कैलाश मानसरोवर यात्रा ऑनलाइन आवेदन (Registration) कैसे करे

कैलाश मानसरोवर यात्रा रजिस्ट्रेशन (Registration) 

भारत साधु-संत और मुनियों का देश है, यहाँ पर मोछ की प्राप्ति के लिए कई प्रकार की धार्मिक तीर्थ यात्रायें की जाती है | हिन्दू धर्म में मान्यता है, कि तीर्थ यात्रा करने से समस्याओं का समाधान हो जाता है और घर में धन और सुख शांति का आगमन होता है, इसीलिए लोग हजारों किलोमीटर की दूरी पर स्थित पवित्र धर्म स्थल पर जाते है, इन्हीं यात्राओं में कैलाश मानसरोवर यात्रा का सबसे प्रमुख स्थान है, कैलाश मानसरोवर यात्रा 2019 ऑनलाइन आवेदन (रजिस्ट्रेशन) कैसे करे ?  इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे  है |

ये भी पढ़े: विक्रम संवत (Vikram Samvat) क्या है

ये भी पढ़े: शिक्षा का अधिकार अधिनियम (RTE) क्या है

कैलाश मानसरोवर यात्रा ऑनलाइन आवेदन (Online Apply)

  • भारत सरकार ने कैलाश मानसरोवर यात्रा की सम्पूर्ण प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया है, जिससे आप घर बैठे इसके लिए आवेदन कर सकते है, वर्तमान समय में ऑफलाइन आवेदन पूर्ण रूप से अस्वीकार किये जाने की घोषणा की गयी है
  • यदि आप इस यात्रा में भाग लेना चाहते है, तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट http://kmy.gov.in पर जाना होगा, यहाँ पर दिए गए निर्देशों का अनुपालन करने पर आप सफलता पूर्वक इसके लिए आवेदन कर सकते है
  • कैलाश मानसरोवर यात्रा दो भिन्न मार्गों से आयोजित की जाती है, प्रथम उत्‍तराखण्‍ड में लिपलेख दर्रा और द्वितीय सिक्‍किम में नाथुला दर्रा से
  • आवेदन के समय आवेदकों को दोनों मार्गों में से अपनी पसंद के अनुसार वरीयता देना आवश्‍यक है
  • आवेदन करते समय यात्रा-समापन स्‍थल का चयन करना भी आवश्‍यक है
  • मार्ग-1 (लिपुलेख): धारचूला या दिल्‍ली
  • मार्ग-2 (नाथुला): गंगटोक या दिल्‍ली

ये भी पढ़े: दुनिया के सबसे अमीर देशों की सूची

आवेदन के लिए आवश्यक जानकारी 

  • आवेदक को कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए आवेदन करते समय अपना नवीनतम पासपोर्ट साइज का रंगीन फोटोग्राफ को जेपीजी फॉर्मेट में स्कैन करके लगाना होता है, इसका साइज 300 केबी से अधिक न हो
  • आवेदक के व्‍यक्‍तिगत एवं उसके परिवार का विवरण देना होता है, इसके लिए विभाग द्वारा साधारण भारतीय पासपोर्ट के प्रथम एवं अंतिम पृष्‍ठ की स्कैन कॉपी की मांग की जाती है, यह कॉपी पीडीऍफ़ फॉर्मेट में होनी चाहिए, इसका साइज 500 केबी से अधिक न हो
  • आवेदन पत्र में संपर्क के लिए ई-मेल एवं मोबाइल नंबर को प्रदर्शित करना अनिवार्य है

ये भी पढ़े: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) क्या है

शर्ते व नियम

  • आवेदन करने से पूर्व आवेदक इन शर्तों व नियमों का पालन करना आवश्यक है |
  • आवेदन कर्ता के पास एक वैध पासपोर्ट होना चाहिए | यह यात्रा के तिथि से अगले छ महीने तक वैध होना चाहिए |
  • आवेदन पत्र में प्रदान की गयी सूचना की जिम्मेदारी स्वयं आवेदन कर्ता की होती है, इसलिए आवेदन पत्र में भरी गई सूचनाएं जन्‍म तिथि सहित, हर संदर्भ में पूर्ण एवं सही हो |
  • अपूर्ण रूप से भरे गए आवेदन स्‍वीकार नहीं किये जाएंगे |
  • यात्रा के समय जाँच के किसी भी स्‍तर पर आवेदन फार्म में गलत एवं झूठी जानकारी प्राप्त होने पर यात्री को यात्रा से निष्‍कासित कर दिया जायेगा और उसके द्वारा अभी तक किये गए सभी भुगतान को जब्त कर लिया जायेगा |
  • दिल्ली में और यात्रा के समय किये गए चिकित्सक परीक्षण में यदि यात्री असफल होते है, तो उन्हें यात्रा से निष्‍कासित कर दिया जायेगा | इस प्रकार से किये गए निष्कासन के भुगतान की गयी राशि की किसी भी प्रकार से वापसी नहीं की जाएगी |

ये भी पढ़े: भारत स्टेज 4 (BS-4) और भारत स्टेज 6 (BS-6) क्या है

कैलाश मानसरोवर यात्रा का खर्च

कैलाश मानसरोवर यात्रा

लिपुलेख के रास्ते से कैलाश मानसरोवर यात्रा करने पर लगभग 1.6 लाख रुपये प्रति यात्री खर्च आता है, यही यात्रा नाथुला दर्रे के रास्ते से करने पर दो लाख रुपये का खर्च आता है | लिपुलेख दर्रे के रास्ते में श्रद्धालुओं को पैदल चलना पड़ता है तथा नाथुला मार्ग पर वाहन की सुविधा उपलब्ध रहती है | नाथुला मार्ग से 21 दिन में यात्रा पूरी हो जाती है |

यहाँ पर हमनें आपको कैलाश मानसरोवर यात्रा के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: भारत की राष्ट्रभाषा क्या है 

ये भी पढ़े: आचार संहिता का अर्थ

ये भी पढ़े: यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल