NCC क्या है, कैसे ज्वाइन करे

NCC  कैसे ज्वाइन करे

राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) एक सैन्य प्रशिक्षण हैं, जिसके अंतर्गत छात्रों को सेना में भर्ती होने के लिए प्रारंभिक प्रशिक्षण दिया जाता है, इस प्रशिक्षण के उपरांत छात्रों को भारतीय सेना भर्ती परीक्षा में छूट प्रदान की जाती हैं,  इस प्रशिक्षण के माध्यम से छात्रों में देश भक्ति की भावना का विकास किया जाता हैं | एनसीसी में छात्रों के अन्दर, कर्तव्य, प्रतिबद्धता, समर्पण, अनुशासन एवं नैतिक मूल्यों के विकास के लिए अवसर प्रदान किया जाता है, इसमें सामाजिक सेवा, अनुशासन एवं एडवेंचर प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाता है | एनसीसी क्या है, इसे कैसे ज्वाइन कर सकते है ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़ें: पुलिस इंस्पेक्टर कैसे बने ?

 

ये भी पढ़ें: पुलिस कांस्टेबल कैसे बनें

एनसीसी

एनसीसी एक संस्था हैं, जिसके माध्यम से कॉलेज और विश्वविद्यालय में पढ़ रहें छात्रों को ट्रेनिंग के माध्यम से अपनें जीवन को अनुशासन में रखना सिखाया जाता हैं और साथ ही एक जिम्मेदार नागरिक बनाया जाता हैं | यह एक सैन्य प्रशिक्षण होता हैं, जिसकें अंतर्गत छात्रों की ट्रेनिंग सुरक्षा बलों के जवानों की तर्ज पर होती है | इसके महत्वपूर्ण तथ्य इस प्रकार हैं-

  • राष्ट्रीय कैडेट कोर अधिनियम XXXI 1948 के अंतर्गत राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना हुई है । (अप्रैल, 1948 में पारित, 16 जुलाई 1948 में स्थापित)
  • एन सी सी का आदर्श वाक्य “एकता और अनुशासन” है
  • इसका चिन्ह “एन सी सी” अक्षरों से युक्त स्वर्णांकित एन सी सी क्रेस्ट है, जिस पर सात पृष्ठभूमि में लाल, नीला तथा हल्का नीला रंग है 
  • एन सी सी क्रेस्ट में लाल रंग थल सेना का प्रतीकात्मक है
  • एन सी सी क्रेस्ट में गहरा नीला एवं हल्का नीला रंग वायुसेना प्रतीकात्मक है
  • एन सी सी क्रेस्ट में कमल का फूल 17 राज्य निदेशालयों का प्रतीकात्मक हैं 
  • एन सी सी दिवस नवंबर के चौथे रविवार को मनाया जाता है
  • राष्ट्रीय स्तर पर एन सी सी रक्षा मंत्रालय के अधीन है
  • सभी राज्यों में एन सी सी शिक्षा मंत्रालय के अधीन है
  • एन सी सी के लिए वित्त/निधियों की व्यवस्था केन्द्र एवं राज्य सरकारों द्वारा किया जाता हैं

ये भी पढ़ें: सरकारी नौकरी मिलेगी जरूर अगर आपका करेंट अफेयर्स होगा मजबूत 

एनसीसी सर्टिफिकेट

एनसीसी में तीन प्रकार के प्रमाण पत्र ए, बी तथा सी  प्रदान किये जाते है |

एनसीसी का ए प्रमाण पत्र 15 वर्ष से कम उम्र के छात्रों के लिए है, ‘बी’ सर्टिफिकेट प्राप्त करनें की अधिकतम उम्र 17  वर्ष है, ‘बी’ सर्टिफिकेट प्राप्त करनें के दो वर्ष पश्चात छात्र ‘सी’ सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते है, ए’ सर्टिफिकेट से छात्र बड़ा पद नहीं प्राप्त कर सकते, अधिक से अधिक सीएसएम (कंपनी सार्जेंट मेजर) तक जा सकते हैं,  जबकि बी सर्टिफिकेट से जेयूओ और सी सर्टिफिकेट से सीएसयूओ (कंपनी सीनियर अंडर ऑफिसर) का पद प्राप्त कर सकते हैं,  एनसीसी से ‘सी’ सर्टिफिकेट प्राप्त छात्रों को सेना, अर्धसैनिक बलों के अतिरिक्त विभिन्न सरकारी नौकरियां प्राप्त करनें में सहायता प्राप्त होती हैं |

