साथ ही ऑफर के रूप में ग्राहकों को कम ब्याज दर पर भी लोन उपलब्ध करा दिया जाता है |

ये भी पढ़ें: यूनिवर्सल बेसिक इनकम (Universal Basic Income) योजना

ये भी पढ़े: विश्व मे कितने देश है, इनकी राजधानी एवं मुद्रा

यहाँ पर हमनें ‘डाउन पेमेंट’ के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: सेंसेक्स और निफ्टी क्या होता है?

ये भी पढ़ें: मार्केट रिसर्च के क्षेत्र में बेहतर करियर की संभावनाए

ये भी पढ़ें: बिजनेस की शुरुआत कैसे करे

ये भी पढ़ें: कम समय में सही निर्णय कैसे ले