किस राज्य में कितनी विधानसभा सीटें है

किस राज्य में कितनी विधानसभा सीटें है

भारत एक राज्यों का संघ है, संविधान के अनुसार राज्य दो प्रकार से है, एक केंद्र शासित प्रदेश और दूसरा पूर्ण दर्जा प्राप्त राज्य | भारत में 29 राज्य और 7 केंद्र शासित प्रदेश है | केंद्र शासित प्रदेशों में दिल्ली और पुदुचेरी में विधान सभा का गठन किया गया है | दिल्ली भारत की राजधानी है और पुदुचेरी बंगाल की खाड़ी के पूर्व में स्थित एक केंद्र शासित प्रदेश है | भारत की स्वतंत्रता से पूर्व यह फ्रांस के साथ होने वाले व्यापार का मुख्य केंद्र था | किस राज्य में कितनी विधानसभा सीटें है, इसके बारें में आपको इस पेज पर जानकारी दे रहे है |

ये भी पढ़े: भारतीय संविधान की प्रस्तावना (उद्देशिका) क्या है

ये भी पढ़े: लोक सभा एवं राज्य सभा में क्या अंतर होता है

विधान सभा

भारत के संविधान के अनुसार विधान सभा के सदस्य संख्या न्यूनतम 60 से 500 के मध्य निर्धारित की गयी है | इसके सदस्यों को सीधे मतदान के माध्यम से जनता द्वारा निर्वाचित किया जाता है | इसके सदस्यों को MLA (Member of the Legislative Assembly) कहा जाता है | विधानसभा के सदस्यों का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है | इसके संचालनकर्ता को “स्पीकर” कहा जाता है | वर्तमान समय में सभी 29 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली तथा पुदुचेरी में विधानसभा कार्यरत है |

ये भी पढ़े: राज्य सभा के सांसद कैसे बने

विधान सभा का गठन, अधिकार और कार्य

भारतीय संविधान के अनुसार प्रत्येक राज्य में एक विधानमंडल (Legislature) का प्रावधान किया गया है, विधानसभा के अधिकार और कार्य संविधान की सातवीं अनुसूची 2 तथा अनुसूची 3 के अनुसार निर्धारित किये गए है, इसके अंतर्गत राज्‍य सरकार द्वारा किए जाने वाले सभी व्‍ययों, कर निर्धारण और उधार लेने के अधिकारों को सम्मिलित किया गया है | विधान सभा को धन विधेयक लाने का पूर्ण अधिकार प्रदान किया गया है | धन विधेयक के रूप में विधान परिषद् केवल अपने सुझाव ही दे सकती है, जिसे विधानसभा  द्वारा मानना बाध्यकारी नहीं है | यदि विधान परिषद 14 दिन तक विधेयक पर कोई सुझाव नहीं देती है, तो विधेयक पारित मान लिया जाता है |

ये भी पढ़े: भारतीय संविधान की 11 वीं अनुसूची में शामिल विषयो की सूची

विधान सभा के विधेयकों को स्वीकृति

विधान सभा के विधेयकों को राज्यपाल द्वारा स्वीकृति प्रदान की जाती है, राज्य पाल के हस्ताक्षर के बिना विधान सभा का कोई भी विधेयक प्रभावशाली नहीं हो सकता है | जिस प्रकार से केंद्र सरकार में राष्ट्रपति की स्थिति होती है, उसी प्रकार से राज्य में राज्यपाल की स्थिति होती है |

राज्य एवं उनकी विधानसभा सीटें

राज्य एवं उनकी विधानसभा सीटें इस प्रकार है –

ये भी पढ़े: भारत के अब तक के प्रधानमंत्री की सूची

क्र. सं. राज्य/केन्द्रशासित प्रदेश सीटे
1. उत्तर प्रदेश 403
2. पश्चिम बंगाल 294
3. महाराष्ट्र 288
4. बिहार 243
5. तमिलनाडु 234
6. मध्य प्रदेश 230
7. कर्नाटक 224
8. राजस्थान 200
9. गुजरात 182
10. आंध्र प्रदेश 175
11. ओडिशा 147
12. केरल 140
13. असम 126
14. तेलंगाना 119
15. पंजाब 117
16. छत्तीसगढ़ 90
17. हरियाणा 90
18. झारखण्ड 81
19. जम्मू एवं कश्मीर 76
20. उत्तराखण्ड 70
21. दिल्ली 70
22. हिमाचल प्रदेश 68
23. अरुणाचल प्रदेश 60
24. मणिपुर 60
25. मेघालय 60
26. नागालैंड 60
27. त्रिपुरा 60
28. गोवा 40
29. मिजोरम 40
30. सिक्किम 32
31. पुदुचेरी 30

ये भी पढ़े: भारत के अब तक के राष्ट्रपति की सूची

यहाँ पर हमनें आपको विधान सभा की सीटों के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: लोकसभा में कितनी सीटें हैं ?

ये भी पढ़े: भारत के महान्यायवादी (अटॉर्नी जनरल) की सूची

ये भी पढ़े: शासन (Governance) और प्रशासन (Administration) में क्या अंतर है?