डेबिट कार्ड (Debit Card) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) में क्या अंतर है

डेबिट कार्ड (Debit Card) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से सम्बंधित जानकारी

वर्तमान समय में लोगों को बहुत बैंकों द्वारा अधिक सुविधाएं प्रदान की गई है, जिससे उनकी कई समस्याओं का समाधान हो जाता है | इसी तरह पहले लोग कहीं भी जाने के लिए अपनी पॉकेट में पैसे रखकर ले जाते थे, पैसे कम हो या फिर बहुत ज्यादा  सभी पैसे लोगों को अपनी जेब में रखकर ही ले जाना होता था, लेकिन अब अत्याधिक सुविधाओं के चलते लोगों को अपनी जेब में पैसे की जगह केवल कुछ कार्ड ही रखने पड़ते हैं | जैसे लोगों को अपने वॉलेट में नकद  की जगह केवल डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड रखने की आवश्यकता होती है, क्योंकि इन दोनों कार्डों की सहायता से लोग शॉपिंग से लेकर ऑनलाइन ट्रांज़ैक्शन  के लिए भुगतान कर सकते हैं | इसलिए यदि आप भी डेबिट कार्ड (Debit Card) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको डेबिट कार्ड (Debit Card) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) में क्या अंतर है | इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है |

फास्टैग ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे

डेबिट कार्ड (Debit Card) क्या है?

जब आप किसी बैंक में अपना अकाउंट ओपन कराते हैं, तो आपको बैंक की तरफ से  करंट और सेविंग अकाउंट के बदले डेबिट कार्ड प्रदान किया जाता है, जिसका इस्तेमाल आप अपने अकाउंट में उपलब्ध राशि को खर्च करने में कर सकते हैं क्योंकि, जब आप भुगतान करने के लिए अपना डेबिट कार्ड स्वाइप  करेंगे या फिर आप अपने ATM से पैसा निकालने के लिए उसका उपयोग करेंगे तो इसके इस्तेमाल करते ही तुरंत ही आपके अकाउंट से पैसे कट जाएंगे और यदि आपके अकाउंट में खर्च करने के लिए पर्याप्त राशि उपलब्ध नहीं है, तो आपको एमरज़ेंसी में पैसे निकालने में समस्या हो सकती है|

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) क्या है ?

वहीं दूसरी तरफ, आपको किसी भी बैंक में अकाउंट ओपन कराने पर एक क्रेडिट भी प्रदान किया जाता है, लेकिन आपको यह क्रेडिट कार्ड आपके मन मुताबिक़, उपलब्ध कराया जाता है, क्योंकि जो लोग क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं, तो उन लोगों को ही बैंक की तरफ से क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराया जाता है | इसके अलावा क्रेडिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है, जिसका इस्तेमाल आप किसी का भी भुगतान करने के लिए आवश्यकतानुसार पैसे उधार  लेने के लिए कर सकते हैं लेकिन क्रेडिट कार्ड के माध्यम से उधार ली गई राशि को आपको तय समय सीमा में चुकानी होती है, जिसके बाद आपके कार्ड की लिमिट दोबारा से बढ़ सकती है | इसके साथ ही आपके क्रेडिट की सीमा क्रेडिट स्कोर, आयु, इनकम आदि में यदि भुगतान में देरी होती है तो इसके लिए  केवल बकाया राशि पर ब्याज़ लगाया जाता है | इसके अलावा आप क्रेडिट कार्ड  के माध्यम से मूवी टिकट, ऑनलाइन खरीददारी, ट्रेवल बुकिंग और कई चीज़ों पर भरपूर रिवॉर्ड पॉइंट, कैशबैक और डिस्काउंट का लाभ भी प्राप्त कर सकते है |

डेबिट कार्ड कैसे काम करता है 

डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए आपको उसमें कुछ पाइंट की भी आवश्यकता होती है, जो इस प्रकार से है- 

