जम्मू कश्मीर और लद्दाख में कितने जिले है

जम्मू कश्मीर और लद्दाख  

31 अक्टूबर 2019 को आजाद भारत के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर भारत सरकार ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के नए नक्शे को जारी कर दिया है। साथ ही भारत का नया राजनीतिक नक्शा भी सर्वेअर जनरल ऑफ इंडिया की ओर से भी जारी किया गया। इस नक्शे में भारत ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान और चीन को कड़ा पहुंचाते हुए पीओके के मीरपुर और मुजफ्फराबाद को भी भारत के नक्शे में विशेष तौर पर दर्शाया है।

ये भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल 2019 | राज्य पुनर्गठन कैसे होता है?

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लेह-लद्दाख का गठन

जम्मू – कश्मीर से 5 अगस्त को राष्ट्रपति द्वारा अधिसूचना जारी कर जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को पूर्ण रूप से समाप्त कर दिया गया। इसके लिए भारत के गृह मंत्री अमित शाह ने 5 अगस्त 2019 को राज्यसभा में संकल्प पत्र पेश किया था। जिसमे नए सरकारी आदेश के अनुसार जम्मू-कश्मीर से धारा 370 के सभी खंड समाप्त हो गए थे। इसमें से सिर्फ एक खंड प्रभावी रखा गया था। इसमें दूसरा सबसे बड़ा फैसला यह भी लिया गया कि जम्मू-कश्मीर अब राज्य नहीं रहेगा। इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लेह-लद्दाख में विभक्त कर दिया गया |

ये भी पढ़ें: धारा 370 क्या है

ये भी पढ़ें: आर्टिकल 35A क्या है ?

भारत के नक्शे की अब सीमा और मानचित्र

धारा 370 हटने के पहले भारत के नक्शे में सीमा तो यही थी, परन्तु मीरपुर और मुजफ्फराबाद को स्पष्ट दर्शाया नहीं जाता था। जम्मू-कश्मीर में नया कानून लागू के बाद कुल 22 जिलों का गठन किया गया है, जिनमें मीरपुर और मुजफ्फराबाद को भी जोड़ा हैं। इसके अतरिक्त केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में दो जिलों करगिल और लेह का गठन किया गया है।

 ये भी पढ़ें: धारा 144 का मतलब क्या है?

जम्मू-कश्मीर UT में 22 जिलों किया गया शामिल जिलों के नाम

जम्मू-कश्मीर राज्य में 1947 में कुल 14 जिले थे, लेकिन 2019 तक इनकी संख्या बढ़ते – बढ़ते 28 तक पहुंच गई थी। अब नए केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जम्मू-कश्मीर में कठुआ, जम्मू, सांबा, उधमपुर, डोडा, किश्तवाड़, राजौरी, रियासी, रामबन, पुंछ, कुलगाम, शोपियां, श्रीनगर, अनंतनाग, बडगान, पुलवामा, गांदरबल, बांदीपोरा, बारामूला, कुपवाड़ा, मीरपुर और मुजफ्फराबाद जिलों को  शामिल किया गया हैं।

ये भी पढ़ें: UAPA Bill क्या है?

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में शामिल जिले

लद्दाख इसके पहले जम्मू – कश्मीर का हिस्सा था परन्तु अब सरकार ने इसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया  | जिसमे दो जिलों को शामिल किया है, लेह और करगिल। इनमें से लेह के अंतर्गत पाकिस्तान अधिकृत गिलगित-बाल्टिस्तान को भी शामिल किया गया है। लेह में गिलगित, गिलगित-वजारत, चिल्हास, ट्राइबल टेरिटरी को भी लिया गया है।

ये भी पढ़ें: राज्य में राष्ट्रपति शासन कैसे लगता है?

ये भी पढ़ें: अविश्वास प्रस्ताव और विश्वास मत क्या है?

यहाँ पर हमनें जम्मू कश्मीर और लद्दाख के जिलों के नाम और मानचित्र के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) कौन है पूरी जानकारी

ये भी पढ़ें: भारत के पड़ोसी देश और उनकी राजधानी, मुद्रा

ये भी पढ़ें: भारत में कुल कितने राज्य हैं

ये भी पढ़े: सर्जिकल स्ट्राइक क्या है और कैसे होता है ?

ये भी पढ़े: 1947 में भारत कैसे आज़ाद हुआ था ?

ये भी पढ़े:  कब लगता है देश और राज्य में राष्ट्रपति का शासन