जीडीपी (GDP) क्या होता है?

जीडीपी से सम्बंधित जानकारी (Information About GDP)

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था के विकास के स्तर को समझने के लिए जीडीपी का प्रयोग किया जाता है| अच्छी जीडीपी होने पर उस देश की अर्थव्यवस्था को अच्छा समझा जाता है| यदि देश की जीडीपी में गिरावट होती है, तो उस देश की अर्थव्यवस्था को अच्छा नहीं समझा जाता, जिसका सारा दोष उस देश की सरकार को दिया जाता है, क्योकि देश की सरकार ही अपने देश की आर्थिक नीति का निर्धारण करती है| गलत नीति के कारण पूरे देश को भारी नुकसान का सामना करना पड़ता है| इस पेज पर जीडीपी (GDP) क्या है, इसके फुल फॉर्म और जीडीपी निकालने के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: बजट क्या है (Budget Kya Hai)

जीडीपी क्या होता है (What is GDP) 

जीडीपी शब्द का सबसे पहले प्रयोग अमेरिका के अर्थशास्त्री साइमन के द्वारा 1935-44 के बीच किया गया था| यह वह समय था, जब विश्व की बड़ी- बड़ी बैंकिंग संस्थाएं देश के आर्थिक विकास को मापने पर कार्य कर रही थी, लेकिन तब तक कोई ऐसा पैरामीटर निश्चित नहीं किया जा सका था, जिससे देश की आर्थिक विकास को आसानी से समझ कर दूसरों को समझाया जा सके|

तभी अमेरिका की संसद जिसे कांग्रेस कहा जाता है, वहां पर अर्थशास्त्री साइमन ने जीडीपी शब्द का प्रयोग किया तथा कई इसके पक्ष में तर्क दिए जिससे अधिकांश लोग सहमत हुए| इसके बाद अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने इस शब्द का प्रयोग करना शुरू कर दिया| अंतर्राष्ट्रीय   मुद्रा कोष (आईएमएफ) के बाद सभी देशों ने अपने आर्थिक विकास की गणना करने के लिए इस शब्द का प्रयोग करना शुरू कर दिया|

ये भी पढ़े: सेंसेक्स और निफ्टी क्या होता है?

जीडीपी का अर्थ ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट है हिंदी भाषा में इसे सकल घरेलू उत्पाद कहा जाता है| किसी देश की अर्थव्यवस्था को मापने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है, इसको इस प्रकार से समझा जा सकता है, किसी भी देश की सीमा रेखा के अंदर उत्पादित वस्तु और सेवा का बाजार में मूल्य कितना है, मूल्य अधिक होने पर देश के अंदर विदेशी मुद्रा अधिक आएगी जिससे देश तेज गति से विकास कर सकेगा यदि उत्पादित वस्तु और सेवा का मूल्य कम है, तो उस देश की आर्थिक स्थिति सही नहीं है|

ये भी पढ़ें: शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है

जीडीपी का फुल फॉर्म क्या है (What is the full form of GDP) ?

जीडीपी का फुल फॉर्म ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (Gross domestic product) है, इसका प्रयोग देश के आर्थिक विकास की गणना के लिए किया जाता है|

ये भी पढ़ें: डिजिटल टैक्स (Digital Tax) क्या है

जीडीपी कैसे निकलते है (How do GDP Come Out) 

जीडीपी निकालने के लिए इस सूत्र का प्रयोग किया जाता है-

सकल घरेलू उत्पाद = निजी खपत + सकल निवेश + सरकारी निवेश + सरकारी खर्च + (निर्यात-आयात) जीडीपी डिफ्लेटर (अपस्फीतिकारक) बहुत ही जरूरी है, इसके द्वारा मुद्रास्फीति को मापा जाता है | इसकी गणना के लिए वास्तविक जीडीपी में से अवास्तविक (नामिक) जीडीपी को विभाजित किया जाता है और इसे 100 से गुणा किया जाता है |

GDP (कुल घरेलू उत्पाद) = उपभोग (Consumption) + कुल निवेश

GDP = C + I + G + (X − M)

उपभोग (Consumption)

उपभोग का अर्थ व्यक्ति द्वारा प्रयोग की वस्तुओं के लिए खर्च की गयी राशि से है जैसे किराया, भोजन, चिकित्सा खर्च है, इसमें नए घर को शामिल नहीं किया जाता है|

कुल निवेश (Gross Investment)

इसके द्वारा देश की सीमा के अन्दर देश की सभी संस्थाओं के द्वारा किये गये कुल खर्च की गणना की जाती है|

ये भी पढ़ें: वायदा कमोडिटी बाजार कारोबार में कैसे पाए सफलता

ये भी पढ़े: विश्व मे कितने देश है, इनकी राजधानी एवं मुद्रा

जीडीपी के प्रकार (Types of GDP)

जीडीपी की गणना करने में देश के अंदर वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य की गणना की जाती है| समय के अनुसार इन वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य में परिवर्तन होता रहता है, जिसके लिए जीडीपी की गणना करना थोड़ा सा कठिन होता है, इसके लिए टैक्स के आधार पर कई अप्रत्यक्ष और औसत गणना की जाती है, जीडीपी दो प्रकार से है-

ये भी पढ़ें: डीमैट अकाउंट क्या होता है

वास्तविक जीडीपी (Real GDP)

देश की जीडीपी निकालने के लिए एक आधार वर्ष का निर्धारण किया जाता है| इसमें वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य को फिक्स माना जाता है| इस प्रकार की जीडीपी को वास्तविक जीडीपी कहा जाता है| भारतीय अर्थव्यवस्था में यह आधार वर्ष 2011-12 माना गया है|

ये भी पढ़े: NFC क्या है एनएफसी कैसे काम करता है ?

अवास्तविक जीडीपी (Unrealistic GDP)

किसी देश की जीडीपी निकालने के लिए वर्तमान बाज़ार कीमत को आधार माना जाता है, इस कीमत के आधार पर ही जीडीपी का अध्ययन किया जाता है| इस प्रकार से जीडीपी को अवास्तविक (नामिक) जीडीपी कहा जाता है| वास्तविक जीडीपी के द्वारा देश के आर्थिक विकास को सही ढंग से प्रजेंट करती है| तुलनात्मक नजरिये से यह बहुत ही लाभदायक है| इस प्रकार की जीडीपी के द्वारा देश के नागरिकों पर तुरंत ही प्रभाव पड़ता है |

ये भी पढ़े: क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

यहाँ पर हमनें आपको जीडीपी (GDP) क्या होता है, जीडीपी का फुल फॉर्म व जीडीपी कैसे निकलते है के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: यूनिवर्सल बेसिक इनकम (Universal Basic Income) योजना

ये भी पढ़े: कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे

ये भी पढ़े: digitizeindia.gov.in डिजिटल इंडिया पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

ये भी पढ़े: udyogaadhaar.gov.in उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन कैसे करे