नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) क्या है इसका कार्य और पॉवर

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) क्या है 

मानव संसाधन मंत्रालय नें एंट्रेंस एग्जाम के आयोजन हेतु नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) का गठन किया है, जिसकी स्वीकृति नवम्बर 2017 में केंद्रीय कैबिनेट द्वारा दी गयी थी | इस एजेंसी के गठन का उद्देश्य  शिक्षा व्यवस्था में बड़े स्तर पर सुधार करना है, सीबीएसई द्वारा आयोजित होने वाली सभी एंट्रेंस परीक्षाओं को अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के माध्यम से कराया जायेगा | इस पेज पर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के विषय में विस्तार से जानकारी प्रदान की जा रही है |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की आवश्यकता  

भारत सरकार नें शिक्षा के क्षेत्र में देश में हो रही घटनाओं जैसे- पेपर लीक, परीक्षाओं का देरी से आयोजन और परिणाम में लगने वाले समय और पेपर में होने वाली समस्याओं के समाधान हेतु नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) का गठन किया है, जो सभी प्रकार के एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन करेगी और समय पर परिणाम प्रदान करेगी , इस तरह से छात्रों को सुविधा प्रदान करने के लिए इसका गठन किया गया है | सीबीएसई अभी तक जिन परीक्षाओं का आयोजन करती थी, उन सभी परीक्षाओं का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा किया जायेगा,  इस प्रकार से परीक्षाओं में गुणवत्ता बढ़ेगी और सीबीएसई का कार्यभार कम होगा |

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी का कार्य

इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेने हेतु जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (JEE Mains), मेडिकल कोर्स में प्रवेश लेने हेतु नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET), मैनेजमेंट कोर्स में प्रवेश लेने हेतु मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (CMAT), फॉर्मेसी कोर्स में प्रवेश लेने हेतु ग्रेजुएट फॉर्मेसी एप्टीट्यूड टेस्ट (GPAT), नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (NET) इत्यादि का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के द्वारा किया जायेगा |

परीक्षाओं का आयोजन कब होगा ?

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यूजीसी नेट की परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार जुलाई और दिसंबर माह में आयोजित करेगी | ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (JEE Mains) की परीक्षा वर्ष में दो बार जनवरी और अप्रैल के माह में आयोजित की जाएगी |  छात्र दोनों परीक्षाओं में सम्मिलित हो सकते है, और जिस परीक्षा में आपको अच्छा स्कोर प्राप्त हो उसके अनुसार संस्था में प्रवेश प्राप्त कर सकते है |

मेडिकल कोर्स में प्रवेश प्राप्त करनें हेतु नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार किया गया था, परन्तु स्वास्थ्य मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में एक बार करने का निर्णय लिया गया है, इस परीक्षा का आयोजन प्रत्येक वर्ष मई माह में आयोजित की जाएगी, इसके अतिरिक्त मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (CMAT), फॉर्मेसी कोर्स में प्रवेश लेने हेतु ग्रेजुएट फॉर्मेसी एप्टीट्यूड टेस्ट (GPAT) का आयोजन प्रत्येक वर्ष जनवरी में किये जाने का निर्णय लिया गया है |

ये भी पढ़े: Current Affairs की तैयारी कैसे करे

परीक्षा पाठ्यक्रम और पैटर्न में संशोधन  

अभी तक परीक्षा पाठ्यक्रम, प्रश्न का फॉर्मेट, भाषा से सम्बंधित किसी भी प्रकार का संशोधन नहीं किया गया है, परन्तु कुछ परीक्षाओं के पैटर्न में परिवर्तन किया गया है, अभी तक यूजीसी नेट की परीक्षाए पेपर मोड से होती थी, जिसको परिवर्तित करके ऑनलाइन मोड कर दिया गया है, इसके अतिरिक्त सीमैट और जीपैट की परीक्षायें भी ऑनलाइन आयोजित की जाएगी, परन्तु मेडिकल के लिए आयोजित होने वाली नीट परीक्षा पेपर मोड पर होगी |

छात्रों पर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) का प्रभाव

नीट परीक्षा में लगभग 13 लाख छात्र प्रतिभाग लेते है , जेईई मेंस में लगभग 12 लाख, यूजीसी नेट में लगभग 12 लाख और सीमैट में लगभग 1 लाख और जीपैट में लगभग 40 हजार छात्र सम्मिलित होते है | इन सभी परीक्षाओं में सम्मिलित होने वाले छात्रों का भविष्य, सही तरह से परीक्षा का आयोजन, उसके परिणाम और किसी भी प्रकार की नक़ल न होने पर निर्भर करता है | भारत सरकार इन सभी समस्याओ का समाधान इस एजेंसी के माध्यम से करनें का दावा कर रही है |

ये भी पढ़े: परीक्षा के लिए Preparation नोट्स कैसे बनाए

 सीबीएसई के कार्यभार में कमी

इस एजेंसी के माध्यम से सीबीएसई के कार्यभार में कमी आएगी | अभी तक इन सभी परीक्षाओं को आयोजित करती थी या उसमे सहयोग करती थी | अब सीबीएसई के पास 10वीं और 12वीं की परीक्षा का आयोजन और पाठ्यक्रम का निर्माण और विद्यालयों को मान्यता प्रदान करने सम्बंधित कार्य  शेष बचते है, जिससे शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होने की सम्भावना व्यक्त की जा रही है |

यहाँ पर हमनें आपको नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करे, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: Reasoning को कैसे बनाये आसान