NSG कमांडो कैसे बने?

एन एस जी कमांडो क्या होते है (NSG Commando Kya Hote Hai )

देश की सुरक्षा में नेशनल सिक्योरिटी गॉर्ड (एनएसजी) की मुख्य भूमिका है| भारत में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों की सुरक्षा के लिए एनएसजी कमांडो की तैनाती की जाती है| यह कमांडों अपनी जान की बाजी लगाकर उनकी रक्षा करते है| किसी आतंकवादी घटना होने पर उनका मुकाबला करने के लिए इन कमांडों को भेजा जाता है| उस समय देश की सारी निगाहें बस इन्हीं पर होती है| मिशन सफल होने पर हमारे मन में यह प्रश्न जरूर आता है, कि यह कमांडों कैसे बनते है, जो हर मुश्किल कि घड़ी का डट कर मुकाबला करते है, इस पेज पर एनएसजी कमांडों कैसे बनते है ? एनएसजी का फुल फॉर्म, योग्यता, ट्रेनिंग, वेतन के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: NCC सर्टिफिकेट से भारतीय सेना में एंट्री कैसे मिलेगी

एनएसजी का फुल फॉर्म (NSG Full Form)

एनएसजी का फुल फॉर्म नेशनल सिक्योरिटी गॉर्ड (National Security Guard) है|

एनएसजी कमांडो का गठन (Constitution of NSG Commandos)

देश में आतंकी गतिविधियों से मुकाबला करने के लिए 16 अक्टूबर 1984 को एनएसजी का गठन किया गया था| एनएसजी के कमांडोज के लिए यह नारा दिया गया – वन फॉर ऑल, ऑल फॉर वन |

ये भी पढ़े: भारतीय वायु सेना कैसे ज्वाइन करे ?

एनएसजी कमांडो कैसे बने (NSG Commando kaise bane)

एनएसजी (NSG) कमांडो में देश की सुरक्षा में लगे हुए सैनिकों को शामिल होने का मौका दिया जाता है | एनएसजी के लिए भारत की विभिन्न फोर्सेज से विशिष्ट जवानों को चुन कर उन्हें ट्रेनिंग दी जाती है, जो सैनिक इस ट्रेनिंग को पास करते है उन्हें ही एनएसजी  (NSG) कमांडो बनने का मौका मिलता है, यह ट्रेनिंग 90 दिन की होती है, इसमें आधे से अधिक सैनिक बीच रास्ते से ही ट्रेनिंग छोड़ देते केवल कुछ सैनिक ही पास हो पाते है, जिससे इस ट्रेनिंग के स्तर को समझा जा सकता है |

ये भी पढ़े: NCC क्या है

योग्यता (Eligibility)

कमांडोज के रूप में केवल सबसे अच्छे सैनिकों को चुना जाता है, एनएसजी  (NSG) को शारीरिक और मानसिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ होना अनिवार्य है, इनकी ट्रेनिंग को कई स्तरों में विभाजित किया जाता है, जो सैनिक इन सभी में सफल घोषित होता है, उन्हें ही एनएसजी कमांडो के रूप में अंतिम चयन किया जाता है |

ये भी पढ़े: आर्मी और पुलिस भर्ती में मेडिकल कैसे होता है ?

ट्रेनिंग (Training)

1.एनएसजी कमांडोज को कई स्तरों से गुजरना होता है|  90 दिन की ट्रेनिंग से पहले एक ट्रेनिंग का आयोजन किया जाता है, इसमें शुरुआत में 18 मिनट के अन्दर 26 मुश्किलों को पार करना होता है, इसके अतिरिक्त इसमें 780 मीटर की बाधाओं को पार करना होता है, जो जवान पच्चीस मिनट के अन्दर यह सब पार कर लेते है, उन्हें ही 90 दिन की ट्रेनिंग में सम्मिलित किया जाता है, ट्रेनिंग के दौरान यह सभी बाधाओं को 18 मिनट के अन्दर पार करना अनिवार्य है  

2.नब्बे दिनों की अनिवार्य ट्रेनिंग के दौरान पचास से बासठ हजार जिंदा कारतूसों का अपनी फायर प्रैक्टिस में प्रयोग करना होता है 

3.कमांडोज को पच्चीस सेकेंड के भीतर चौदह अलग-अलग टारगेट हिट करने होते हैं और ये चौदह टारगेट सारे के सारे अलग-अलग तरीके के हो सकते हैं

4.कमांडोज की मानसिक ट्रेनिंग भी बेहद कठिन होती है, इसमें देश के प्रति सबकुछ समर्पित के लिए प्रेरित किया जाता है, इसके बाद इसकी जाँच की जाती है, सफल पाए जाने पर ही कमांडोज के रूप में चयनित किया जाता है 

ये भी पढ़े: इंडियन आर्मी में पद और रैंक  

एनएसजी (NSG) कमांडो का वेतन

एनएसजी (NSG) कमांडो के रूप में जवान को लगभग 84,236 रुपये से 244,632 रुपये तक प्रदान किये जाते है|

यहाँ पर हमनें आपको एनएसजी (NSG) कमांडो में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है|

ये भी पढ़े: फारेस्ट गार्ड (Forest Guard) कैसे बने, तैयारी कैसे करे

ये भी पढ़े: स्टार देखकर कैसे पहचाने क्या है आर्मी ऑफिसर के रैंक

ये भी पढ़े: फिजिकल (Physical) और मेडिकल टेस्ट (Medical Test) क्या होता है