शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है

शेयर मार्केट से सम्बंधित जानकारी 

शेयर मार्केट वह व्यापार है, जिसमें बहुत सी कम्पनियों के शेयरों का क्रय और विक्रय किया जाता है | इस व्यापार में अधिक लाभ और अधिक हानि भी है, इसलिए इसे एक जोखिम का व्यापार कहते है | इस व्यापार में अनुभव रखने वाले व्यक्ति ब्रोकर बन जाते है, जो शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने वाले व्यक्तियों की इच्छा और अपनी सलाह के अनुसार शेयर खरीदते और बेचते है | शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है ? इसके विषय में आपको इस पेज पर बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: बिजनेस की शुरुआत कैसे करे

ये भी पढ़े: NFC क्या है एनएफसी कैसे काम करता है ?

शेयर मार्केट क्या है ?

शेयर मार्केट किसी भी कंपनी के शेयर बेचने का एक माध्यम है, जिसके माध्यम से ऑनलाइन किसी कंपनी में लाभ होने पर पैसा का निवेश किया जाता है तथा हानि होने पर कंपनी के शेयर बेच दिए जाते है, इस प्रकार से इस व्यापार में किसी व्यक्ति को अत्यधिक लाभ प्राप्त होता है और किसी व्यक्ति को अत्यधिक हानि होती है |

शेयर मार्केट कैसे काम करता है

शेयर मार्केट के मुख्य तीन भाग है, स्टॉक एक्सचेंज, ब्रोकर और निवेशक | ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज का एक सदस्य होता है, केवल ब्रोकर ही स्टॉक एक्सचेंज में शेयर को खरीद और बेच सकते है, निवेशक सीधे शेयर को खरीद और बेच नहीं सकते है, यदि निवेशक इस व्यापार में निवेश करना चाहता है, तो वह केवल ब्रोकर के माध्यम से ही कर सकता है |

ये भी पढ़े: SBI Online Account घर बैठे कैसे Open करे

डीमैट अकाउंट

शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है | देश के मुख्यतः सभी बड़े बैंक डीमैट अकाउंट को खोलते है, यह बैंक स्टॉक एक्सचेंज में ब्रोकर की भूमिका निभाती है | निवेशक इन बैंक या ब्रोकर कम्पनियों के पास जाकर अपने डीमैट अकाउंट की जानकारी देकर अपना खाता ब्रोकर के पास खुलवा सकता है | इस प्रकार से निवेशक के डीमैट एकाउन्ट से कम्पनी के द्वारा शेयर को बेचा और खरीदा जा सकता है | जिसका सीधा लाभ या हानि निवेशक को प्राप्त होता है |

ये भी पढ़े: *99# USSD Banking सर्विस का उपयोग कैसे करे

डीमैट अकाउंट से ट्रेडिंग अकाउंट को जोड़ना

निवेशक द्वारा ब्रोकर के माध्यम से खरीदे गए शेयर इलेक्ट्रॉनिक रूप निवेशक के डीमैट एकाउंट में पड़े रहते हैं, जब भी कोई कंपनी डिविडेंड की घोषणा करती है, तो डीमैट अकाउंट से जुड़े बैंक खाते में डिविडेंड की राशि पहुंच जाती है | यदि कंपनी बोनस शेयरों को शेयर होल्डरों को देना चाहती है, तो वह डीमैट एकाउंट के माध्यम से इसकी राशि भेज सकती है | जब निवेशक शेयर बेचता है तो उसी डीमैट अकाउंट से वह शेयर ट्रान्सफर हो जाता है |

ये भी पढ़े: IFSC Code क्या है

भारत के स्टॉक एक्स्चेंज

भारत में मुख्यतः BSE और NSE स्टॉक एक्सचेंज है | BSE का पूरा नाम मुंबई स्टॉक एक्सचेंज तथा NSE का पूरा नाम नेशनल स्टॉक एक्सचेंज हैं | भारत की अधिकतर कम्पनिया इन दोनों स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर्ड होती है, जिसके माध्यम से वह अपने शेयर को बेच व खरीद सकती है |

ये भी पढ़े: मंथली एवरेज बैलेंस (Monthly Average Balance) क्या है

यहाँ पर हमनें आपको शेयर मार्केट के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: क्या है Unified Payment Interface

ये भी पढ़े: क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

ये भी पढ़े: पेपल (Paypal) क्या है ? पेपल अकाउंट या खाता कैसे बनाये