डॉ भीमराव अंबेडकर की मृत्यु कैसे हुई

डॉ भीमराव अंबेडकर की मृत्यु कब हुई 

डॉ भीमराव अंबेडकर जी को भारतीय संविधान के निर्माता के रूप में माना जाता है, उनके प्रयास और मेहनत के परिणाम के बाद ही भारत को अपना संविधान प्राप्त हो पाया है, अंबेडकर जी बचपन से ही शिक्षा प्राप्त करने के लिए बहुत ही उत्साहित रहते थे, परन्तु महार जाति के होने के कारण उनके साथ भेद -भाव किया जाता था | वह स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री थे | इस पेज पर उनकी मृत्यु से सम्बंधित जानकारी प्रदान की जा रही है |

ये भी पढ़े: महात्मा गांधी की मृत्यु कब हुई

ये भी पढ़े: जवाहर लाल नेहरू की मृत्यु कब हुई 

डॉ भीमराव अंबेडकर जी मृत्यु कब हुई ?

डॉ भीमराव अंबेडकर जी की मृत्यु 6 दिसंबर 1956 को हुई थी, इसका कारण मधुमेह रोग बताया जाता है, परन्तु इनकी मृत्यु वास्तविक रूप में कैसे हुई इसकी जानकारी सही से नहीं हो पायी है |

डॉ भीमराव अंबेडकर की मृत्यु कैसे हुई ?

अंबेडकर जी दलितों के एक लोकप्रिय नेता थे | संविधान निर्माण में उनकी प्रतिभा को देखकर विरोधी लोग भी हैरान रह गए और वह सभी लोग भी अंबेडकर जी का समर्थन करने लगे | डॉ भीमराव अंबेडकर जी और जवाहर लाल नेहरू के बीच कुछ विषयों पर विचार नहीं मिलते थे | परन्तु जवाहर लाल जी ने उनकी प्रतिभा को समझते हुए ही भारत का प्रथम कानून मंत्री बनाया था |

ये भी पढ़े: लाल बहादुर शास्त्री की मौत का सच

अंबेडकर जी की मृत्यु के विषय में सूचना अधिकार के अंतर्गत आरटीआई दायर की गयी थी | आरटीआई कार्यकर्ता आर एच बंसल ने भारत के राष्ट्रपति सचिवालय में आवेदन कर के इसकी जानकारी मांगी थी |

प्रश्न 1. डॉ. भीमराव आंबेडकर की मौत कैसे और किस स्थान पर हुई थी?

प्रश्न 2. क्या मृत्यु उपरांत उनका पोस्टमॉर्टम कराया गया था | यदि पोस्टमॉर्टम हुआ है, तो पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की एक प्रति प्रदान की जाये ?

प्रश्न 3. डॉ. भीमराव आंबेडकर जी की मृत्यु प्राकृतिक थी या फिर हत्या ?

ये भी पढ़े: मदर टेरेसा का जीवन परिचय

राष्ट्रपति सचिवालय ने इस आवेदन को गृह मंत्रालय के पास भेज दिया | गृह मंत्रालय ने कहा कि डॉ. अंबेडकर की मृत्यु और संबंधित पहलुओं के बारे में मांगी गई जानकारी मंत्रालय के किसी भी विभाग, प्रभाग और इकाई में उपलब्ध नहीं है |

गृह मंत्रालय ने आगे के शब्दों में कहा कि यह विचार किया गया है, कि इसकी जानकारी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के पास हो सकती है, इसलिए आपका आवेदन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के पास भेज दिया गया है |

कुछ दिन के बाद सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने उत्तर दिया की हमारे पास इसकी कोई जानकारी नहीं है, आपका आवेदन सूचना प्राप्त करने हेतु डॉ. अंबेडकर फाउंडेशन को भेज दिया गया है |

ये भी पढ़े: एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम

डॉ. अंबेडकर फाउंडेशन ने कुछ दिन के बाद अपने पास कोई जानकारी नहीं होने की सूचना देकर आवेदन वापस गृह मंत्रालय को भेज दिया |

गृह मंत्रालय के केंद्रीय जन सूचना अधिकारी ने आखिरी में उत्तर दिया की इससे आगे अब उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं है, कि यह सूचना किस विभाग से संबंधित है |

यहाँ पर हमनें आपको डॉ भीमराव अंबेडकर की मृत्यु के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय

ये भी पढ़े: स्वामी विवेकानंद के प्रेरणादायक विचार 

ये भी पढ़े: डॉ. ए. पी. जे अब्दुल कलाम की बायोग्राफी