मानसून (Monsoon) क्या है?

मानसून के बारें में विस्तृत जानकारी (Detailed Information About Monsoon)

मानसून का इन्तजार लगभग सभी लोग करते है| देश में किसानो की फसल पर मानसून का प्रभाव सबसे अधिक पड़ता है | देश के अंदर महंगाई मानसून के आधार पर निर्धारित होती है| देश की वर्षा इसी पर आधारित है| हवा में जलवाष्प की मात्रा ही वर्षा निर्धारित करती है, इसीलिए मानसून के विषय में जानकारी होनी अतिआवश्यक है| इस पेज पर Monsoon (मानसून) क्या है, मानसून कैसे आता है ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है|

ये भी पढ़ें: फानी तूफ़ान (Cyclone Fani) क्या है

मानसून क्या है (What Is Monsoon)

स्थल से हवा का समुद्र में जाना और समुद्र का स्थल की तरफ आना यह एक प्राकृतिक घटना है| जब स्थल से समुद्र की तरफ हवा का बहाव होता है उस समय वह शुष्क होती है, लेकिन जब सागर से हवा स्थल की तरफ जाती है, तो उसके साथ जल वाष्प की मात्रा होती है| जल वाष्प ही वर्षा के रूप में स्थल में गिरती है|

ये भी पढ़ें: ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम GIS में कैरियर

मानसून कैसे आता है (How Does Monsoon Come)

जब स्थल से वायु सागर की तरफ से जाती है, तो वह गर्म होती है और वह वायु सागर में जाकर ठंडी हो जाती है| ठंडी होने पर वायु में जल वाष्प की मात्रा अधिक हो जाती है और जब यह स्थल की तरफ आती है, तो दोबारा से गर्म हो जाती है, गर्म होने पर जलवाष्प वर्षा के रूप में गिरती है | यह पूरी प्रक्रिया ही मानसून का आना और जाना कहलाता है |

ये भी पढ़ें: माउन्ट आबू में घूमने लायक सबसे खूबसरत जगहें

मानसून की उत्पत्ति का सिद्धांत (Principle Of Origin Of Monsoon)

मानसून की उत्पत्ति के लिए कई सिद्धांत को प्रस्तुत किये गए है जिसमें की प्रमुख सिद्धांत गतिक संकल्पना का सिद्धांत है, इस सिद्धांत के प्रतिपादक फ्लॉन महोदय है| इस सिद्धांत के अनुसार विषुवत रेखा के समीप व्यापारिक पवनों के मिलने से अभिसरण उत्पन्न होता है, इसे अंतर उष्ण कटिबंधीय अभिसरण क्षेत्र कहते है|

इस क्षेत्र में निम्न दाब उत्पन्न होता है| निम्न दाब होने के कारण पवनों का प्रवाह इस क्षेत्र में होता है, यहाँ पर वायु ठंडी हो जाती है| इस समय स्थल पर निम्न दाब हो जाता है, और इस क्षेत्र में उच्च दाब हो जाता है| उच्च दाब होने के कारण ठंडी वायु स्थल की तरफ चलने लगती है, और स्थल पर गर्म होने के कारण यह पवने वही  पर वर्षा करने लगती है| वायुदाब एवं पवन पेटियों के स्थानान्तरण के कारण ही मानसून पवनों की उत्पत्ति होती है|

ये भी पढ़ें: स्पेस साइंटिस्ट (Space Scientist) कैसे बने ?

यहाँ पर हमनें आपको Monsoon (मानसून) के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है|

ये भी पढ़ें: येती हिममानव (Yeti) कौन है?

ये भी पढ़ें: शिव के 12 ज्योतिर्लिंग के नाम कहाँ पर स्थित हैं

ये भी पढ़ें: ऑगमेंटेड रियलिटी  क्या होता है (Augmented Reality)