आईएएस परीक्षा के लिए द हिन्दू व अन्य समाचार पत्रों का योगदान

द हिन्दू व अन्य समाचार पत्रों का परीक्षा में योगदान (The Hindu and other newspapers contributed to the Examination)

भारतीय प्रशासनिक सेवा में सिविल सेवा का पद बहुत ही अधिक महत्वपूर्ण है | इसकी परीक्षा का स्तर अत्यंत उच्च है, जिससे योग्य व्यक्ति ही इस पद तक पहुंच सके | परीक्षा में सफल होने के लिए कई प्रकार की अध्ययन सामग्री का प्रयोग करना पड़ता है, प्रयोग करने के लिए कई प्रकार की योजनाएं बनानी होती है, जिसके आधार पर कम समय में अधिक से अधिक सामग्री का अध्ययन किया जा सके | इस सफलता की पूरी यात्रा में हमें एक समाचार पत्र का अध्ययन करना पड़ता है, जिससे हमारा करंट अफेयर अपडेट रहे | इस पेज पर आईएएस एग्जाम (IAS Exam) के लिए द हिन्दू (The Hindu) व अन्य समाचार पत्र को पढ़ने के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: आईएएस परीक्षा के लिए एनसीईआरटी पुस्तकों को कैसे पढ़े?

ये भी पढ़ें: यूपीएससी (UPSC) सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए 10 सर्वश्रेष्ठ वैकल्पिक विषय

समाचार पत्र (News Paper)

आप प्रत्येक दिन शहर, राज्य, देश और अंतर्राष्ट्रीय खबरों से परिचित होना चाहते है, इसके लिए आप सोशल मीडिया और समाचार पत्र और न्यूज चैनल को देखना पसंद करते है | किसी  भी न्यूज का गहराई से अध्ययन करने के लिए समाचार पत्र का प्रयोग किया जाता है, समाचार पत्र से आप महत्वपूर्ण भाग के नोट्स को भी बना सकते है, जिसका उपयोग आप परीक्षा के लिए कर सकते है | प्रत्येक प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाला छात्र एक समाचार पत्र का अध्ययन अवश्य करता है | अब प्रश्न यह उठता है कि समाचार पत्र को किस प्रकार से पढ़ें जिससे कम समय में हमें पूरी जानकारी प्राप्त हो सके |

ये भी पढ़ें: आईएएस परीक्षा के लिए सबसे अधिक स्कोरिंग वैकल्पिक विषय

प्रमुख समाचार पत्र (Main News Paper)

अंग्रेजी माध्यम से आईएएस एग्जाम की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए द हिन्दू (The Hindu) समाचार पत्र बहुत ही उपयुक्त है | हिंदी माध्यम से तैयारी करने वाले छात्रों के लिए प्रमुख समाचार पत्र इस प्रकार है-

  • नवभारत
  • दैनिक भास्कर
  • दैनिक जागरण
  • दैनिक ट्रिब्यून
  • बिजनेस स्टैंडर्ड
  • दैनिक नौज्योति
  • इकोनॉमिक टाइम्स

ये भी पढ़ें: आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) फ्री कोचिंग कैसे पाए, ऑनलाइन फॉर्म

अन्य प्रमुख समाचार पत्र (साप्ताहिक / मासिक)

  • बीबीसी हिंदी (आनलाईन)
  • आर्थिक बुलेटिन (साप्ताहिक / मासिक)

आप इसमें से किसी का भी अध्ययन कर सकते है|

ये भी पढ़ें: आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) फ्री कोचिंग कैसे पाए, ऑनलाइन फॉर्म

ये भी पढ़े: आईपीएस अधिकारी की भर्ती, प्रशिक्षण, सेवा कैडर एवं वेतन

द हिंदू समाचार पत्र ही क्यों पढ़ना चाहिए (Why should you read the Hindu Newspaper)

द हिंदू समाचार पत्र में पत्रकारों के द्वारा किसी भी मुद्दे जैसे सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक इत्यादि का विश्लेषण करने पर निष्पक्षता और आत्मीयता के संतुलन को बहुत ही बेहतर ढंग से बनाये रखा जाता है, इसमें एक निष्पक्ष परिणाम अभ्यर्थियों के सामने प्रस्तुत किया जाता है | इस समाचार पत्र की यह योग्यता या गुण ही यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को अपनी तरफ आकर्षित करता है |

ये भी पढ़ें: बिना कोचिंग के आईएएस (IAS) परीक्षा की तैयारी

द हिन्दू व अन्य समाचार पत्र कैसे पढ़ें (How to read The Hindu and other Newspapers)

समाचार पत्र पढ़ते समय अभ्यर्थियों को यह ही नहीं पता होता है, कि कौन सी खबर उनके लिए उपयोगी है और कौन सी नहीं है | इसकी सही जानकारी करने के लिए आपको अपना परीक्षा पाठ्यक्रम पूरी तरह से याद होना चाहिए | यह पाठ्यक्रम आप दो से पांच बार अध्ययन कर लेंगें तो यह आसानी से याद रखा जा सकता है कि परीक्षा में क्या पूछा जाता है |

समाचार पत्र में कई पेज होते है, जैसे मुख्य पेज, स्थानीय, प्रदेश, राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय, आर्थिक, खेल और अंतिम पेज इन सभी में आपको वह सभी कुछ पढ़ना है, जो आपके पाठ्यक्रम से सम्बंधित है | सामान्यतः स्थानीय ख़बरों पर प्रश्न नहीं पूछे जाते है आप यह पूरा पृष्ठ छोड़ सकते है | आपको समाचार पत्र में दिए गए लेख को अवश्य पढ़ना चाहिए |

ये भी पढ़ें: आईएएस कैसे बने?

ये भी पढ़ें: IRS (Indian Revenue Service) Officer कैसे बने

नोट करने वाले प्रमुख बिंदु (Key points to Note)

आपको समाचार पत्र में सरकारी योजनाएं, परियोजनाएं, आईएमएफ, डब्लूबी, डब्ल्यूएचओ, संयुक्त राष्ट्र, एनजीओ, डब्ल्यूईएफ, नीति आयोग, आरबीआई, मंत्रालय, गरीबी, बेरोजगारी, जलवायु परिवर्तन, लिंग, सामाजिक-आर्थिक, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पर्यावरण से सम्बंधित ख़बरों के नोट अवश्य बनाने चाहिए इससे परीक्षा में कई प्रकार के प्रश्न पूछे जाते है |

ये भी पढ़ें: UPPSC सिलेबस की सम्पूर्ण जानकारी

यहाँ पर हमनें आईएएस एग्जाम (IAS Exam) के लिए द हिन्दू (The Hindu) व अन्य समाचार पत्र को पढ़ने के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: आईपीएस (IPS) कैसे बने

ये भी पढ़ें: कस्टम अधिकारी (Custom Officer) कैसे बने ?

ये भी पढ़ें: सरकारी नौकरी मिलेगी जरूर अगर आपका करेंट अफेयर्स होगा मजबूत