कुसुम योजना (Kusum Yojana) क्या है ?

कुसुम योजना (Kusum Yojana) से सम्बंधित जानकारी 

भारत सरकार ने वर्ष 2018-19 के बजट में किसान उर्जा सुरक्षा व उत्थान महाभियान योजना का शुभारम्भ किया था | इसे कुसुम योजना के नाम से भी जाना जाता है, इस योजना के अंतर्गत वर्ष 2022 तक तीन करोड़ सिंचाई पम्पों को डीजल या बिजली के स्थान पर सौर ऊर्जा से चलाये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है| इस योजना में किसानों को अपने खेतों के ऊपर या मेड़ों पर सौर उर्जा संयंत्र लगाकर बिजली उत्पादन करना होता है, इस बिजली का प्रयोग किसान सिंचाई करने व अपनी आवश्यकता की पूर्ति के लिए कर सकता इसके अतिरिक्त जो बिजली शेष बचती है, उसको किसान द्वारा बेचा भी जा सकता है| इस पेज पर कुसुम योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के विषय में बताया जा रहा है|

ये भी पढ़े: उत्तर प्रदेश कर्ज माफी योजना

kusum yojna

ये भी पढ़े: (योगी) मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना (Mukhyamantri Jan Arogya Aojana)

कुसुम योजना का उद्देश्य (Purpose Of Scheme)

  • भारत सरकार कुसुम योजना के द्वारा किसानों की बिजली से सम्बंधित सभी समस्याओं का समाधान करना चाहती है, इस योजना के द्वारा किसानों को 24 घंटे बिजली मिल जाएगी| किसान उत्पादित बिजली द्वारा अपनी आय में बढ़ोत्तरी कर सकते है
  • इसके द्वारा यदि कृषि क्षेत्र में उपयोग होने वाले सभी सिंचाई पम्पों को सौर उर्जा से चलाया जाता है, तो अनुमानतः 28 हज़ार मेगावाट बिजली की बचत होगी
  • सरकार ने वर्ष 2022 तक देश में तीन करोड़ सिंचाई पम्पों को सौर ऊर्जा से चलाने का लक्ष्य निर्धारित किया है

ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना क्या है

सरकार की तैयारी ? (Preparation Of Govt)

कुसुम योजना के लिए सरकार ने बजट में 1.40 लाख करोड़ रुपये निर्धारित किये है, यह राशि वर्ष 2022 तक निवेश की जाएगी| भारत सरकार इस योजना में 48 हजार करोड़ रुपये का योगदान करेगी इसके अतिरिक्त राज्य सरकार भी इतनी राशि का सहयोग करेगी | किसानों को इस योजना में खर्च होने वाली राशि का 10 प्रतिशत ही देना होगा, 90 प्रतिशत राशि सरकार सब्सिडी के रूप में देगी| कुसुम योजना के लिए करीब 45 हजार करोड़ रुपये का इंतजाम बैंक लोन के द्वारा किया जाएगा|

कुसुम योजना का प्रथम चरण (First Step)

इस योजना के प्रथम चरण में वर्तमान समय में चल रहे डीजल पम्पों को सौर ऊर्जा में परिवर्तित किया जायेगा| सरकार ने इसमें 17.5 लाख सिंचाई पंप को सौर ऊर्जा से चलाने की व्यवस्था की है| इससे डीजल की खपत और कच्चे तेल के आयात पर रोक लगायी जा सकती है |

ये भी पढ़े: यूनिवर्सल बेसिक इनकम (Universal Basic Income) योजना

कुसुम योजना से लाभ (Benefit Of Scheme)

  • भारत सरकार कुसुम योजना के द्वारा किसानों को दो प्रकार से लाभ पहुँचाएगी पहला किसानों को मुफ्त में बिजली मिलेगी और दूसरा अतिरिक्त बिजली बना कर ग्रिड को भेज कर अपनी आमदनी भी बढ़ा सकते है
  • यदि किसी किसान के पास बंजर भूमि है, तो वह इस भूमि का प्रयोग सौर ऊर्जा के उपकरण लगाने में कर सकते है, इससे किसान बंजर जमीन से भी आमदनी प्राप्त कर सकते है,  किसान केवल लागत राशि का 10 प्रतिशत खर्च करके सौर उपकरण को प्राप्त कर सकता है

ये भी पढ़े: किसान विकास पत्र (KVP) योजना क्या है

कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन (Online Apply)

कुसुम योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://mnre.gov.in/ पर जाना होगा, यहां पर आपको ऑनलाइन आवेदन का विकल्प प्राप्त होगा, आपको वहाँ पर क्लिक करना है, क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फॉर्म ओपन हो जायेगा | आपको यहाँ पर फॉर्म में मांगी गयी सभी सूचना को भरना है और सबमिट पर क्लिक करना है | इस प्रकार आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है |

ये भी पढ़े: मनरेगा योजना क्या है

यहाँ पर हमनें आपको कुसुम योजना के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: जानिये PM मोदी द्वारा सरकारी योजनाएं !

ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना क्या है

ये भी पढ़े: उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

ये भी पढ़े: sspy-up.gov.in, उत्तर प्रदेश विधवा पेंशन योजना