अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस की जानकारी (Information About International Labour Day)

भारत में शिक्षा का आभाव अभी भी कई स्थानों पर व्याप्त है, शिक्षा की कमी के कारण यहाँ पर गरीबी बहुत ही अधिक देखने को मिलती है| केवल कुछ धनी व्यक्तियों के पास ही भारत की सम्पति सिमट कर रह गयी है | गरीबी के कारण परिवार का मुखिया मजदूरी करके अपना और परिवार का पेट पालता है, सही मजदूरी न मिल पाने के कारण परिवार के अन्य सदस्य भी मजदूरी कार्य में लग जाते है, इसमें छोटे बच्चे भी शामिल होते जिनकी उम्र स्कूल जाने की होती है, लेकिन परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए वह भी मजदूरी इत्यादि करते है | इस पेज पर अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, क्या है इसकी विशेषता के विषय में बताया जा रहा है |

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

ये भी पढ़ें: 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता हैं अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस

ADVERTISING

बाल श्रम क्या है (What Is Child Labour)

बाल श्रम 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों को ढाबों, घरों, होटलों, कम्पनी, दुकानों में कार्य करने को बाल श्रम कहा जाता है | इस प्रकार के कार्य बच्चों की इच्छा पर निर्भर नहीं होता है, इसमें वह गरीबी के वशीभूत होकर कार्य करते है |

ये भी पढ़ें: किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (KVPY) क्या है?

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस कब और क्यों मनाया जाता है ?

अक्टूबर 1990 में बच्चों की समस्याओं पर विचार करने के लिए एक महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय प्रयास किया गया | इसके लिए न्यूयार्क में विश्व शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया | इस सम्मेलन में 151 राष्ट्रों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया | इसमें गरीबी, कुपोषण व भुखमरी और बाल श्रम जैसी बच्चों की समस्याओं पर विचार-विमर्श किया गया |

बाल श्रम कई देशों की समस्या है, इससे बच्चों के भविष्य और बचपन के साथ खिलवाड़ किया जाता है, इन बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है, इसको रोकने के लिए कई देशों ने अपने यहाँ नियम बनाये हुए है, बाल श्रम को रोकने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ ने अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस मनाने का निर्णय लिया था | यह प्रति वर्ष 12 जून को मनाया जाता है |

ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश युवा स्वाभिमान योजना (MP Yuva Swabhiman Yojna)

विशेषता (Quality)

  • बालश्रम निषेध करने के लिए भारत सरकार ने कई नियम बना रखे है, इसमें बच्चों को सुविधा प्रदान करने का प्रयास किया गया | इसके अनुसार 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों कार्य करने पर प्रतिबन्ध लगाया गया है |
  • सरकार ने 5 से 18 वर्ष तक के किशोर को किसी भी फैक्ट्री में तभी नियुक्त किया जायेगा जब डॉक्टर उसके फिटनेस का प्रमाणपत्र जारी करेगा |
  • 18 वर्ष तक के बच्चों को साढ़े चार घंटे तक कार्य करने की अनुमति प्रदान की गयी है, रात के समय कार्य करने पर प्रतिबन्ध लगाया गया है |

ये भी पढ़ें: दुनिया के सबसे अमीर देशों की सूची

यहाँ पर हमनें आपको अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रम दिवस कब और क्यों मनाया जाता है, क्या है इसकी विशेषता के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़ें: योग में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़ें: खेल में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़ें: NCC क्या है, कैसे ज्वाइन करे

ये भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी स्कालरशिप योजना (PM Modi Scholarship Scheme)

ADVERTISING