  • डेबिट कार्ड नंबर,
  • expiry डेट,
  • कार्ड पिन नंबर,
  • सीवीवी नंबर,
  • अंक लेटर ग्रिड,
  • वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) और
  • काली रंग की मैग्नेटिक पट्टी।

जब हमे एटीएम मशीन या स्वाइप मशीन से लेन देन करना होता है, तो उसके लिए अपने डेबिट कार्ड को उस मशीन मे स्वाइप करना पड़ता है और उस दौरान मशीन उस डेबिट कार्ड मे लगे मैगनेटिक पट्टी की सहायता से आपकी बैंक के सभी ज़रूरी जानकारी को प्राप्त कर लेते हैं और फिर इसके बाद आपसे आपके कार्ड के पिन को डालने के लिए कहता  है और जैसे ही आप अपने पिन कोड को डालते  हैं, तो आपके लेन देन की प्रक्रिया सम्पन्न हो जाती है।

नेट बैंकिंग मोबाइल बैंकिंग कैसे करे

क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता हैं?

जब आप अपने क्रेडिट कार्ड से किसी विक्रेता (Merchant) को पैसे का भुगतान करते हैं तो आपके क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके बैंक द्वारा उस मर्चेंट को भुगतान कर दिया जाता है और इसके बाद आपको उस राशि को बैंक को चुकाना होता है और यदि आप किसी  कारण से उस राशि का  भुगतान समय पर नहीं कर पाते हैं तो आपको बैंक में उस राशि के साथ कुछ ब्याज भी जमा करना होता है क्योंकि क्रेडिट कार्ड पर बैंक द्वारा एक लिमिट तय की जाती है, जिसके मुताबिक़, ही अपना भुगतान करना होता है। बैंक आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट का निर्धारण करता है और फिर आपके खाते में होने वाले लेनदेन (Transactions) के  मुताबिक़  लिमिट तय करता है, जो मासिक या वार्षिक भी हो सकती है। जैसे-  

  • उपलब्ध क्रेडिट व नकद लिमिट
  • न्यूनतम देय राशि
  • कुल भुगतान की देय तिथि
  • लगाया गया ब्याज़ व शुल्क
  • भुगतान विधियां

 इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) क्या है ?

डेबिट कार्ड (Debit Card) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) में अंतर

डेबिट कार्ड (Debit Card)

क्रेडिट कार्ड (Credit Card)

डेबिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है, जो (85.6 X 53.98) Sq. mm. मे प्लास्टिक का बना हुआ होता  है।  यह कार्ड कुछ ऐसी तकनीकों के माध्यम से तैयार किया जाता है, जिसकी सहायता से हम बिना कॅश या चेक के ही कहीं भी जाकर और किसी भी एटीएम मशीन से पैसा निकाल सकते है | इसके साथ ही इस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल  घर बैठे या फिर कही भी ऑनलाइन ख़रीदारी के लिए इलेक्ट्रॉनिक रूप से अपने बैंक अकाउंट से पैसा ट्रान्सफर  के लिए भी कर सकते है | डेबिट कार्ड को एटीएम कार्ड भी कहा जाता है | क्रेडिट कार्ड भी एक प्लास्टिक का कार्ड होता है जो देखने में बिल्कुल डेबिट कार्ड(ATM card) की तरह होता है। क्रेडिट कार्ड के माध्यम से आप खरीददारी कर सकते हैं और पैसे निकाल सकते हैं। इसके साथ ही क्रेडिट कार्ड  से किसी  खरीदारी के लिए एक निश्चित राशि तक का ही भुगतान  किया जा सकता है क्योंकि, इसके भुगतान के लिए एक सीमा तय की गई है | क्रेडिट कार्ड से ही लोग बैंक उधार लेते हैं और इसके बाद उन पैसों का भुगतान तय किये गए समय के अंतर्गत करना होता है |

ऑनलाइन मुकदमा कैसे दर्ज कराएं 

यहाँ पर हमने आपको डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, आपकी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार है|अधिक जानकारी के लिए पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करे|

भारत पेट्रोलियम डीलरशिप के लिए नियम, शर्ते, ऑनलाइन आवेदन