नई पेंशन योजना (New Pension Scheme) क्या है

 नई और पुरानी पेंशन योजना की जानकारी (New & Old Pension Scheme Information) 

केंद्र सरकार नें अपने कर्मचारियों के लिए नई पेंशन स्कीम लागू की है। इस व्यवस्था के अंतर्गत पेंशन के लिए कर्मचारियों के वेतन से 10 फीसदी की कटौती की जाती है और इतना ही सहयोग सरकार करती है। अब सरकार ने अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 14 फीसदी कर दी है, परन्तु कर्मचारी इससे संतुष्ट नहीं हैं। कर्मचारियों का कहना है, कि सरकार पुरानीं पेंशन व्यवस्था को लागू करे। इसको लेकर कई केंद्रीय कर्मचारी संगठन और राज्य कर्मचारियों के संगठन आंदोलन भी चला रहे हैं। आइए आपको बताते हैं कि पुरानी पेंशन और नई पेंशन स्कीम में क्या अंतर है।

ये भी पढ़े: पीएफआरडीए (PFRDA) क्या है

ये भी पढ़े: क्या है कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) ? 

नई पेंशन योजना क्या है (New Pension Scheme)

नई पेंशन व्यवस्था अर्थात राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) 1 जनवरी, 2004 को या उसके बाद केंद्र सरकार (सशस्त्र बलों को छोड़कर) के लिए सभी नई भर्तियों के लिए अनिवार्य योगदान योजना है। कुछ एक राज्यों को छोड़कर सभी राज्य सरकारों ने इसे अनिवार्य बना दिया है। वर्ष 2013 में स्थापित एक स्वतंत्र पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए), एनपीएस को नियंत्रित करता है।

यह अमेरिकी मॉडल पर आधारित योजना है, जिसे आम भाषा में  निजी पेंशन या पेंशन का निजीकरण कह सकते हैं। यह 2003 में पूर्व एनडीए सरकार द्वारा लागू की गई थी। जबकि पेंशन नियामक की स्थापना के बारे में 2004 में कानून यूपीए द्वारा भाजपा के समर्थन से पारित किया गया था। बड़े पेंशन फंड को इक्विटी और बांडों में निवेश किया जाता है, जिससे बाजार संबंधी जोखिम बढ़ जाता है। एक निश्चित कट ऑफ तिथि के बाद शामिल होने वाले कर्मचारियों के लिए यह अनिवार्य है, साथ ही उनके वेतन का 10% स्वचालित रूप से निधि में जा रहा है।

ये भी पढ़े: एनपीएस (NPS) स्कीम क्या है?

पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme)

पुरानी व्यवस्था में पूरी पेंशन राशि सरकार द्वारा दी जाती थी, जबकि जनरल प्रोविडेंट फंड (जीपीएफ) में कर्मचारी योगदान के लिए निश्चित रिटर्न की गारंटी थी। सरकार अंतिम वेतन और महंगाई भत्ता (डीए) का 50% सेवानिवृत्त होने के बाद कर्मचारियों को पेंशन के रूप में और मौत के बाद कर्मचारियों के आश्रित परिवार के सदस्यों को भुगतान करती थी।

ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन पेंशन योजना (Shram Yogi Maandhan Pension Yojna)

नई और पुरानी पेंशन में अंतर (Difference Between New & Old Pension Scheme)

तथ्यपुरानी पेंशननयी पेंशन (N.P.S.)
G.P.F.पुरानी पेंशन पाने वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 सुविधा उपलब्ध है नयी पेंशन योजना में जी0 पी 0एफ0 नहीं है 
कटौतीपुरानी पेंशन के लिए वेतन से कोई कटौती नहीं होती है नयी पेंशन योजना में वेतन से प्रति माह 10%की कटौती निर्धारित है 
पेंशनपुरानी पेंशन योजना में रिटायरमेन्ट के समय एक निश्चित पेंशन( अन्तिम वेतन का 50%) की गारण्टी है नयी पेंशन योजना में पेंशन कितनी मिलेगी यह निश्चित नहीं है यह पूरी तरह शेयर मार्केट व बीमा कम्पनी पर निर्भर है 
पेंशन प्रदानकर्तापुरानी पेंशन सरकार देती हैनयी पेंशन बीमा कम्पनी देगी 
विवादविवाद की स्थिति में हमे सरकार से लड़ना होगायदि कोई समस्या आती है तो हमे सरकार से नहीं बल्कि बीमा कम्पनी से लडना पडेगा 
ग्रेच्युटीपुरानी पेंशन पाने वालों के लिए रिटायरमेंट पर ग्रेच्युटी( अन्तिम वेतन के अनुसार 16.5माह का वेतन) मिलता है नयी पेंशन वालों के लिये ग्रेच्युटी की कोई व्यवस्था नहीं है 
डेथ ग्रेच्युटीपुरानी पेंशन वालों को सेवाकाल में मृत्यु पर डेथ ग्रेच्युटी मिलती है जो 7पे कमीशन ने 10 लाख से बढाकर 20लाख कर दिया है नयी पेंशन वालों के लिए डेथ ग्रेच्युटी की सुविधा समाप्त कर दी गयी है 
पारिवारिक पेंशनपुरानी पेंशन में आने वाले लोंगों को सेवाकाल में मृत्यु होने पर उनके परिवार को पारिवारिक पेंशन मिलती है नयी पेंशन योजना में पारिवारिक पेंशन को समाप्त कर दिया गया है 
महँगाईपुरानी पेंशन पाने वालों को हर छ: माह बाद महँगाई तथा वेतन आयोगों का लाभ भी मिलता है नयी पेंशन में फिक्स पेंशन मिलेगी महँगाई या वेतन आयोग का लाभ नहीं मिलेगा यह हमारे समझ से सबसे बडी हानि है 
लोनपुरानी पेंशन योजना वालों के लिए जी0 पी0 एफ0 से आसानी से लोन लेने की सुविधा हैनयी पेंशन योजना में लोन की कोई सुविधा नही है( विशेष परिस्थिति में कठिन प्रक्रिया है केवल तीन बार वह भी रिफण्डेबल) 
G.P.F.पर आयकरपुरानी पेंशन योजना में जी0 पी0 एफ0 निकासी( रिटायरमेंट के समय) पर कोई आयकर नहीं देना पडता है नयी पेंशन योजना में जब रिटायरमेंट पर जो जो अंशदान का 60%वापस मिलेगा उसपर आयकर लगेगा
ब्याज दरजी 0पी0 एफ0 पर ब्याज दर निश्चित है एन0 पी0 एस0 पूरी तरह शेयर पर आधारित है 

ये भी पढ़े: फैमिली पेंशन स्कीम 

यहाँ पर हमनें आपको नई पेंशन योजना और पुरानी पेंशन योजना में अंतर के विषय में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

ये भी पढ़े: PF अकाउंट का UAN Number कैसे चेक करे 

ये भी पढ़े: sspy-up.gov.in, उत्तर प्रदेश विधवा पेंशन योजना

ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री मोदी स्कालरशिप योजना (PM Modi Scholarship Scheme)