कस्टम अधिकारी (Custom Officer) कैसे बने ?

कस्टम अधिकारी (Custom Officer) 

भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अधीन केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड है, इसका मुख्य कार्य केंद्रीय उत्पाद शुल्क व सीमा शुल्क की वसूली करनी होती है | एक कस्टम अधिकारी या सीमा शुल्क अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाली वस्तुओं की गहन जाँच करता है | जिससे किसी भी प्रतिबंधित वस्तु के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगाया जा सके | यह विभाग राजस्व विभाग का एक हिस्सा है | यदि आप भी एक कस्टम अधिकारी (Custom Officer) बनना चाहते है, तो इसके बारे में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है

ये भी पढ़े: आईपीएस ऑफिसर कैसे बने

ये भी पढ़े: IRS आफिसर कैसे बने 

योग्यता

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए निम्नलिखित योग्यता निर्धारित की गयी है |

शैक्षणिक योग्यता

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी संकाय में 55 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक उत्तीर्ण होना अनिवार्य है |

आयुसीमा

अभ्यर्थी की आयु 21 वर्ष से 28 वर्ष के बीच में होनी चाहिए | आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छूट प्रदान की गयी है |

शारीरिक योग्यता

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए अभ्यर्थी की लम्बाई 157.5 सेमी और  सीना 81 सेमी होना अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: गेट (GATE) एग्जाम क्या है योग्यता, परीक्षा पैटर्न

कस्टम ऑफिसर परीक्षा

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए संघ लोकसेवा आयोग अर्थात UPSC के द्वारा परीक्षा का आयोजन किया जाता है | यह परीक्षा तीन भागों में आयोजित की जाती है |

  • सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट (सीएसएटी)
  • सिविल सेवा मुख्य परीक्षा
  • व्यक्तित्व परीक्षण

सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट (सीएसएटी)

सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट में दो पेपर होते हैं, प्रत्येक पेपर के लिए 200 अंक निर्धारित किये गए | परीक्षा में प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के पूछे जाते हैं | मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट उत्तीर्ण होना अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

सिविल सेवा मुख्य परीक्षा

मुख्य परीक्षा में नौ पेपर्स होते है, इस परीक्षा में वर्णनात्मक प्रकार के प्रश्न पूछे जाते है | इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद आपको व्यक्तित्व परीक्षण के लिए बुलाया जाता है |

व्यक्तित्व परीक्षण

व्यक्तित्व परीक्षण एक साक्षात्कार है, इसमें अभ्यर्थी की बुद्धि, क्षमताओं, गुणों और मूल्यों का आंकलन किया जाता है |

सैलरी

7 वीं सीपीसी के अनुसार इंस्पेक्टर की रैंक के लिए सीमा शुल्क अधिकारी का वेतन 52000 रु० है (जबकि सकल (ग्रॉस) लगभग 60000 रु० में है) |

ये भी पढ़े: विभिन्न स्तर की परीक्षाओं की तैयारी कैसे करे

अधिकार

एक कस्टम इंस्पेक्टर के रूप में आपको कस्टम ड्यूटी (टैक्स) को एकत्रित करना होता है, आप को प्रबंधित वस्तुओं के प्रवेश पर रोक लगाना होता है, इसके लिए आप वस्तुओं या व्यक्तियों की पूर्ण रूप से जाँच कर सकते है | यह एक जिम्मेदारी का पद है, इसमें आपको किसी भी तस्करी (स्मगलिंग) पर पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध लगाना होता है  | किसी गलत वस्तुओं के पाए जाने पर उस सम्बंधित व्यक्ति के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करने का पूर्ण अधिकार एक कस्टम अधिकारी के पास होता है |

यहाँ पर हमनें आपको कस्टम अधिकारी (Custom Officer) बनने के विषय में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी

ये भी पढ़े: कैसे बने – अधिकारी, डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी मिलेगी जरूर अगर आपका करेंट अफेयर्स होगा मजबूत