आरएएफ (RAF) क्या है?

आरएएफ से सम्बंधित जानकारी (About Rapid Action Force) 

रैपिड एक्शन फोर्स दंगा नियंत्रण एवं शांति व्यवस्था में अहम भूमिका निभाने वाला सख्त सुरक्षा बल माना जाता है। देश में किसी संवेदनशील स्थिति में, त्योहारों पर संवेदनशील शहरों में इनकी तैनाती के लिए पुलिस अधिकारियों की विशेष डिमांड होती है। रैपिड एक्शन फोर्स जिले की डिमांड पर सुरक्षा के लिए तैनात किए जाते हैं, परन्तु वह जिला प्रशासन की गाइड लाइन एवं कार्ययोजना के अलावा अपनी तैयारियों पर अधिक विश्वास करते हैं। इसके अंतर्गत वह सभी जनपदों का आर्थिक, सामाजिक, आपराधिक, भौगौलिक, व्यापारिक डाटा खुद रखते हैं और शांति व्यवस्था बनाए जाने के लिए वह जिलों में जाकर इसके तहत परिचय अभ्यास करते हैं। इसमें आबादी से लेकर जिले के गुंडे, माफियाओं से लेकर धार्मिक अपराधियों एवं राजनेताओं तक का डाटा इकट्ठा करते हैं, ताकि सुरक्षा व्यवस्था में ड्यूटी लगाए जाने पर उन्हें दूसरे की सूचना का मोहताज न होना पड़े। आरएएफ क्या है? इसके बरने में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है|

ये भी पढ़े: पैरा कमांडो कैसे बनें?

ये भी पढ़े: आईटीबीपी में नौकरी कैसे पाए

आरएएफ का फुल फॉर्म (Full Form Of RAF)

आरएएफ को हिंदी में द्रुत कार्य बल कहते है, और अंग्रेजी में Rapid Action Force (रैपिड एक्शन फोर्स) कहते है| यदि किसी स्थान से अशांति की सूचना मिलती है, वहाँ सामान्य नागरिकों की सुरक्षा के लिये आरएएफ पहुँच जाती है और उसका नाम आते ही उपद्रवियों में खलबली मच जाती है, वह उसका सामना करना तो दूर, उसे आते देख कर ही मारे खौफ के थर-थर काँपने लगते हैं और मैदान छोड़ कर भाग जाते हैं।

ये भी पढ़े: सीआरपीएफ में ऑफिसर कैसे बने

आरएएफ क्या है (RAF Kya Hai)

आरएएफ अर्थात रेपिड एक्शन फोर्स देश की सबसे बड़ी आंतरिक सुरक्षा फोर्स सीआरपीएफ यानी सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स का ही एक हिस्सा है| देशभर के 10 शहरों में रेपिड एक्शन फोर्स की 10 बटालियन हैं, आवश्यकता पड़ने पर संवेदनशील क्षेत्रो में इन्हें तैनात किया जाता है| यह बटालियन अलीगढ़, इलाहाबाद, जमशेदपुर, भोपाल, हैदराबाद, कोयंबटूर, मुंबई, अहमदाबाद, मेरठ और दिल्ली में हैं| इसके अलावा 5 और बटालियन देश के अन्य शहरों में है| आरएएफ फोर्स की पोशाक नीले रंग की होती है, जो शांति का प्रतीक है| यह फोर्स देश के साथ-साथ कोसोव और लाइबेरिया जैसे देशों में भी अपनी सेवा दे चुकी है|

ये भी पढ़े: इंडियन आर्मी में पद और रैंक  

आरएएफ देश का सबसे विश्‍वसनीय फोर्स है, जो बिना समय व्यतीत किये हुए कम से कम समय में संकट की स्थिति उत्‍पन्‍न होने पर स्‍थल पर पहुंच जाती है और सामान्‍य जनता के बीच पहुंच उन्‍हे सुरक्षित करती है और उनमें विश्‍वास पैदा करती है कि उनकी सुरक्षा के लिए कोई है। इस बल के पास एक अलग झंडे का अधिकार प्राप्‍त है, जो शांति का प्रतीक है| इस झंडे को आरएएफ के 11 सालों तक देश की सेवा करने के उपलक्ष्‍य में तत्‍कालीन उपप्रधानमंत्री लाल कृष्‍ण आडवाणी ने 7 अक्‍टूबर 2003 को फोर्स को प्रदान किया।

ये भी पढ़े: NSG कमांडो कैसे बने?

आरएएफ के कार्य (Work Of RAF)

  • आरएएफ सबसे विश्‍वसनीय फोर्स है जो बिना समय गंवाए, कम से कम वक्‍त में संकट की स्थिति उत्‍पन्‍न होने पर स्‍थल पर पहुंच जाती है|
  • रैपिड एक्शन फोर्स का गठन अक्‍टूबर 1992 में सीआरपीएफ की 10 बटालियनों से हुआ था। इसका मुख्य कार्य दंगे और दंगों जैसी स्थितियों से निपटना है।
  • स्थिति को ज्‍यादा भली-भांति और अधिक प्रभावी ढंग से निपटने के लिए आरएएफ में महिला कर्मियों को भी शामिल किया गया है। महिला सुरक्षाकर्मी वहां तैनात की जाती है जहां आरएएफ को महिला प्रदर्शनकारियों से निपटना होता है।
  • आरएएफ में एक टीम को निरीक्षक स्तर के अधिकारी द्वारा कमांड किया जाता है। इस बल को दंगा नियंत्रण, आंसू गैस के गोले छोड़ने और आग से निपटने में महारत हासिल है।

ये भी पढ़े: फिजिकल (Physical) और मेडिकल टेस्ट (Medical Test) क्या होता है

  • आरएएफ का मुख्य कार्य भीड़ और दंगा को नियंत्रण करना और उग्रवाद के संचालन का मुकाबला करना|
  • युद्ध के समय में सशस्त्र बलों को सहयोग और समर्थन प्रदान करना|
  • संवेदनशील क्षेत्रों में चुनाव के दौरान सुरक्षा प्रदान करना, प्राकृतिक आपदाओं के समय बचाव और राहत कार्यों का संचालन करना।
  • वीआईपी को सुरक्षा प्रदान करना तथा प्रतिष्ठित स्थानों जैसे हवाई अड्डों और पावरहाउस पर सुरक्षा बनाए रखना।
  • रैपिड एक्शन फ़ोर्स की एक बटालियन में करीब 1000 जवान होते हैं और इसमें पंप एक्शन गन, आंसू गैस ग्रेनेड लांचर और अन्य गैर-घातक हथियार तथा उपकरण होते हैं|

आरएएफ सैलरी (RAF Salary)

रैपिड एक्शन फ़ोर्स के अंतर्गत कांसटेबल को 15 लाख रूपये वार्षिक वेतन प्राप्त होता है|  

ये भी पढ़े: NCC सर्टिफिकेट से भारतीय सेना में एंट्री कैसे मिलेगी

यहाँ पर हमनें रैपिड एक्शन फ़ोर्स के विषय में बताया | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करते रहे |

ये भी पढ़े: भारतीय तट रक्षक कैसे बने

ये भी पढ़े: असिस्टेंट कमांडेंट कैसे बने 

ये भी पढ़े: भारतीय वायु सेना कैसे ज्वाइन करे ?

ये भी पढ़े:  रेलवे पुलिस कांस्टेबल और सब-इंस्पेक्टर की तैयारी कैसे करे

ये भी पढ़े: NDA EXAM  में पहली बार में ही कैसे पाए सफलता