Cancer (कैंसर) क्या है?

Cancer (कैंसर) के विषय में जानकारी

आज के समय मनुष्य का खान- पान सही न होने के कारण शरीर में कई प्रकार की बीमारियां हो रही है | यह बीमारी शरीर को बहुत ही क्षति पहुँचाती है, इसमें शरीर के कई अंग अपना कार्य सही ढंग से करने में असमर्थ हो जाते है, सही समय पर और सही उपचार न होने के कारण मनुष्य की मृत्यु भी हो जाती है | इन बीमारियों में सबसे घातक बीमारी कैंसर को माना जाता है | कैंसर के विषय में सही जानकारी न होने के कारण रोगी को कई तकलीफों का सामना करना पड़ता है | इस पेज पर कैंसर क्या है, कैंसर के प्रकार, इसके लक्षण, कैंसर की जांच कैसे होती है, के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन कैसे करे

कैंसर क्या है (What is Cancer)?

हमारे शरीर का निर्माण सेल के द्वारा हुआ है | शरीर की वृद्धि के साथ ही नए सेल का निर्माण होता रहता है | यह सेल्स लगातार डिवाइड होते रहते हैं | कभी- कभी यह सेल अनियंत्रित हो जाते जिससे कई नुकसान दायक सेल का जन्म होने लगता है | शरीर की प्रतिरोधक क्षमता इन सेलों को नष्ट करती रहती है | लेकिन जब प्रतिरोधक क्षमता में कमी आती है, तो यह सेल शरीर में गांठ के रूप में बनने लगते है | यह गांठ ट्यूमर बन जाते है | यह गांठ दो प्रकार की होती है, बिनाइन और मैलिग्नेंट | बिनाइन गांठ खतरनाक नहीं होती, जबकि मैलिग्नेंट गांठ कैंसर में बदल जाती है | इस प्रकार से कहा जा सकता है, कैंसर शरीर की कोशिकाओं के समूह की असामान्य एवं अव्यवस्थित वृद्धि है, यदि समय पर जांच व इलाज न हो तो यह शरीर के दूसरे हिस्सों में भी फैल सकता है, जिसके बाद व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है |

ये भी पढ़ें: हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट में क्या अंतर होता है?

कैंसर के प्रकार (Types of Cancer)

यह है कैंसर के प्रकार –

  • त्वचा का कैंसर
  • ब्लड कैंसर
  • हड्डियों का कैंसर
  • ब्रेन कैंसर
  • स्तन कैंसर

ये भी पढ़ें: रिप का क्या मतलब होता है (RIP Ka Kya Matlab Hota Hai)

लक्षण (Symptoms)

कैंसर के सात मुख्य संकेत एवं लक्षण है-

  1. आंत या मूत्रासय की आदतों में परिवर्तन
  2. घाव जो जल्दी न भरे
  3. शरीर के किसी भी हिस्से में असामान्य रक्तस्राव या स्राव
  4. वजन में अस्पष्टीकृत गिरावट या भूख न लगना
  5. निगलने में परेशानी या पुरानी अपच
  6. तिल या मस्से में कोई परिवर्तन
  7. लगातार खांसी या आवाज में भारीपन

ये भी पढ़ें: गुड फ्राइडे (Good Friday) क्या होता है?

कैंसर की जांच कैसे होती है (Cancer Screening Test)?

कैंसर की जाँच इन विधियों के द्वारा किया जा सकता है | जाँच कराने के बाद यदि कैंसर की पुष्टि हो जाती है, तो इसका इलाज तुरंत ही शुरू कर देना चाहिए |

टोमोसिंथेसिस – इस प्रकार की जाँच में 10 से 12 हजार रुपये का खर्च आता है |

लिक्विड बायोप्सी – इस प्रकार की जाँच में 30 से 40 हजार रुपये का खर्च आता है |

ये भी पढ़े: डॉ भीमराव अंबेडकर की मृत्यु कैसे हुई

उपचार (Treatment)

कैंसर का इलाज इस प्रकार से किया जाता है-

  • सर्जरी
  • हाइपरथर्मिक इंट्रापेरिटोनिअल कीमोथेरपी (HIPEC)
  • टारगेटिड थेरपी
  • इम्यूनोथेरपी
  • पर्सनलाइज्ड ट्रीटमेंट
  • जीन प्रोफाइलिंग
  • ट्रांसआर्टिरियल कीमोएंबोलाइजेशन और ट्रांसआर्टिरियल रेडियोएंबोलाइजेशन (TACE और TARE)
  • ट्यूमर एब्लेशन थेरपी
  • प्रोटॉन थेरपी

ये भी पढ़े: मदर टेरेसा की जीवनी

यहाँ पर हमनें आपको कैंसर के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: सुबह खाली पेट में पानी पीने के फायदे

ये भी पढ़े: योग में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: फूड टेक्नोलॉजी में कॅरियर कैसे बनाये