स्पेस साइंटिस्ट (Space Scientist) कैसे बने ?

स्पेस साइंटिस्ट बनने से सम्बंधित जानकारी (Information About Becoming A Space Scientist) 

स्पेस साइंटिस्ट एक चुनौती भरा करियर है| इस क्षेत्र में रोजगार के बहुत से अवसर उपलब्ध रहते है, जिसे देखते हुए आज के युवा वर्ग स्पेस साइंटिस्ट बनने की राह पर आगे बढ़ रहें है| वैज्ञानिक बनने के लिए छात्र की शुरू से रूचि विज्ञान विषय में होनी चाहिए | अधिक रूचि बढ़ने पर ही उसके मन में नए- नए प्रश्न उठेंगे, जिसका उत्तर ढूढ़ने के लिए ही वह प्रयास करेगा | इन प्रयासों में वह कई बार असफल भी होगा और कई बार वह सफल भी होगा| इस प्रकार से उसके अनुभव में वृद्धि होगी जो, कि इस क्षेत्र के लिए अत्यंत आवश्यक है | इस पेज पर नासा व इसरो में स्पेस साइंटिस्ट बनने के लिए योग्यता , वेतन, चयन प्रक्रिया के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़े: वैज्ञानिक कैसे बनें ? वैज्ञानिक बननें के उपाय

स्पेस साइंटिस्ट कैसे बने (Space Scientist Kaise Bane)

स्पेस साइंटिस्ट बनने के लिए आपको स्पेस साइंस का अध्ययन करना होगा| इसमें ब्रह्मांड के विषय में जानकारी दी जाती है| आप बारहवीं के बाद इसमें प्रवेश ले सकते है | इंटरमीडियट करने के बाद आप बैचलर कोर्स में प्रवेश प्राप्त कर सकते है, लेकिन इसमें प्रवेश तभी मिलेगा जब आपने इंटरमीडियट फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथमेटिक्स विषयों के साथ उत्तीर्ण किया हो | प्रवेश देने के लिए सरकार द्वारा ऑल इंडिया लेवल पर एक प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है |

space scientist

यदि आप इस परीक्षा में सफल हो जाते और इसमें अच्छे अंक प्राप्त करते है, तो आपका बैचलर कोर्स के लिए चयन कर लिया जाता है| बैचलर कोर्स के बाद आप मास्टर प्रोग्राम में प्रवेश ले सकते है| मास्टर प्रोग्राम में बीटेक व बीएससी के बाद प्रवेश दिया जाता है| इसके बाद आप पीएचडी कर सकते है| पीएचडी के बाद आपका सीधे चयन स्पेस साइंटिस्ट के रूप में किया जाता है| अधिक अनुभव और योग्यता होने के बाद आपका चयन नासा, इसरो जैसी बड़ी संस्थाओं में चयन हो सकता है|

ये भी पढ़े: किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (KVPY) क्या है?

योग्यता (Elegibility)

  • स्पेस साइंटिस्ट के लिए आपको इंटरमीडियट फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथमेटिक्स विषयों के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है |
  • ऑल इंडिया लेवल पर प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: जानें देश के टॉप 10 वैज्ञानिको के बारें में

वेतन (Salary)

शुरुआत में एक स्पेस साइंटिस्ट को 25-30 हजार रुपए प्रतिमाह आसानी से मिल जाते है, इसके बाद दो-तीन साल के अनुभव के बाद वह 40-45 हजार रुपए प्रतिमाह तक पहुंच जाते है | रिसर्च के क्षेत्र में आपको लाखों का पैकेज दिया जाता है |

ये भी पढ़े: 12th के‌ बाद किसी भी क्षेत्र में करियर कैसे बनाए

नासा और इसरो में चयन प्रक्रिया (Selection Process In NASA & ISRO)

नासा और इसरो में प्रत्येक वर्ष स्पेस साइंटिस्ट पदों के लिए विज्ञापन जारी किया जाता है| इस विज्ञापन के अनुसार अभ्यर्थियों को आवेदन करना होता है | आवेदन करने के लिए बीटेक/बीएससी में 65 फीसदी अंक होना अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस की खासियत

 आयु सीमा (Age)

    • स्पेस साइंटिस्ट के लिए सामान्य वर्ग के लिए आयु सीमा 35 वर्ष है एससी/एसटी उम्मीदवारों को पांच साल की छूट दी जाती है |

 

  • आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाता है, इसके बाद सही पाए गए आवेदनों के लिए लिखित परीक्षा आयोजन किया जाता है जो अभ्यर्थी लिखित परीक्षा में सफल घोषित किये जाते है उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, इसके बाद फ़ाइनल मेरिट बनायीं जाती है, जिसके आधार पर चयन किया जाता है |

ये भी पढ़े: सफलता के लिए जरुरी है Focus

यहाँ पर हमनें आपको स्पेस साइंटिस्ट के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: कृषि वैज्ञानिक (Agricultural Scientist) कैसे बने

ये भी पढ़े: अपने अंदर के Talent को कैसे पहचाने

ये भी पढ़े: भारत के प्रमुख शोध-संस्थान (India’s Major Research Institute)