रेपो रेट (Repo Rate) और रिवर्स रेपो रेट (Reverse Repo Rate) क्या है?

रेपो रेट (Repo Rate) और रिवर्स रेपो रेट (Reverse Repo Rate) के विषय में जानकारी

अधिकांश लोगों द्वारा या समाचार पत्रों में रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट के कम और अधिक होने की जानकारी दी जाती है | इससे बाजार में उतार- चढ़ाव भी देखने को मिलता है, लेकिन इसके बारे में पूरी जानकरी हमें नहीं मिल पाती है | भारत में बैंकों पर नियंत्रण भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा रखा जाता है | रेपो रेट की घोषणा भी आरबीआई के द्वारा की जाती है | यदि आपको रेपो रेट के विषय में जानकारी नहीं है, तो इस पेज पर रेपो रेट (Repo Rate) और रिवर्स रेपो रेट (Reverse Repo Rate) के बारे में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: क्या है Unified Payment Interface

ADVERTISEMENT विज्ञापन

 रेपो रेट क्या है (What is Repo Rate)?

भारतीय रिजर्व बैंक भारत की सभी बैंकों को कर्ज देता है | आरबीआई के द्वारा जिस दर पर कर्ज दिया जाता है, उसे रेपो रेट कहते है | बैंक कर्ज लेने के बाद वह अपने ग्राहकों को कर्ज प्रदान करते है | रेपो रेट का कम या अधिक होने पर इसका प्रभाव सीधा बैंक से कर्ज लेने वाले ग्राहकों पर पड़ता है | यदि रेपो रेट कम होती है ग्राहकों को मिलने वाला कर्ज सस्ता हो जाता है | यदि रेपो रेट अधिक हो जाती है, तो बैंको से मिलने वाला कर्ज मंहगा हो जाता है |

ये भी पढ़ें: Reserve Bank of India के गवर्नर के अधिकार !

ADVERTISEMENT विज्ञापन

ये भी पढ़ें: IFSC Code क्या है

रिवर्स रेपो रेट क्या है (What is Reverse Repo Rate)?

बैंकों में नगदी अधिक होने पर वह भारतीय रिजर्व बैंक के पास जमा की जाती है | आरबीआई इसके लिए बैंकों को ब्याज देता है | वह जिस दर पर बैंक को ब्याज देता है, उसे रिवर्स रेपो रेट कहा जाता है | यह रिवर्स रेपो रेट बाजार में नगदी की तरलता को नियंत्रण करने के काम आती है | जब बाजार में अधिक मात्रा में नगदी हो जाती है, उस समय नगदी को कम करने के लिए आरबीआई रिवर्स रेपो रेट बढ़ा देता है | इसके बाद सभी बैंक अधिक ब्याज प्राप्त करने के लिए अपनी रकम आरबीआई के पास जमा कर देते है, जिससे बाजार में नगदी कम हो जाती है |

ये भी पढ़ें: सेविंग अकाउंट (बचत खाता) क्या होता है

ADVERTISEMENT विज्ञापन

ये भी पढ़ें: *99# USSD Banking सर्विस का उपयोग कैसे करे

हमने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट के बारे में जानकारी साझा की है। इस जानकारी के संबंध में अगर आपके पास कोई सवाल है या अधिक संबंधित विवरण चाहिए, तो कृपया कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछें। हम आपकी प्रतिक्रिया और सुझावों का उत्सुकता से इंतजार करेंगे।

ये भी पढ़े: SBI Online Account घर बैठे कैसे Open करे

ये भी पढ़े: मंथली एवरेज बैलेंस (Monthly Average Balance) क्या है

ये भी पढ़े: इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) क्या है ?

ये भी पढ़े: कैंसिल चेक (Cancel Cheque) क्या होता है और इसकी उपयोगिता क्या है ?