सेंसेक्स और निफ्टी क्या होता है?

सेंसेक्स और निफ्टी से सम्बंधित जानकारी (Information About Sensex & Nifty)

समाचार पत्र पढ़ने वाले व्यक्ति या टेलीविजन में समाचार सुनने वाले लगभग सभी व्यक्ति शेयर मार्केट के लिए सेंसेक्स और निफ्टी शब्द को अवश्य सुना होगा, लेकिन यह किस प्रकार कार्य करते और क्या है इसके बारे में लोगों को जानकारी कम होगी | भारत में घरेलू शेयर बाजारों पर होने वाला व्यापार इसी आधार पर किया जाता है| इसे हम एक प्रकार का डिजिटल बाजार कह सकते है जिसमे शेयरों को खरीदा और बेचा जाता है| इस पेज पर सेंसेक्स (Sensex) और निफ्टी (Nifty) क्या है तथा इसमें अंतर के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है

सेंसेक्स (Sensex)

सेंसेक्स (Sensex) को हिंदी भाषा में संवेदी सूचकांक कहा जाता है अंग्रेजी भाषा में इसे Sensitive Index कहा जाता है | यह मुम्बई स्टाक एक्सचेंज का एक इंडेक्स बेंच मार्क है| इसी के द्वारा शेयर के भाव में तेजी और मंदी को बताया जाता है | मुम्बई स्टाक एक्सचेंज को बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex)  भी कहा जाता है | बीएसई में तीस सबसे सर्वोच्च शेयरों की जानकारी सेंसेक्स के द्वारा प्राप्त की जाती है |

भारत में सेंसेक्स की शुरुआत 1 जनवरी 1986 को की गयी थी| सेंसेक्स में केवल  तीस कंपनियों को ही शामिल किया जाता है| यह सभी कंपनियां समय के अनुसार बदलती रहती है| सेंसेक्स में तीस कंपनियों को चुनने के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है| तीस कंपनियों के कारण ही इसे BSE 30 के नाम से भी जाना जाता है|

ये भी पढ़ें: डिजिटल टैक्स (Digital Tax) क्या है

निफ्टी (Nifty)

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया दिल्ली में स्थित है|  इसकी शुरुआत नवंबर 1994 को की गयी थी| यहां पर देश के 12 अलग- अलग सेक्टर से पचास कंपनियों को चुना जाता है|

भारत में शेयर मार्केट पर नियंत्रण National Stock Exchange of India के द्वारा किया जाता है| यहां के सूचकांक को दर्शाने के लिए ही निफ्टी शब्द का प्रयोग किया जाता है| निफ्टी दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है| यह शब्द नेशनल और फिफ्टी है| नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सर्वोच्च 50 शेयरों को दर्शाने के लिए निफ्टी शब्द का प्रयोग किया जाता है| यह एक बेंचमार्क है, जिससे शेयरों के उतार- चढ़ाव के विषय में जानकारी प्राप्त की जाती है|

ये भी पढ़ें: वायदा कमोडिटी बाजार कारोबार में कैसे पाए सफलता

सेंसेक्स और निफ्टी में अंतर (Difference Between Sensex & Nifty)

सेंसेक्स (Sensex) और निफ्टी (Nifty) दोनों ही शेयर मार्केट से सम्बंधित है लेकिन फिर इनमें कुछ अंतर देखने को मिलता है यह इस प्रकार है-

1.नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक निफ्टी है और मुम्बई स्टाक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स है

2.नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में शीर्ष 50 कंपनियों के विषय में जानकारी प्रदान की जाती है जबकि मुम्बई स्टाक एक्सचेंज में केवल 30 शीर्ष कंपनियों के विषय में जानकारी प्रदान की जाती है

3.30 शीर्ष कंपनियों की तुलना में शीर्ष 50 कंपनियों के द्वारा शेयर मार्केट का वास्तविक आंकलन अधिक किया जा सकता है

4.दोनों ही सूचकांक की गणना आधार वर्ष के द्वारा की जाती है, सेंसेक्स में आधार वर्ष 1979 को लिया जाता है| आधार वर्ष 1979 के लिए 100 के रूप में लिया जाता है| निफ्टी के लिए आधार वर्ष 1995 के लिए 1000 के रूप में लिया जाता है| इन्हीं आधार वर्ष पर ही शेयर का आंकलन किया जाता है

ये भी पढ़ें: डीमैट अकाउंट क्या होता है

ये भी पढ़ें: वायदा कमोडिटी बाजार क्या है

यहाँ पर हमनें आपको सेंसेक्स (Sensex) और निफ्टी (Nifty) के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: बिजनेस की शुरुआत कैसे करे

ये भी पढ़े: NFC क्या है एनएफसी कैसे काम करता है ?

ये भी पढ़े: क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

ये भी पढ़े: SBI Online Account घर बैठे कैसे Open करे