पालनहार स्कीम क्या है

पालनहार स्कीम से सम्बंधित जानकारी

सरकार द्वारा गरीबों के लिए शुरू की जानी वाली योजनाओं में से एक पालहार योजना की शुरुआत की गई थी, इस स्कीम के तहत अनाथ बच्चों को सुविधा प्रदान की जाती हैं, क्योंकि देश में बहुत से ऐसे बच्चे हैं, जो अनाथ होते हैं,जिनकी मदद करने के लिए बहुत ही कम लोग तैयार होते है और इस कारण उनके शुरुआती जीवन में बहुत अधिक समस्याएं आती हैं इसके अलावा बड़े होने के बाद भी उन्हें बहुत अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है, क्योंकि, उनका जीवन आम लोगों की तरह नहीं गुजरता हैं, बल्कि अनाथ बच्चों के जीवन में हर तरह की मुसीबतें आती है| इस लिए इन्ही समस्याओं को देखते हुए दिनांक 08.02.2005 से पालनहार स्कीम की शुरुआत कर दी गई थी|

जब इस योजना को शुरू किया गया तो इस योजन में अनुसूचित जाति के अनाथ बच्‍चों को शामिल किया गया था| इसके बाद फिर समय-समय पर संशोधन कर और श्रेणियों को भी इस योजना में शामिल कर लिया गया था| इसलिए यदि आप भी पालनहार स्कीम के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको पालनहार स्कीम क्या है, ऑनलाइन आवेदन, पालनहार योजना लाभार्थी सूची कैसे देखे ? इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है |

क्या है प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

पालनहार स्कीम में शामिल की जाने वाली श्रेणियां 

  • पालनहार स्कीम में अनाथ बच्‍चे
  • न्‍यायिक प्रक्रिया से मृत्‍यु दण्‍ड/ आजीवन कारावास प्राप्‍त माता-पिता की संतान
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संताने
  • नाता जाने वाली माता की अधिकतम तीन संताने
  • पुर्नविवाहित विधवा माता की संतान
  • एड्स पीडित माता/पिता की संतान
  • कुष्‍ठ रोग से पीडित माता/पिता की संतान
  • विकलांग माता/पिता की संतान
  • तलाकशुदा/परित्‍यक्‍ता महिला की संतान को शामिल किया जाता |

इस स्कीम तहत प्रदान के जाने वाली 

पालनहार स्कीम के तहत अनाथ बच्‍चों के पालन-पोषण, शिक्षा आदि प्रदान करने के लिए पालनहार को  प्रतिमाह कुछ अनुदान प्रदान किया जाता है लेकिन यह अनुदान तब प्रदान किया जाता है, जब पालनहार परिवार की वार्षिक आय 1.20 लाख रूपये से अधिक नहीं  होती है | वहीं, इस तरह परिवार में रह रहे अनाथ  बच्‍चों को इस स्कीम के तहत 2 वर्ष की आयु में आंगनबाड़ी केन्‍द्र पर तथा 6 वर्ष की आयु में स्‍कूल भेजना आवश्यक होता है | अन्यथा पालनहार पर कार्यवाही भी की जा सकती है |

परिवार को कितना दिया जाता है अनुदान 

प्रत्‍येक अनाथ बच्चों के पालन-पोषण के लिए पालनहार परिवार को 5 वर्ष की आयु तक के बच्‍चे के लिए प्रतिमाह 500 रूपये प्रदान किये जाते है,  तथा जब बच्चे स्‍कूल में  ले लेते हैं, तो उन्हें 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने तक प्रतिमाह 1000 रूपये अनुदान प्रदान किया जाता है। इसके  साथ ही अनाथ बच्चों को वस्‍त्र, जूते, स्‍वेटर एवं अन्‍य आवश्‍यक कार्य  करने के लिए 2000 रूपये प्रति अनाथ की दर से वार्षिक अनुदान भी प्रदान किया जाता है |

मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल ने कही ये बात 

पालनहार स्कीम को लेकर राजस्थान के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल ने विधानसभा में कहा कि, “राज्य सरकार पालनहार योजना में भी लाभार्थियों को प्रति माह भुगतान करने के प्रयास किए जाएंगे।” इसके बाद मेघवाल प्रश्नकाल में विधायकों के पूरक प्रश्नों के जवाब  दिया और कहा कि, विधायकों के पूरक प्रश्नों के दौरान विधानसभा अध्यक्ष डा सी पी जोशी ने श्री मेघवाल से पूछा कि, सदस्यों का यह प्रश्न है कि, पालनहार योजना के तहत हर महीने भुगतान की व्यवस्था हो जाएगी, इस पर मेघवाल ने कहा कि राज्य सरकार इसका पूरा प्रयास करेगी।”

जानिये PM मोदी द्वारा सरकारी योजनाएं !

पालनहार स्कीम के लिए ऑनलाइन आवेदन

  1. पालनहार स्कीम में शामिल होने के लिए सबसे पहले आपको पालनहार की वेबसाइट पर जाकर क्लिक करना होगा|
  2. इसके बाद आपके पालनहार योजना के लिए आवेदन फॉर्म आ जाएगा |
  3. फिर आप पालनहार योजना एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड कर लें |
  4. इसके बाद आप मांगी पूरी जानकारी भरकर सबमिट कर दें |
  5. फिर आपकी आवेदन प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी |

पालनहार योजना लाभार्थी सूची कैसे देखे

1.पालनहार स्कीम लाभार्थी की सूची देखने के लिए सबसे पहले आपको दिए गए लिंक पर क्लिक करना होता है |  

2.इसके बाद आपके सामने चार ऑप्शन आयेगें।  

  • जिले का चयन करें
  • शहरी क्षेत्र/ग्रामीण क्षेत्र
  • नगर निकाय/पंचायत समिति-ग्राम पंचायत

3.फिर आपको सबसे पहले आपको अपने जिले का नाम  भरना होता है |

4.इसके बाद आपको अपना क्षेत्र  का चुनाव करना है और शहरी/ग्रामीण् क्षेत्र नगर निकाय का चुनाव करना है | 

5.इस पूरी प्रक्रिया को करने के बाद आप आसानी के साथ सूची देख सकते है |

प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना क्या है

यहाँ पर हमने आपको पालनहार स्कीम के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है| अधिक जानकारी के लिए पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करे |

क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया