क्रिकेट के नियम (वनडे, टेस्ट, टी 20)

वनडे, टेस्ट, टी 20 के नियम 

क्रिकेट बहुत ही प्रसिद्ध खेल है, जिसे गली मुहल्ले से लेकर विश्व के अधिकांश देशों में खेला जाता है | यह एक आउटडोर गेम है, जिसमें दो टीमें होती है, प्रत्येक टीम में ग्यारह- ग्यारह खिलाड़ी होते है | क्रिकेट का जन्म इंग्लैण्ड में हुआ था | अंग्रेजों ने जिस भी देश को अपना उपनिवेशक बनाया, वहां पर इस खेल का प्रचार- प्रसार किया | भारत में भी इस कारण इस खेल का बहुत प्रचार हुआ | आज भारत के अधिकांश लोगो की रूचि इस खेल में देखनें की मिलती है | यदि आपको भी इस खेल में रुचि है, तो इस खेल से सम्बंधित नियम (वनडे, टेस्ट, टी 20)  के बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |

ये भी पढ़े: खेल में करियर कैसे बनाये ?

ये भी पढ़े: क्रिकेट में करियर कैसे बनाये

क्रिकेट का प्रारूप

यह खेल तीन प्रारूपों में खेला जाता है |

  1. टेस्ट क्रिकेट (पांच दिन तक, 90 ओवर प्रतिदिन )
  2. एक दिवसीय क्रिकेट (50 ओवर)
  3. ट्वेंटी 20 क्रिकेट (20 ओवर)

ये भी पढ़े: कुश्ती में करियर कैसे बनाये ?

टेस्ट क्रिकेट

यह क्रिकेट का सबसे बड़ा प्रारूप है, यह पांच दिन का मैच होता है, इसमें प्रतिदिन 90 ओवर होते है |

एक दिवसीय क्रिकेट

यह एक दिन का मैच होता है, यह 50 ओवर का मैच होता है, प्रत्येक टीम द्वारा पचास ओवर खेलें जाते है |

ट्वेंटी 20 क्रिकेट

यह क्रिकेट का सबसे नवीनतम प्रारूप है, जिसे लोगों द्वारा बहुत पसंद किया जाता है, इसमें प्रत्येक टीम को 20 ओवर खेलने को मिलते है |

रन

क्रिकेट में रन इस प्रकार अर्जित किये जाते है-

ये भी पढ़े: ओलंपिक में भारत के पदक 2018 

विकेट के बीच दौड़ कर

क्रिकेट की पिच पर दो खिलाड़ी होते है, इसमें बॉल को बल्ले से मारा जाता है, जब बॉल दूर चली जाती है, उस समय दोनों खिलाड़ी अपने सामने के स्टम्प की ओर दौड़ कर रन पूरा करते है, जब तक गेंद स्टंप तक नहीं आती है, तब तक रन लिया जा सकता है |

चौका

जब बल्लेबाज द्वारा मारी गयी गेंद निर्धारित सीमारेखा के पार चली जाती है, उस समय इसे चौका माना जाता है, चौका का अर्थ चार रन है |

सिक्सर

जब बल्लेबाज द्वारा मारी गयी गेंद सीधा निर्धारित सीमा रेखा के पार गिरे अर्थात बीच में कही पर भी गेंद न गिरे, तो उसे सिक्सर कहा जाता है, इसमें बल्लेबाज को छः रन की प्राप्ति होती है |

ये भी पढ़े: एशियाई खेलो का इतिहास और आयोजन

अतिरिक्त रन

गेंदबाज के द्वारा गलत बॉल फेंके जाने पर प्रत्येक बॉल पर एक रन विपरीत टीम को दिया जाता है | यह चार प्रकार की होती है |

  • नो बॉल
  • वाइड बॉल
  • बाई
  • लेग बाई

नो बॉल

वह बॉल जो गेंदबाज के लिए निर्धारित सीमा रेखा से अधिक दूरी से या ऊंची गेंद फेकने पर नो बॉल मानी जाती है, जिससे विपरीत टीम को एक रन प्राप्त होता है |

वाइड बॉल

वह बाल जिसमे बल्ले बाज से दूर बाल फेंकी जाती है, जिससे वह बॉल नहीं खेल सकता है, उसे वाइड बॉल कहा जाता है, इससे विपरीत टीम को एक रन प्राप्त होता है |

ये भी पढ़े: विभिन्न क्षेत्रों में करियर की संभावनाएं

बाई

जब गेंद बाज द्वारा की गयी गेंद में बल्लेबाज का बल्ला टच नहीं होता है और विकेटकीपर भी उसको छोड़ देता है, इसके द्वारा प्राप्त रन को बाई कहा जाता है |

लेग बाई

जब गेंद बल्ले से न टकरा कर बल्लेबाज से टकरा कर दूर चली जाती है, उस समय लिया गया रन लेगबाई कहलाता है |

आउट करने प्रकार

  • बोल्ड
  • कैच
  • लेग बिफोर विकेट
  • रन आउट
  • हिट विकेट
  • गेंद दो बार मारना
  • स्टंप आउट
  • गेंद पकड़ना
  • टाइम आउट
  • बांधा डालना

ये भी पढ़े: अपने अंदर के Talent को कैसे पहचाने

यहाँ पर हमनें आपको क्रिकेट के नियम के विषय में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: स्पोर्ट मैनेजमेंट की जानकारी 

ये भी पढ़े: क्या आप भी बोर पढाई को खेल की तरह आसान बनाना चाहते है