आईपी का फुल फॉर्म क्या होता है?

आईपी के विषय में जानकारी

हम सभी लोग अपने मोबाइल या कंप्यूटर से इंटरनेट पर सर्च करते है, सर्च करने के बाद हमारे सामने उससे सम्बंधित जानकारी आ जाती है | इसके लिए राउटर मोबाइल या कंप्यूटर के IP Address का प्रयोग करता है, इससे ही राउटर को पता चलता है की उसे डाटा कहाँ भेजना है | इसके बाद वह इनफार्मेशन कलेक्ट कर के उसे इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस पर भेज देता है | इस प्रकार से हमे सूचना प्राप्त होती है | इस पेज पर आईपी का फुल फॉर्म के विषय में जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: कंप्यूटर पासवर्ड (Computer Password ) रिसेट कैसे करे ?

ये भी पढ़े: कंप्यूटर फॉर्मेट (Computer Format) कैसे करे ?

आईपी का फुल फॉर्म (Full Form) क्या होता है?

आईपी का फुल फॉर्म Internet Protocol होता है, हिंदी मे इसे इंटरनेट प्रोटोकॉल कहा जाता है |

ये भी पढ़े: गूगल जीमेल अकाउंट (gmail account) में फ़ोन नंबर कैसे बदले

आईपी का फॉर्मेट (Format)

एक आईपी का निर्माण बाइनरी डिजिट के 32 बिट से बनता है जैसे 100110101010100.100110101 इसे याद रखने में बहुत ही परेशानी होती है, इसलिए इसको चार भागो मे बांटकर दशमलव लगाकर अलग-अलग कर दिया जाता है | प्रत्येक भाग में 0 से लेकर 255 अंक तक की संख्या हो सकती है जैसे- 192.186.112.39

यह 32 बिट के कारण निर्धारित हो गया है इसमे केवल 4294967296 IP Address ही शामिल किये जा सकते है | इस प्रकार के आईपी समाप्त होने वाले है | वर्तमान समय में नए IP Address System (IPv4) की आवश्यकता हो रही है | इसे  विकसित कर लिया गया है यह 128 Bit का है जिसमे Unlimited IP Address का निर्माण किया जा सकता है | इसका स्वरूप इस प्रकार है- 2102:db4:0:1134:0:367:1:2

ये भी पढ़े: दो कंप्यूटर के बीच फाइल शेयर कैसे करे ?

आईपी एड्रेस के प्रकार (Types)

आईपी एड्रेस के दो प्रकार है-

  • प्राइवेट आईपी एड्रेस
  • पब्लिक आईपी एड्रेस

प्राइवेट (Private) आईपी एड्रेस

जब अनेक कंप्यूटर या डिवाइस को एक ही केबल या वायरलेस के साथ जोड़ा जाता है, तो यह एक प्राइवेट नेटवर्क का निर्माण करते है |  इस नेटवर्क के अंदर प्रत्येक डिवाइस को फाइल्स और रिसोर्स को शेयर करने के लिए एक यूनिक आईपी एड्रेस को सुनिश्चित किया जाता है |

पब्लिक (Public) आईपी एड्रेस

यह आईपी एड्रेस इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा प्रदान किया जाता है | इसके द्वारा आपके  होम नेटवर्क को बाहर की दुनिया से जोड़ा जाता है | यह आईपी एड्रेस पूरे इंटरनेट मे यूनिक रहता है |

ये भी पढ़े: कंप्यूटर और लैपटॉप में फंक्शन कीज (Function keys)का क्या उपयोग होता है

ये भी पढ़े: कंप्यूटर में Android Apps कैसे इनस्टॉल करे ?

यहाँ पर हमनें आईपी का फुल फॉर्म के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: कंप्यूटर एक्सपर्ट(Computer Expert) कैसे बने

ये भी पढ़े: सी लैंग्वेज ( C Programming Language ) कैसे सीखे

ये भी पढ़े: सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने