म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) क्या होते है

म्यूचुअल फंड से सम्बंधित जानकारी (Mutual Fund Ki Jankari)

प्रत्येक व्यक्ति को जीवन निर्वाह करने में पैसो की आवश्यकता होती है| समय के साथ लोगों की आवश्यकताएँ बढ़ती जाती है| जिसके लिए अधिक पैसो की जरुरत होती है| जीवन में यह भी निश्चित नहीं होता है, कि आज हमारी आय जितनी है वह कल भी उतनी ही होगी, यह कम भी हो सकती है और अधिक भी| व्यक्ति की आय का बहुत बड़ा हिस्सा परिवार की आवश्यकताएँ पूरी करनें  में खर्च हो जाता है, इसलिए खर्च के साथ बचत भी करना आवश्यक है| म्यूचुअल फंड इसी प्रकार का एक निवेश है, जिसके द्वारा बचत की जा सकती है| म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले इसके बारे में अच्छी तरह से जानकारी करना अति आवश्यक है| इस पेज पर म्यूचुअल फंड क्या है, इससे लाभ और हानि के विषय में बताया जा रहा है|

ये भी पढ़े: पेपल (Paypal) क्या है ? पेपल अकाउंट या खाता कैसे बनाये 

ये भी पढ़ें: सेविंग अकाउंट डिपाजिट लिमिट क्या है, कितना पैसा रख सकते हैं

म्यूचुअल फंड क्या है (What Is Mutual Funds)

म्यूचुअल फंड एक संस्था है, जो बहुत बड़ी मात्रा में निवेश करने वाले व्यक्तियों के धन को इकट्ठा करता है| निवेशकों द्वारा किया गया धन का एक उद्देश्य होता है| इस फंड को बाजार मे इक्विटी, बांड, मुद्रा बाजार के साधन और अन्य सिक्योंरिटीज में निवेश किया जाता है | निवेश करने वाला व्यक्ति इसके लिए तय किये गए शेयर का मालिक होता है |

म्यूचुअल फंड को इस प्रकार से समझ सकते है, यह एक प्रकार की संस्था है जो सरकारी नियमों के तहत पंजीकरण करने के पश्चात निवेश के इच्छुक व्यक्तियों के धन को शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करते है | संस्था शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए शेयर मार्केट के बेस्ट मैनेजमेंट को रखती है | इस मैनेजमेंट के स्टॉफ में शेयर मार्केट के दिग्गज होते है, जिससे पैसे डूबने का रिस्क कम होता है |

म्यूचुअल फंड में कई प्रकार के प्लान होते है आप अपनी इच्छा के अनुसार प्लान ले सकते है | प्लान के हिसाब से रिस्क फैक्टर घटते और बढ़ते है | म्यूचुअल फंड में लाभ होने के बाद कंपनी अपना दो से तीन पर्सेंट कमीशन काट कर निवेशकों को वापस कर देती है | इस प्रकार से निवेशकों को अच्छा रिटर्न वापस होता है |

ये भी पढ़ें: पीएफ का बैलेंस कैसे चेक करे

लाभ (Benefits)

  1. म्यूचुअल फंड में कोई भी व्यक्ति निवेश कर सकता है, इसमें न्यूनतम 500 से 5000 रुपये निवेश किया जा सकता है
  2. म्यूचुअल में अलग -अलग स्कीम होती है आप अपनी क्षमता के अनुसार निवेश कर सकते है
  3. म्यूचुअल को लचीला बनाया गया है, जिससे अधिक लोग इसका लाभ उठा सके
  4. म्यूचुअल फंड में की गयी सेविंग का प्रयोग शादी, बच्चों की पढ़ाई में किया जा सकता है, लम्बे समय तक निवेश में अच्छा रिटर्न मिलता है

ये भी पढ़ें: केवाईसी (KYC) का क्या मतलब होता है ?

हानि (Disadvantage)

  1. म्यूचुअल फंड में लाभ कभी भी एक जैसा नहीं मिलता है, इसमें उतार- चढ़ाव होता रहता है
  2. निवेश बढ़ने पर जोखिम की संभावनाएं भी बढ़ती चली जाती है
  3. कम निवेश पर अच्छे रिटर्न की संभावनाएं नहीं होती है
  4. ज्यादा रिटर्न लेने के लिए आपको अधिक रिस्क प्लान लेना पड़ेगा जिससे कभी- कभी भारी नुकसान उठाना पड़ता है

ये भी पढ़े: सेविंग अकाउंट पर बैंक काटता है चार्ज – जानिए

यहाँ पर हमनें आपको म्यूचुअल फंड के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: ATM Card Kaise Block Kare , हेल्पलाइन नंबर

ये भी पढ़े: SBI Online Account घर बैठे कैसे Open करे