एनसीसी कोर्स का पाठ्यक्रम

कॉलेज और यूनिवर्सिटी में एनसीसी की कक्षाओं का संचालन अलग से किया जाता है, जो प्रत्येक दिन 40 मिनट की निर्धारित की गयी हैं, इस प्रशिक्षण के अंतर्गत छात्रों को ड्रिल पढ़ाया जाता है, इसमें उन्हें अनेंक प्रकार के शारीरिक अभ्यास से गुजरना होता है, इसके अतिरिक्त उन्हें फील्ड क्राफ्ट जैसे समाज सेवा, मैन मैनेंजमेंट, मैप रीडिंग, राइफल खोलना, जोड़ना व उसके कलपुर्जे के बारे में विस्तार से बताया जाता है, इस प्रकार के ड्रिल कराकर उनमें नेंतृत्व का गुण  उत्पन्न किया जाता है |

ये भी पढ़ें: इंडियन आर्मी में पद और रैंक 

कैसे ज्वाइन करे -एनसीसी

एन सी सी के ‘सी’ सर्टिफिकेट धारक अभ्यर्थी जो सैनिक (जीडी) में भर्ती होना चाहते है, उनको लिखित परीक्षा भाग-I देनें से छूट होती हैं तथा योग्यता क्रम सूची में उन्हें सबसे ऊपर रखा जाता हैं । लेकिन सैनिक (क्लर्क, एस के टी/टेक/एन ए) के लिए लिखित परीक्षा के भाग-I में छूट तो नहीं मिलेगी, लेकिन संपूर्ण योग्यता क्रम सूची में स्थान पानें के लिए उन्हें लिखित परीक्षा के कुल प्राप्तांक का 10% अतिरिक्त अंक (बोनस) दिये जाएंगे |

जहां तक एन सी सी के ‘ए’  और ‘बी’ सर्टिफिकेट वाले अभ्यर्थियों का संबंध है, उम्मीदवार की योग्यता क्रम सूची में समग्र सुधार के लिए प्राप्त होनें वाले बोनस अंक इस प्रकार है –

1.सैनिक सामान्य ड्यूटी श्रेणी (जीडी)- शारीरिक एवं लिखित परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों के आधार पर एन सी सी ‘बी’ सर्टिफिकेट वालों को 8% एवं ‘ए’ सर्टिफिकेट वालों को 5% बोनस अंक दिए जाएंगे |

2.सैनिक टेक/एन ए/एस के टी/क्लर्क- अभ्यर्थी द्वारा केवल लिखित परीक्षा में कुल प्राप्तांक पर आधारित प्रतिशत के अनुसार बोनस अंक होगा |

टिप्पणी: यह स्पष्ट किया जाता है कि यदि कोई अभ्यर्थी भूतपूर्व/सेवारत सैनिक का पुत्र है तथा एनसीसी सर्टिफिकेट धारक दोनो है, तो उसे केवल एक प्रकार के छूट का लाभ दिया जायेगा |

ये भी पढ़े: सब इंस्पेक्टर कैसे बने

नाविक

नाविक की सीधी भर्ती के लिए विभिन्न एन सी सी सर्टिफिकेट धारकों की विशेष अंक सुविधाएं प्रदान की जाती हैं |

सर्टिफिकेट  ‘ए’ – 2 अंक |

सर्टिफिकेट  ‘बी’ – 4 अंक |

सर्टिफिकेट  ‘सी’ – 6 अंक |

टिप्पणी – प्रत्येक श्रेणी के लिए अंको पर आधारित विशेष अंकों में अनुपातिक छूट इस प्रकार है-

वायुसैनिक

‘सी’ सर्टिफिकेट – 5 अंक |

‘बी’ सर्टिफिकेट – 4 अंक |

‘ए’ सर्टिफिकेट – 3 अंक |

‘ ए ‘ सर्टिफिकेट भाग I एवं II – 3 अंक |

‘ए’ सर्टिफिकेट केवल भाग I – 2 अंक |

ये भी पढ़ें: भारतीय तट रक्षक कैसे बने

तटरक्षक

सहायक कमांडेंट की भर्ती के लिए आवेदन के समय कट-ऑफ प्रतिशत में एन सी सी ‘सी’ सर्टिफिकेट (‘ए’ ग्रेड) धारकों के लिए स्नातक परीक्षा में प्राप्त कुल अंकों में से अधिकतम 5% अंक की छूट दी जाती है |

एनसीसी में छात्रा कैडेट अनुदेशक

सभी रिक्तियां स्नातक उपाधि और ‘सी’ सर्टिफिकेट धारक एनसीसी छात्रा कैडेटों के लिए आरक्षित हैं |

यहाँ पर हमनें आपको एनसीसी के विषय में बताया हैं, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूलें |

ये भी पढ़ें: असिस्टेंट कमांडेंट कैसे बने

ये भी पढ़ें: सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी

ये भी पढ़ें: Current Affairs की तैयारी कैसे करे