मांकड़िग नियम (Mankading Rules) क्या है ?

Mankading Meaning in Hindi

क्रिकेट एशिया और विश्व का सबसे प्रसिद्ध खेल है, भारत में क्रिकेट की लोकप्रियता अन्य खेलों की अपेक्षा अधिक है | इस लोकप्रियता के कारण ही भारत में आईपीएल की शुरुआत की गयी है, क्रिकेट के खेल में मांकड़िग शब्द का प्रयोग किया जाता है | यदि आप क्रिकेट प्रेमी है, तो आपको इस शब्द का अर्थ और प्रयोग अवश्य मालूम होना चाहिए,  यदि  आपको जानकारी नहीं है, तो इस पेज पर मांकड़िग के अर्थ के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़ें: क्रिकेट में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़ें: क्रिकेट के नियम (वनडे, टेस्ट, टी 20)

मांकड़िग क्या है (Mankading Kya hai)

मांकड़िग एक शब्द है, जिसका प्रयोग क्रिकेट के खेल में किया जाता है, जब नॉन-स्ट्राइकर बल्लेबाज गेंद फेकने से पूर्व ही अपनी क्रीज को छोड़ कर आगे बढ़ जाता है, तो उस समय बॉलर नॉन-स्ट्राइकर छोर की गिल्लियां उड़ाकर नॉन-स्ट्राइकर को आउट कर सकता है | इस प्रकार से गेंद नहीं जोड़ी जाती है, और विकेट गिर जाता है, इसे ही मांकड़िग कहा जाता है |

ये भी पढ़ें: खेल में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: क्रिकेट में करियर कैसे बनाये

 मांकड़िग के नियम (Rules Of Mankading)

मांकड़िग के नियम मेलबर्न क्रिकेट क्‍लब द्वारा बनाए गए है, इसके अनुसार यदि नॉन स्‍ट्राइकर बल्लेबाज गेंद फेकने से पहले ही अपनी क्रीज छोड़ देता है, उस समय गेंदबाज उसे रन-आउट कर सकता है, यह कोशिश सफल हो या नहीं, वह गेंद ओवर का हिस्‍सा नहीं मानी जाएगी | अगर गेंदबाज नॉन-स्‍ट्राइकर को रन-आउट करने की कोशिश में असफल रहता है, तो अंपायर को डेड बॉल की घोषणा करनी होती है |

ये भी पढ़े: कुश्ती में करियर कैसे बनाये ?

मांकड़िग का वीनू मांकड से संबंध (Relationship To Venu Mankad Of Munkdinga)

वीनू मांकड भारतीय स्पिनर थे, वर्ष 1947 में आस्ट्रेलिया के बिल ब्राउन को दो बार इन्होंने इसी प्रकार से आउट किया था, तब आस्ट्रेलिया के कप्तान ने इसका समर्थन किया था | वीनू मांकड आउट करने से पूर्व बल्लेबाज को चेतावनी दे चुके थे | जिसके बाद उन्होंने बिल ब्राउन को आउट किया था | आस्ट्रेलियाई मीडिया ने इसकी बहुत ही आलोचना की थी और इस विकट को मांकड़िग के नाम से पुकारा तब से लेकर आज तक इसे मांकड़िग के नाम से जाना जाता है |

मांकड़िग को मान्यता (Recognition Of Mankading)

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइआइसी) ने 70 वर्षों के बाद इसे कानूनी मान्यता दी, इसके अनुसार गेंदबाज नॉन स्‍ट्राइकर बल्लेबाज को गेंद फेकने से पहले आउट करने का प्रयास कर सकता है |

ये भी पढ़े: कम समय में सही निर्णय कैसे ले

यहाँ पर हमनें आपको मांकड़िग और उसके नियम के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: बैडमिंटन खेलने के नियम

ये भी पढ़ें: ओलंपिक में भारत के पदक 2018 – जाने अब तक कितने पदक जीत चुके है

ये भी पढ़ें: एशियाई खेल का इतिहास – कब होता है आयोजित