आईएएस परीक्षा के लिए सबसे अधिक स्कोरिंग वैकल्पिक विषय

आईएएस परीक्षा के लिए सबसे अधिक स्कोरिंग (Scoring) वैकल्पिक विषय की जानकारी

आईएएस की परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के द्वारा आयोजित की जाती है | यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित होती है, प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा, साक्षात्कार | अभ्यर्थी का चयन मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार के अंकों को मिलाकर किया जाता है | इस परीक्षा में सफल होने के लिए वैकल्पिक विषय मुख्य भूमिका निभाते है | वैकल्पिक विषय में आप अपनी इच्छा के अनुसार विषय का चयन कर सकते है | इस पेज पर आईएएस परीक्षा के लिए सबसे अधिक स्कोरिंग (Scoring) वैकल्पिक विषय (Optional Subject ) के बारे में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: आईएएस कैसे बने?

ये भी पढ़ें: UPPSC सिलेबस की सम्पूर्ण जानकारी

आईएएस परीक्षा अंक विभाजन (Marks Division)

  • प्रारंभिक परीक्षा – 400 अंक (फ़ाइनल मेरिट में अंक नहीं जोड़े जायेंगे)
  • मुख्य परीक्षा- 1750 अंक
  • साक्षात्कार- 275

आईएएस मुख्य परीक्षा 2018 कट ऑफ (Cut off)

वर्ग   रिक्त पद कट ऑफ
 General  414  774
 OBC  209  732
 SC  128  719
 ST  61  719
कुल

812

ये भी पढ़ें: आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) फ्री कोचिंग कैसे पाए, ऑनलाइन फॉर्म

वैकल्पिक विषय (Optional Subject)

मुख्य परीक्षा में दो वैकल्पिक विषय चुनने का विकल्प प्रदान किया जाता है, प्रत्येक विषय के लिए 250 अंक निर्धारित होते है |

  • वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –I) 250 अंक
  • वैकल्पिक विषय (प्रश्नपत्र –II) 250 अंक

वैकल्पिक विषयों की सूची (List)

Agriculture Animal Husbandry and Veterinary Science
Civil Engineering Commerce & Accountancy
Geology History
Mechanical Engineering Medical Science
Psychology Public Administration
Botany Chemistry
Electrical Engineering Geography
Management Mathematics
Physics Political Science & International Relations
Statistics Zoology
Anthropology Philosophy
Economics Sociology
Law

ये भी पढ़ें: भारत में कितने आईएएस (IAS) अफसर है

साहित्यिक विषयों की सूची (List)

Assamese Bengali
Gujarati Hindi
Konkani Maithili
Marathi Nepali
Sanskrit Santhali
Telugu Urdu
Bodo Dogri
Kannada Kashmiri
Malayalam Manipuri
Odia Punjabi
Sindhi Tamil
English Dogri

ये भी पढ़ें: आर. ए. एस. (RAS)ऑफिसर क्या है?

वैकल्पिक विषय चुनते समय आवश्यक बातें (Essential Things)

वैकल्पिक विषय आपकी फ़ाइनल मेरिट बनने और चयन होने में बहुत ही अधिक भूमिका निभाते है, इसलिए इनका चयन करते समय निम्न बातों का ध्यान रखना आवश्यक है-

  • प्रत्येक विषय पर एक सामान अंक नहीं दिए जाते है |
  • साहित्यिक विषयों में आपको अच्छे अंक प्रदान किये जाते है |
  • आपको यदि सफल होना है, तो आपको हमेशा स्कोरिंग विषय का चयन करना चाहिए |
  • आपको वह विषय लेना चाहिए जिसका अध्ययन आप स्वयं भी कर सके अथार्त कोचिंग की आवश्यकता न हो |
  • आप की रूचि उस सब्जेक्ट में हो तो बेहतर है अन्यथा आप दो से छ: महीने के अध्ययन में उस विषय में अच्छी पकड़ बना लेंगे |
  • अगर आप अपनी रूचि का कोई विषय चुनते है और उसमे स्कोरिंग अच्छी नहीं होती है, तो आप की सारी मेहनत व्यर्थ हो जाती है, आपका एक मात्र उद्देश्य परीक्षा में चयन होना चाहिए | स्कोरिंग सब्जेक्ट चुनने से आप रूचि के आधार पर चुनने वाले अभ्यर्थियों को पीछे छोड़ सकते है | अधिकांश अभ्यर्थियों द्वारा भूगोल, लोक प्रशासन, राजनीति विज्ञान, समाजशास्त्र, इतिहास विषय चुने जाते है |
  • आपको केवल उन्हीं विषयों को चुनना चाहिए जिनमें जल्दी- जल्दी जानकारी अपडेट नहीं होती है, इससे यह लाभ होगा की आप यदि पहले प्रयास में सफल नहीं होते है, तो आप दूसरे प्रयास में जब तैयारी करेंगे तो आपको कम तैयारी करनी होगी |
  • अगर आप कोई ऐसे विषय का चयन करते है, जिसमें जानकारी जल्दी- जल्दी अपडेट होती है तो आपको अधिक मेहनत की आवश्यकता होगी, इससे आप परीक्षा कक्ष में प्रश्न के उत्तर देने में कंफ्यूज भी हो सकते है |
  • यदि आप अपनी क्षेत्रीय भाषा को विषय के रूप में चुनते है तो आप अच्छे अंक प्राप्त कर सकते है |
  • अभी तक हिंदी माध्यम के अभ्यर्थियों में हिंदी साहित्य विषय के अभ्यर्थी अधिक चयन हुए है इनका प्रतिशत चुने गए छात्रों में सबसे अधिक है |
  • वैकल्पिक विषय चुनते समय आपका यह उद्देश्य होना चाहिए की आपको परीक्षा में चयनित होना है |

ये भी पढ़ें: डीएसपी (DSP) Kaise Bane, योग्यता, सैलरी, तैयारी

यहाँ पर हमनें आईएएस परीक्षा के लिए सबसे अधिक स्कोरिंग (Scoring) वैकल्पिक विषय (Optional Subject ) के बारे में बताया गया है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: आरबीआई (RBI) गवर्नर की नियुक्ति योग्यता, सैलरी, कार्य

ये भी पढ़ें: आईपीएस (IPS) कैसे बने

ये भी पढ़ें: बिना कोचिंग के आईएएस (IAS) परीक्षा की तैयारी