मुद्रास्फीति (Inflation) क्या होता है?

मुद्रास्फीति (Inflation) के विषय में जानकारी

किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करना सरकार का कार्य होता है | सरकार कई प्रकार के उपाय करके जीडीपी को बढ़ाती है | जिससे देश का विकास होता है, भारत में केंद्र सरकार और राज्य सरकार यह कार्य करती है | किसी भी देश के लिए महंगाई पर नियंत्रण रखना चुनौती पूर्ण कार्य होता है | महंगाई को नियंत्रण करने के लिए सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक मिल कर कार्य करती है | मुद्रास्फीति का सम्बन्ध मंहगाई से है | इस पेज पर मुद्रास्फीति (Inflation) क्या होता है, के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: जीडीपी (GDP) क्या होता है?

मुद्रास्फीति क्या होता है (What is Inflation)?

जब वस्तुओं और सेवाओं की कीमत में वृद्धि होती है, इस परिस्थिति को ही मुद्रास्फीति कहा जाता है | दूसरे अर्थों में इसको समझने का प्रयास करते है, जब देश में महंगाई बढ़ती है, तो मुद्रास्फीति होती है, स्फीति का अर्थ वृद्धि होता है |

उदाहरण – यदि आप किसी वस्तु को 10 रूपये प्रति किलो के हिसाब से खरीदते है, अचानक उसकी कीमत 20 रुपये प्रति किलों कर दी जाती है, तो बढ़ी हुई कीमत को मुद्रास्फीति (Inflation) कहा जाता है |

ये भी पढ़े: शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है

मुद्रास्फीति के कारण (Reasons for Inflation)

  • मांग जनित मुद्रास्फीति
  • लागत जनित मुद्रास्फीति
  • मुद्रा की अधिक छपाई या प्रवाह

ये भी पढ़े: सेंसेक्स और निफ्टी क्या होता है?

मांग जनित मुद्रास्फीति

मांग जनित मुद्रास्फीति में वस्तुओं की मांग अधिक हो जाती है और इसकी पूर्ति कम होती है, पूर्ति कम होने के कारण वस्तुओं की कीमत में अत्यधिक वृद्धि हो जाती है |

ये भी पढ़े: म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) क्या होते है

लागत जनित मुद्रास्फीति

लागत जनित मुद्रास्फीति में वस्तुओं के उत्पादन में लगने वाली लागत अधिक आती है, जिस कारण कंपनी अपना लाभ निकालने के लिए वस्तुओं या सेवाओं को महंगा करती है, जिससे महंगाई या मुद्रा स्फीति बढ़ती है |

ये भी पढ़े: डिजिटल टैक्स (Digital Tax) क्या है

मुद्रा की अधिक छपाई या प्रवाह

जब किसी देश के केंद्रीय बैंक के द्वारा मुद्रा को बहुत ही अधिक मात्रा में छाप कर मार्केट में दे दिया जाता है, जिससे लोगों के पास अधिक मुद्रा हो जाती है, जिससे लोगों की क्रय शक्ति अधिक हो जाती है | लोग अधिक से अधिक वस्तुओं या सेवाओं का लाभ लेना चाहते है, लेकिन बाजार में उन वस्तुओं या सेवाओं की पूर्ति कम होती है | इस अवस्था में लोग अधिक कीमत देकर उस वस्तु या सेवा को खरीदते है, इससे महंगाई या मुद्रा स्फीति बढ़ती है |

ये भी पढ़े: वायदा कमोडिटी बाजार कारोबार में कैसे पाए सफलता

यहाँ पर हमनें आपको मुद्रास्फीति (Inflation) क्या है के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: वायदा कमोडिटी बाजार क्या है

ये भी पढ़े: डीमैट अकाउंट क्या होता है

ये भी पढ़े: बजट क्या है (Budget Kya Hai)