UPS (यूपीएस) Ka Full Form Kya Hota Hai

यूपीएस (UPS) कैसे काम करता है

भारत में अधिकांश लोग कंप्यूटर से परिचित है, वर्तमान में कंप्यूटर दो प्रकार के प्रचलित है, एक डेस्कटॉप और दूसरा लैपटॉप | जब हम डेस्कटॉप का प्रयोग करते है, उस समय हमको यूपीएस की आवश्यकता है, डेस्कटॉप के लिए यह उपकरण अतिआवश्यक है, यूपीएस का मुख्य कार्य विद्युत ऊर्जा का संचय करना है, यह उस समय काम आता जब लाइट चली जाती है, यूपीएस के द्वारा कंप्यूटर को 15 से 40 मिनट का बैकअप दिया जा सकता है, यदि आपको यूपीएस के विषय में जानकारी नहीं है, तो इस पेज पर यूपीएस के फुल फॉर्म और उसकी कार्यप्रणाली के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े : कंप्यूटर या लैपटॉप में”विंडो इनस्टॉल (Window install) कैसे करे ?

यूपीएस का फुल फॉर्म (UPS Full Form)

यूपीएस (UPS) का फुल फॉर्म Uninterruptible Power Supply है, इसका हिंदी में अर्थ अबाधित (बिना किसी समस्या) के बिजली आपूर्ति है | यूपीएस अचानक लाइट चली जाने पर 15 से 40 मिनट तक बिजली की आपूर्ति कर सकता है |

यूपीएस कैसे काम करता है (Working Of UPS)

यूपीएस के मुख्य भाग-

  • रेक्टिफायर(Rectifier)
  • बैटरी(Battery)
  • इन्वर्टर(Inverter)

रेक्टिफायर(Rectifier)

यह यूपीएस के अंदर इनस्टॉल रहता है, यह एक प्रकार का सर्किट होता है, जिसका मुख्य कार्य घरों से प्राप्त Alternative Current (AC) को Direct Current (DC) में कन्वर्ट करना है, क्योंकि बैटरी (DC) करंट के द्वारा ही चार्ज की जाती है |

ये भी पढ़े: कंप्यूटर या लैपटॉप मे Hard Disk Partition कैसे करते है ?

 बैटरी(Battery)

बैटरी भी यूपीएस के अंदर इनस्टॉल रहती है, यह यूपीएस का सबसे बड़ा और महत्वूपर्ण पार्ट होता है, रेक्टिफायर करंट को AC से DC में कन्वर्ट करने के बाद बैटरी के पास भेजता है, बैटरी उस करंट को अपने पास सेव करके रखती है, लाइट जाने के बाद बैटरी के करंट का ही प्रयोग किया जाता है | यूपीएस में बैटरी जितनी अच्छी होगी बैकअप उतना अधिक प्राप्त होगा |

ये भी पढ़े: पीडीऍफ़ फाइल (PDF File) क्या है, और कैसे बनाते है ?

 इन्वर्टर (Inverter)

यह यूपीएस का तीसरा महत्वपूर्ण भाग है, इन्वर्टर(Inverter) बैटरी की संचयित विद्युत ऊर्जा को DC से AC में परिवर्तित करता है, तत्पश्चात इस बिजली का उपयोग कंप्यूटर चलाने के लिए किया जाता है |

यूपीएस के लाभ (UPS Benefits)

  • कंप्यूटर में बिजली के कारण होने वाली अस्थिरता को नियंत्रित करने के लिए यूपीएस का प्रयोग किया जाता है |
  • अचानक लाइट चले जाने पर यूपीएस कंप्यूटर को बंद नहीं होने देता है, जिससे डाटा लॉस होने से बचा जा सकता है |
  • यूपीएस एक सबसे बढ़िया Emergency Power Source है, जिसकी सहायता से घर की पावर ऑफ होने पर यूपीएस या इन्वर्टर की सहायता से घर के उपकरण चलाये जा सकते है |

ये भी पढ़े: कंप्यूटर फॉर्मेट (Computer Format) कैसे करे ?

 यहाँ पर हमनें आपको यूपीएस के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: कंप्यूटर में Android Apps कैसे इनस्टॉल करे ?