आर. ए. एस. (RAS)ऑफिसर क्या है?

आर. ए. एस. ऑफिसर की पूरी जानकारी (Full Information About RAS Officer)

राजस्थान राज्य में आर. ए. एस. एक बहुत ही सम्मानीय पद है| आर. ए. एस. का पूरा नाम राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस है| यह पद सिविलियन कैटेगरी में आता है| इस पद पर रहने व्यक्ति के पास कई शक्तियां होती है| जिसे वह जनता के हित में प्रयोग करता है| आर. ए. एस. पर चयनित होने के लिए प्रतियोगी परीक्षा में सम्मिलित होना होता है| इस परीक्षा में सफल होने के बाद ही आप का चयन इस पर किया जाता है | राजस्थान का लगभग प्रत्येक योग्य व्यक्ति इस पद को प्राप्त करना चाहता है | इस पेज पर आर. ए. एस. ऑफिसर क्या है, इसकी योग्यता, कार्य, चयन प्रक्रिया के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: आईएएस कैसे बने ?

आर. ए. एस. ऑफिसर क्या है (RAS Officer Kya Hai)

यह एक सिविलियन पोस्ट है, जिसके लिए राज्य संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा विज्ञापन जारी किया जाता है | इस पद पर रहते हुए व्यक्ति को राज्य सरकार के निर्देशों का अनुपालन करवाना होता है| जो व्यक्ति नियम- क़ानून के विपरीत कार्य करते है उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही आर. ए. एस. ऑफिसर द्वारा की जाती है |

ये भी पढ़ें: डीआरएस (DRS) क्या होता है

योग्यता (Eligibility)

राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) की परीक्षा में भाग लेने के लिए अभ्यर्थी को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नात्तक उत्तीर्ण होना अनिवार्य है | आप किसी भी संकाय में स्नात्तक उत्तीर्ण हो सकते है |

ये भी पढ़ें: आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) फ्री कोचिंग कैसे पाए, ऑनलाइन फॉर्म

आयु (Age)

राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के लिए अभ्यर्थी की आयु 21 वर्ष से 35 वर्ष के बीच में होनी अनिवार्य है | आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है |

वेतन (Salary)

राजस्थान में एक आर.ए.एस. ऑफिसर का वेतन 15600 – 39100 (GP – 5400) रुपये है |

ये भी पढ़ें: बिना कोचिंग के आईएएस (IAS) परीक्षा की तैयारी

चयन प्रक्रिया (Selection Process)

आर. ए. एस. के लिए प्रत्येक वर्ष राजस्थान राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा विज्ञापन जारी किया जाता है | इसके बाद इसके लिए परीक्षा का आयोजन किया जाता है | इस परीक्षा को तीन भागों में विभाजित किया गया है-

सबसे पहले अभ्यर्थी को प्री एग्जाम में भाग लेना होता है, प्री परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थी ही मेन (मुख्य) परीक्षा में भाग ले सकते है | इसके बाद मेन (मुख्य) परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है | इसमें सफल होने के बार अभ्यर्थी का चयन आर. ए. एस. के पद पर कर लिया जाता है |

ये भी पढ़ें: भारत में कितने आईएएस (IAS) अफसर है

आर. ए. एस. के कार्य (Work Of RAS Officer)

एक आर. ए. एस. अधिकारी सरकारी योजनाओं को धरातल तक पहुंचाने का कार्य करता है | इसके लिए वह अपने नीचे के अधिकारियों को को मॉनिटर करता है, और सरकार की इच्छा के अनुसार सभी योजनाओं की प्रोग्रेस रिपोर्ट को अपने उच्च अधिकारी को सौंपता है | इस रिपोर्ट के आधार पर सरकार आगे की योजनाओं के लिए विचार- विमर्श करती है |

ये भी पढ़ें: डीएसपी (DSP) Kaise Bane, योग्यता, सैलरी, तैयारी

यहाँ पर हमनें आर. ए. एस. अधिकारी के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: आईपीएस (IPS) कैसे बने

ये भी पढ़ें: आरबीआई (RBI) गवर्नर की नियुक्ति योग्यता, सैलरी, कार्य

ये भी पढ़ें: IRS (Indian Revenue Service) Officer कैसे बने