सैटेलाइट फ़ोन क्या होता है?

सैटेलाइट फ़ोन (Satellite Phone) के विषय में जानकारी

किसी भी फ़ोन को सही ढंग से कार्य करने के लिए नेटवर्क की आवश्यकता होती है | यह नेटवर्क दूर- दराज क्षेत्रों में टावर लगाकर पहुचायें जाते है | टावर अपनी क्षमता के अनुसार अपने चारों ओर के क्षेत्र में नेटवर्क पहुंचाने का कार्य करते है जिसके बाद ही एक फ़ोन से दूसरे फोन पर बात की जा सकती है | यदि आपके क्षेत्र में किसी मोबाइल कंपनी का नेटवर्क नहीं है तो इसका अर्थ है, उस कंपनी ने आपके क्षेत्र में अपना टावर नहीं लगवाया है | आपदा के समय जब सभी मोबाइल नेटवर्क बंद हो जाते है, उस समय सैटेलाइट फ़ोन के द्वारा एक दूसरे से संपर्क किया जाता है | इस पेज पर सैटेलाइट फ़ोन क्या है तथा यह किस प्रकार से कार्य करता है के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: मोबाइल टावर (Mobile Tower) कैसे लगवाये ?

ये भी पढ़ें: जिओ (Jio) का टावर कैसे लगवाये

सैटेलाइट क्या है (What is Satellite)?

सैटेलाइट एक उपकरण है जिसे पृथ्वी की कक्षा में ले जाकर छोड़ दिया जाता है | इस उपकरण में कई सौर पैनल लगे होते है, जिनकी सहायता से विद्युत प्राप्त होती रहती है | सैटेलाइट को हिंदी में उपग्रह कहा जाता है | यह पृथ्वी की कक्षा में चारों तरफ चक्कर लगाया करता है | इसमें ट्रांसमीटर और रिसीवर लगे होते है, जो सिग्नल को प्राप्त करते है और दूसरी जगह भेजने का कार्य करते है | इसी प्रक्रिया के द्वारा ही दो सैटेलाइट फ़ोन से आपस में संपर्क स्थापित हो पाता है |

ये भी पढ़ें: Wireless Communication (वायरलेस कम्युनिकेशन) क्या है?

सैटेलाइट फ़ोन (Satellite Phone) क्या होता है?

सैटेलाइट फ़ोन का अर्थ है कि वह फ़ोन जिसमें नेटवर्क सैटेलाइट के द्वारा प्रदान किया जाता है, इस प्रकार के फ़ोन में संपर्क केवल एक सैटेलाइट फ़ोन से दूसरे सैटेलाइट फ़ोन में ही किया जा सकता है | जब एक दूसरे से संपर्क किया जाता है, तो नेटवर्क का सिग्नल पहले एक सैटेलाइट फ़ोन से निकलने के बाद सैटेलाइट में जाता है, इसके बाद यह सिग्नल सैटेलाइट के द्वारा दूसरे फोन में भेजा जाता है |

ये भी पढ़ें: स्पेक्ट्रम (Spectrum) क्या होता है?

सैटेलाइट फ़ोन का लाभ (Benefits)

सैटेलाइट फ़ोन का प्रयोग देश के सीमा पर तैनात आर्मी के द्वारा किया जाता है, क्योंकि वहां पर युद्ध के कारण किसी भी टावर को नहीं लगाया जा सकता है | युद्ध के समय एक दूसरे से सम्पर्क करने के लिए सैटेलाइट फ़ोन का ही प्रयोग किया जाता है |

आपदा प्रभावित क्षेत्र में विद्युत का आवागमन रोक दिया जाता है, जिससे किसी भी बड़े नुकसान को होने से रोका जा सके | विद्युत की आपूर्ति न होने से टावर कार्य करना बंद कर देते है | ऐसे स्थानों पर सैटेलाइट फ़ोन का प्रयोग करके संपर्क स्थापित किया जा सकता है और आवश्यक जगह पर सहायता भेजी जा सकती है |

ये भी पढ़े: digitizeindia.gov.in डिजिटल इंडिया पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

यहाँ पर हमनें सैटेलाइट फ़ोन क्या है तथा यह किस प्रकार से कार्य करता है के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: मोबाइल फ़ोन हीट (Mobile Heating Problem) क्यों करता है फ़ोन हीट होने से कैसे बचाए ?

ये भी पढ़ें: मोबाइल फ़ोन से कॉन्टेक्ट्स नंबर का बैकअप कैसे बनाये ?

ये भी पढ़ें: मोबाइल फ़ोन में सॉफ्टवेयर कैसे डाले

ये भी पढ़ें: एंड्राइड मोबाइल की बैटरी लाइफ (Battery Life) कैसे बढ़ाये ?