क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

भारत सरकार नें देश में बेरोजगारी की समस्या को समाप्त करने के लिए स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया योजना का शुभारम्भ किया गया, जिसके अंतर्गत बेरोजगार लोगों को और छोटे- बड़े उद्यमियों को अपना स्वयं का व्यवसाय आरंभ करनें हेतु  ऋण प्रदान किया जाता है, अधिकतर लोग वित्तीय समस्याओं और मार्गदर्शन के अभाव के कारण अपना व्यवसाय शुरू नहीं कर पाते, इस समस्या का समाधान इस योजना के अंतर्गत किया गया है, क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: फूड टेक्नोलॉजी में कॅरियर कैसे बनाये

योजना का शुभारम्भ और उद्देश्य

इस योजना का शुभारम्भ  5 अप्रैल 2016 को किया गया, इस योजना का उद्देश्य छोटे या बड़े व्यापार की योजना बनाने वाले उद्यमियों की सहायता करना है, इसके अंतर्गत ऋण की सुविधा प्रदान की जाती है, और इसके साथ ही उस व्यवसाय से सम्बंधित मार्गदर्शन  भी प्रदान किया जाता है, मार्गदर्शन के अंतर्गत बिजनेस के लिए आसान पॉलिसी के बारे में विस्तृत रूप से समझाया जाता है, इस योजना के माध्यम से आपको स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग भी प्रदान की जाती है |

योजना के लाभ

यह योजना ऐसे लोगों के लिए बहुत ही लाभकारी है, जो अपना व्यवसाय स्वयं शुरू करना चाहते हैं, इस योजना के माध्यम से व्यापार शुरू करने की इच्छा रखने वाले लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है और उन लोगों को इसके साथ ही  टैक्स में छूट प्रदान की जाती है |

प्रोडक्ट 

स्टार्टअप में आपको उसी प्रोडक्ट को लांच करना चाहिए, जिसकी मार्केट में आवश्यकता हो, अन्यथा आपको काफी हानि का सामना करना पड़ सकता है, यदि बाजार में आपके प्रोडक्ट से मिलता- जुलता प्रोडक्ट पहले से ही मौजूद है, तो आपको उस प्रोडक्ट से अच्छी गुणवत्ता के प्रोडक्ट को बाजार में लाना चाहिए, जिसके माध्यम से आपकी पकड़ बाजार में अच्छी बनेगी और आप जल्दी ही सफलता को प्राप्त करेंगे |

ये भी पढ़े: बिजनेस की शुरुआत कैसे करे

टीम

स्टार्टअप शुरू करने से पहले आपको एक टीम की आवश्यकता होगी, जो आपको उद्देश्य प्राप्त करने में सहायता प्रदान करेगी, आपकी टीम में वही व्यक्ति होने चाहिए, जो कि अत्यंत परिश्रमी हो, आपको अपनी टीम में विभागों के तहत विभाजन करना होगा और प्रत्येक विभाग के लिए किसी एक व्यक्ति को जिम्मेदारी देनी होगी, पूरी टीम का संचालन आप स्वयं करे |

पूंजी

स्टार्टअप प्रारम्भ करने से पहले आपको यह निश्चय करना होगा, कि आपको इसमें कितनी पूंजी लगानी, आपके पास पर्याप्त मात्रा में इतना धन होना चाहिए कि आप पांच से छ: महीने तक आसानी से सभी कार्य सुचारु ढंग से संचालित कर सके, आप सबसे पहले धन की व्यवस्था कर ले, भारत सरकार आपके व्यापार को बढ़ाने के लिए आर्थिक मदद करती है, स्टैंडअप योजना के अंतर्गत सभी सार्वजनिक बैंको द्वारा  एससी/एसटी और महिला उद्यमियों को 10 लाख रुपए से लेकर 1 करोड़ रूपए तक का ऋण प्रदान  किया जाता है |

सम्बंधित लेख (Related Articles)

निरीक्षण की छूट

सरकार नें इस योजना के अंतर्गत स्पष्ट निर्देश दिया हुआ है, कोई भी सरकारी अधिकारी तीन वर्ष तक किसी भी प्रकार का निरीक्षण नहीं कर सकता है, तीन वर्ष तक आपको कैपिटल गेन टैक्स के रूप में छूट प्रदान की जाएगी |

यहाँ पर हमनें आपको क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया के विषय में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: पशुपालन लोन कैसे ले