इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन कैसे खोले?

इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन (EV Station Dealership) के विषय में जानकारी

पूरा विश्व पर्यावरण परिवर्तन की समस्या से ग्रस्त है, इसका मुख्य कारण प्रदूषण है, प्रत्येक देश ने अपने यहाँ के कानून के मुताबिक प्रदूषण को रोकने के लिए कदम उठाये है, लेकिन मौजूदा परिस्थिति में उठाये गए कदम पर्याप्त नहीं है, इससे भारत समेत सम्पूर्ण विश्व बढ़ते तापमान का सामना कर रहा है, भारत में प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए वर्ष 2022 से इलेक्ट्रिक व्हीकल को अनिवार्य किया जा रहा है, जोकि 2030 तक पूरी तरह से प्रभावी होगा | इतनी अधिक इलेक्ट्रिक व्हीकल होने से लोगों के सामने इसको चार्ज करने की समस्या होगी | भविष्य में जगह- जगह पर इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन देखने को मिलेंगे आप इसकी डीलरशिप लेकर अच्छी आय का अर्जन कर सकते है, इस पेज पर इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन खोलने के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: भारत पेट्रोलियम डीलरशिप के लिए नियम, शर्ते, ऑनलाइन आवेदन

इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन क्या है (WHAT IS ELECTRIC CHARGING STATION)?

जिस प्रकार आज के समय पर जगह- जगह पर पेट्रोल पम्प है, जोकि वाहनों को डीजल, पेट्रोल और सीएनजी उपलब्ध कराते है, ठीक इसी प्रकार से भविष्य में इलेक्ट्रिक वाहनों को ईंधन रुपी चार्जिंग लाइट प्रदान करने के लिए इलेक्ट्रिक चार्जिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी इन्ही स्थानों को इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन कहा जायेगा |

ये भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल के दाम कैसे तय होते है?

इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन कैसे खोले (HOW TO OPEN ELECTRIC CHARGING STATION)?

इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन खोलने के लिए भारत सरकार ने कोई भी लाइसेंस का प्रावधान नहीं किया है, इसके लिए कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है, इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन के लिए कुछ मानकों को तय किया गया है, यदि आप इन मानकों को पूरा करते है, तो आप राज्य सरकार की अनुमति लेकर इसे खोल सकते है |

ये भी पढ़ें: मोबाइल टावर (MOBILE TOWER) कैसे लगवाये ?

इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन की दूरी

केंद्र सरकार ने प्रत्येक 25 किलोमीटर की दूरी पर सड़क के दोनों ओर इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन खोलने का प्रावधान किया था जिसको अब प्रत्येक 3 किलोमीटर की दूरी किया जा रहा है, जापानी कंपनी पैनासॉनिक भारत के 25 शहरों में एक लाख चार्जिंग स्टेशन लगाने की तैयारी कर रही है |

ये भी पढ़ें: जिओ (JIO) का टावर कैसे लगवाये

भारत में कहाँ- कहाँ पर चार्जिंग स्टेशन खुलेंगे?

भारत में पार्किंग स्टेशन, मॉल और पेट्रोल पंप पर चार्जिंग स्टेशन लगाए जायेंगे | जो भी कंपनी चार्जिंग स्टेशन लगाएगी वह इसके लिए फ्रेंचाइजी भी देगी आप उन कंपनियों से फ्रेंचाइजी लेकर अपने क्षेत्र में चार्जिंग स्टेशन खोल सकते है |

सब्सिडी (SUBSIDY)

अभी तक 15 राज्यों ने अपने यहाँ पर नोडल एजेंसियों की घोषणा कर दी है, इसके आधार पर एक वर्ष के अंदर नेशनल हाइवे पर 4,000 से अधिक ईवी चार्जिंग स्टेशन लगाए जाएंगे | अगर आप चार्जिंग स्टेशन की फ्रेंचाइजी लेना चाहते हैं, तो सरकार ने इसके लिए सब्सिडी देने की घोषणा की है | इसके लिए 1,050 करोड़ रुपये की राशि निर्धारित की गयी है | यह चार्जिंग स्टेशन एनटीपीसी, पावर ग्रिड के साथ मिलकर लगाए जाएंगे |

ये भी पढ़े: क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

चार्जिंग स्टेशन में लागत (COSTS IN CHARGING STATION)

अभी तक चार्जिंग स्टेशन खोलने के लिए शर्तों के विषय में नहीं बताया गया लेकिन मीडिया से मिल रही जानकारी के मुताबिक इसमें लगभग चार लाख रुपये का खर्च आएगा |

EV STATION DEALERSHIP ONLINE REGISTRATION

भारत में राज्य सरकार के द्वारा कंपनियों को चार्जिंग स्टेशन खोलने की स्वीकृति प्रदान की जाती है, प्रत्येक कंपनी फ्रैंचाइजी प्रदान करती है, आप जिस कम्पनी की फ्रैंचाइजी लेना चाहते है, आप उसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते है, आवेदन करने के बाद कम्पनी के नियमानुसार स्थान और मानक की जाँच की जाएगी जिसके बाद आप को फ्रैंचाइजी दे दी जाएगी |

ये भी पढ़े: जानिये PM मोदी द्वारा सरकारी योजनाएं

यहाँ पर हमनें इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: मार्केट रिसर्च के क्षेत्र में बेहतर करियर की संभावनाए

ये भी पढ़े: आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन कैसे करे

ये भी पढ़े: कैसे भरे सरकारी नौकरियों के ऑनलाइन फॉर्म

ये भी पढ़ें: एक देश एक राशन कार्ड योजना क्या है?