RBI PPI Kya Hai And PPI Full Form

RBI PPI से सम्बंधित पूरी जानकारी

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने छोटे मूल्य के डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए पेमेंट गेटवे (Payment Gateway) के रूप में काम करने वाले ‘सेमी क्लोज्ड प्रीपेड पेमेंट’ उत्पाद (PPI) जारी किया गया है। इसके पहले ही RBI ने कहा था कि क्रेडिट पॉलिसी में वह छोटे मूल्यों के डिजिटल लेन-देन हेतु इस प्रकार के PPI ( Pre-Paid Instrument Providers) पेश करेगा। RBI द्वारा जारी इस सुविधा के अंतर्गत 10,000 रुपये तक की ही वस्तुओं को खरीदने तथा 10,000 रुपते तक की ही सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे | इसके लिए बैंक खाते से इसमें पैसा डाला जा सकेगा | यदि आप भी RBI PPI क्या है, PPI का फुल फॉर्म इन बैंकिंग में क्या होता है इसकी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो यहां पर इसकी जानकारी उपलब्ध कराई गई है|

ये भी पढ़ें: सेविंग अकाउंट पर बैंक काटता है चार्ज

ADVERTISING

ये भी पढ़ें: इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) क्या है ?

ये भी पढ़े: *99# USSD Banking सर्विस का उपयोग कैसे करे

PPI का फुल फॉर्म इन बैंकिंग

PPI Full Form in Banking Sector – बैंकिंग सेक्टर में पीपीआई (PPI) को ‘Pre-Paid Instrument Providers’ यानि कि ‘प्री पेड इंस्ट्रूमेंट प्रोवाइडर्स’ कहते है| यह बैंकिंग सेक्टर के तहत दी जाने वाली महत्वपूर्ण सुविधा होती है | इसके द्वारा डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है |

ये भी पढ़ें: शेयर मार्केट क्या है ये कैसे काम करता है

ये भी पढ़ें: Money Laundering (मनी लॉन्ड्रिंग) क्या है?

PPI के प्रकार (Types Of PPI)

PPI मुख्यतः तीन प्रकार के होते है जिनके नाम और जानकारी इस प्रकारी है

  1. क्लोज्ड सिस्टम PPI
  2. सेमी क्लोज्ड PPI
  3. ओपन पीपीआई

ये भी पढ़ें: डाउन पेमेंट का मतलब क्या है

क्लोज्ड सिस्टम PPI क्या है

क्लोज्ड सिस्टम PPI सुविधा के अन्तर्गत केवल वस्तु और सेवाओं को खरीदा जा सकता है, इसके तहत नकद निकासी का कोई प्रावधान नहीं होता हैं | इसके अलावा इसमें किसी थर्ड पार्टी को इस सुविधा में पेमेंट नहीं कर सकते है |

ये भी पढ़ें: जीडीपी (GDP) क्या होता है?

ये भी पढ़ें: शेयर मार्केट में निवेश कैसे किया जाता है?

सेमी क्लोज्ड PPI क्या होता है

सेमी क्लोज्ड PPI की सुविधा के तहत वस्तुओं और सेवाओं की खरीद के साथ-साथ पैसे भेजने का भी विकल्प सुविधा के रूप दिया जाता है | इसके अंतर्गत ग्राहक को ज्यादा सहूलियत मिलती है, किन्तु लिमिट में कोई बदलाव नहीं होते है |

ये भी पढ़ें: यूनिवर्सल बेसिक इनकम (Universal Basic Income) योजना

ये भी पढ़े: विश्व मे कितने देश है, इनकी राजधानी एवं मुद्रा

ओपन PPI (पीपीआई) की जानकारी

ओपन PPI के अंतर्गत दी जाने वाली सुविधाओं में वस्तुओं और सेवाओं की पेमेंट के साथ-साथ नकद निकासी की भी सुविधा प्रदान की जाती है | परन्तु इसमें भी ओपन PPI होने के बावजूद इसमें भी लिमिट निर्धारित की गई | निर्धारित राशि से ज्यादा पैसे नहीं निकाल सकते है, न ही उससे ज्यादा खरीददारी कर सकते है |

ये भी पढ़ें: सेंसेक्स और निफ्टी क्या होता है?

ये भी पढ़ें: मार्केट रिसर्च के क्षेत्र में बेहतर करियर की संभावनाए

सेमी क्लोज्ड PPI का उपयोग

  1. PPI का उपयोग छोटे मूल्य के डिजिटल लेन- देनों में बढ़ावा और ग्राहको के लिए बेहतर अनुभव देने हेतु पीपीआई को लांच किया गया।
  2. इसका उपयोग 10,000 रुपए तक की वस्तु या सेवाओं की खरीदारी हेतु ही किया जा सकेगा, यह कार्ड या इलेक्ट्रॉनिक रूप में जारी किया जा सकता है।
  3. PPI में पैसा केवल बैंक खाते से डाला जा सकेगा।
  4. एक महीने में केवल इसमें 10,000 रुपए ही डाले जा सकते है, एक वर्ष में इसमें 1,20,000 रुपए से अधिक नहीं किया जा सकेगा।
  5. PPI (पीपीआई) के उपयोग के दौरान केवल वस्तु और सेवाओं ही होगी, कोष हस्तांतरण में इसे उपयोग नहीं किया जा सकेगा |

ये भी पढ़ें: बिजनेस की शुरुआत कैसे करे

ये भी पढ़ें: कम समय में सही निर्णय कैसे ले

सुरक्षित होगा PPI (पीपीआई) पेमेंट

RBI द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार PPI (पीपीआई) उत्पाद बैंक और गैर-बैंकिंग कंपनियों द्वारा जारी किया जायेगा | तथा इसे सुरक्षित बनाने के लिए इसे इस्तेमाल करने पर वन टाइम पिन यानि कि ओटीपी (OTP) के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर और नाम के साथ, विशेष पहचान संख्या का भी प्रयोग किया जायेगा |

ये भी पढ़ें: बैंक विलय क्या है?

ये भी पढ़ें: पोस्ट ऑफिस बचत योजना

यहाँ पर हमनें आरआरबी एनटीपीसी क्या है, ‘RBI PPI’ पीपीआई के बारें में जानकारी दी| यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करते रहे |

ये भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड (Credit Card) मतलब क्या होता है?

ये भी पढ़ें: RuPay Debit Card और Visa Card क्या है 

ये भी पढ़ें: ATM Card Kaise Block Kare , हेल्पलाइन नंबर

ये भी पढ़ें: पेपल (Paypal) क्या है ? पेपल अकाउंट या खाता कैसे बनाये 

ये भी पढ़ें: नेट बैंकिंग मोबाइल बैंकिंग कैसे करे

ADVERTISING