एनएसए (NSA) क्या होता है?

एनएसए से सम्बंधित जानकारी (Information About NSA)

देश की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद का नेतृत्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार द्वारा किया जाता है। भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ब्रजेश मिश्रा से लेकर वर्तमान के अजीत डोभाल तक पांच बड़े प्रशासनिक अधिकारियों ने इस पद को संभाला है और अपनी तेज बुद्धिमत्ता का परिचय दिया है। यह एक कार्यकारी सरकारी संस्था है। इसका गठन 19 नवंबर, 1998 को किया गया था। राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ( नेशनल सिक्योरिटी कौंसिल ) का वरिष्ठ अधिकारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार होता है । देश के प्रधानमंत्री को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा नीति और मामलों पर सलाह देता है और एक रणनीतिकार सलाहकार के तौर पर अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करता है| एनएसए (NSA) क्या होता है ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है|

ये भी पढ़े: सीआरपीएफ में ऑफिसर कैसे बने

ये भी पढ़े: आईटीबीपी में नौकरी कैसे पाए

एनएसए का फुल फॉर्म (NSA Full Form)

एनएसए का फुल फॉर्म नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी (National Security Agency ) है। इसे हिंदी में राष्ट्रीय सुरक्षा अभिकरण कहते है। भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ब्रजेश मिश्रा थे, जबकि वर्तमान एनएसए अजीत डोभाल हैं| एनएसए की नियुक्ति कैबिनेट की नियुक्ति समिति (ACC) द्वारा की जाती है, और इस समिति की अध्यक्षता भारत के प्रधानमंत्री करते हैं| भारत में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद  देश की आंतरिक और बाह्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है और इस पद पर कार्यरत अधिकारी की जिम्मेदारी बहुत बड़ी चुनौती के साथ-साथ दायित्व की होती है।

ये भी पढ़े: पैरा कमांडो कैसे बनें?

एनएसए क्या होता है (NSA Kya Hota Hai)

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एनएसए (NSA) भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (NSC) का वरिष्ठ अधिकारी होता है| एनएसए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा नीति पर भारत के प्रधानमंत्री के मुख्य सलाहकार के रूप में कार्य करते है| वर्तमान में अजीत डोभाल एनएसए हैं, और वह अपना दूसरा कार्यकाल पूरा कर रहे हैं| वर्तमान में  उन्हें सरकार में कैबिनेट मंत्री का पद दिया गया है| भारत में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद को सबसे पहले 1998 में पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने सृजित किया था| राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की नियुक्ति भारत के प्रधानमन्त्री के द्वारा की जाती है|

ये भी पढ़े: इंडियन आर्मी में पद और रैंक  

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की सूची (List of National Security Advisers of India)

नाम  कार्यकालप्रधानमन्त्री
1. ब्रजेश मिश्र (IFS)नवम्बर 1998 से 22 मई 2004अटल बिहारी वाजपेयी
2. जे एन दीक्षित (IFS)23 मई 2004 से  3 जनवरी 2005मनमोहन सिंह
3. एम के नारायणन (IPS)3जनवरी 2005 से 23 जनवरी 2010मनमोहन सिंह
4. शिवशंकर मेनन (IFS)24 जनवरी 2010 से  28 मई 2014मनमोहन सिंह
5. अजीत डोभाल (IPS)30 मई 2014 से वर्तमान तकनरेंद्र मोदी

वर्तमान में दो डिप्टी एनएसए हैं| यह रिटायर्ड IPS राजिंदर खन्ना और पंकज सरन, IFS हैं| यह दोनों डिप्टी एनएसए को उनके कार्य संचालन में सहायता करते हैं|

ये भी पढ़े: आईपीएस अधिकारी की भर्ती, प्रशिक्षण, सेवा कैडर एवं वेतन

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के कार्य (Functions of National Security Advisor)

  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भारत के प्रधानमंत्री को भारत के लिए बाहरी और आंतरिक सुरक्षा खतरों से संबंधित सभी मामलों पर सलाह देता है|
  • राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) सभी खुफिया रिपोर्ट प्राप्त करता है और उन्हें प्रधानमंत्री के सम्मुख प्रस्तुत करता है| एनएसए, भारत के प्रधानमंत्री की ओर से रणनीतिक और संवेदनशील मुद्दों पर आयोजित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय बैठकों में भाग लेता है.
  • भारत का एनएसए चीन, पाकिस्तान और इजरायल के साथ सुरक्षा मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष दूत के रूप में भी कार्य करता है और एनएसए आधिकारिक विदेशी और राजकीय यात्राओं पर प्रधानमंत्री के साथ जाता है|
  • विदेश की खुफिया एजेंसियों के बीच गुप्त और खुले ऑपरेशन के लिए तालमेल स्थापित करना.
  • देश के ऊपर आने वाले किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए स्ट्रेटेजी बनाना.
  • यदि किसी देश के ऊपर भारत को हमला करने की जरुरत पड़ेगी तो इसके लिए भारत के प्रधानमंत्री के अलावा एक और सीक्रेट कोड होता है, जो कि देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पास होता है| इस कोड को डालने के बाद ही किसी देश पर परमाणु हमला किया जा सकता है|
  • विभिन्न ऑपरेशनों के लिए भारत का क्या रवैया होना चाहिए इस बारे में उचित कार्रवाई करने के लिए प्रधान मंत्री को सलाह देना है|
  • मूल रूप से एनएसए का कार्य प्रधानमंत्री के आदेश और राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की सलाह लेकर देश के ऊपर आने वाले सभी खतरों का किस प्रकार से सामना करना है इस बारे में फैंसला लेना होता है.
  • कई बार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को भारत की विदेश नीति को ठीक करने के लिए भी प्रधानमन्त्री की तरफ से प्रतिनिधि बनाकर विदेश भेजा जाता है| जैसा कि कुछ समय पहले अजीत डोभाल, चीन के साथ सीमा विवाद निपटने के लिए चीन की यात्रा पर गये थे|

ये भी पढ़े: NSG कमांडो कैसे बने?

एनएसए का वेतन (Salary Of NSA)

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को लगभग 162,500 प्रति माह की सैलरी मिलती है|

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की आधिकारिक संरचना (Official structure of NSC)

दिसंबर 1998 में सरकार ने एक टास्क फोर्स की सिफारिश के आधार पर राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर तीन स्तरीय ढांचा तैयार किया था, जो इस प्रकार है-

1.राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (National Security Council)

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सर्वोच्च संस्था है, जिसका प्रमुख देश का प्रधानमन्त्री होता है और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार इस परिषद का सचिव होता है|

2.रणनीतिक नीति समूह (Strategic Policy Group)

रणनीतिक नीति समूह का प्रमुख कैबिनेट सचिव होता है. यह संस्था देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए नीति बनाती है जिसमें तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा खुफिया ब्यूरो और रॉ के चीफ शामिल होते हैं. इसका मुख्य कार्य राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद को नीति बनाने सम्बन्धी सिफारिशें भेजना है|

3.राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड (National Security Advisory Board) 

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड (एनएसएबी) में वरिष्ठ सेवानिवृत्त अधिकारियों, नागरिकों के साथ-साथ सैन्य, शिक्षाविदों और आंतरिक और बाहरी सुरक्षा, विदेश मामलों, रक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और आर्थिक मामलों में विशेषज्ञता रखने वाले और नागरिक समाज के प्रतिष्ठित सदस्य शामिल होते हैं|

ये भी पढ़े: फिजिकल (Physical) और मेडिकल टेस्ट (Medical Test) क्या होता है

इसका मुख्य कार्य राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर दीर्घकालिक विश्लेषण और दृष्टिकोण प्रदान करना है| यदि राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद इसे किसी मुद्दे का अध्ययन करने के लिए कहती है, तो इसे वह भी करना पड़ता है|  इसके द्वारा सुझाई गयी नीति सिफारिशों और सुझावों को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के विचार जानने के लिए भेजा जाता है|

यहाँ पर हमनें एनएसए (NSA) के बारें में जानकारी दी| यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करते रहे |

ये भी पढ़े: भारतीय तट रक्षक कैसे बने

ये भी पढ़े: असिस्टेंट कमांडेंट कैसे बने 

ये भी पढ़े: NCC सर्टिफिकेट से भारतीय सेना में एंट्री कैसे मिलेगी

ये भी पढ़े: स्टार देखकर कैसे पहचाने क्या है आर्मी ऑफिसर के रैंक