यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल की सूची

यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल 

Table of Contents

यूनेस्को (संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन) संयुक्त राष्ट्र संघ का एक निकाय है, इसके 192 सदस्य देश, सात सहयोगी सदस्य देश और दो पर्यवेक्षक सदस्य देश हैं, इसका कार्य शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति तथा संचार के माध्यम से अंतराष्ट्रीय शांति को बनाये रखना और सम्पूर्ण विश्व को शिक्षा के माध्यम से आगे बढ़ाना है, इस संस्था का गठन 16 नवम्बर 1945 को हुआ था, इसका मुख्यालय पेरिस (फ्रांस) में है, यूनेस्को की विरासत सूची में भारत देश के अनेक ऐतिहासिक इमारत और पार्को  को सम्मिलित किया गया हैं, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: भारत का नक्शा किसने बनाया

 भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल

यूनेस्को की विरासत सूची में भारत देश के 37 विश्व धरोहर स्थलो को सम्मिलित किया गया है, जो इस प्रकार है –

1.एलिफेंटा की गुफाएं

महाराष्ट्र के मुंबई में एलिफेंटा द्वीप या घरापुरी पर एलिफेंटा की गुफाएं स्थित मूर्तियों की गुफाओं की श्रृंखला है, यूनेस्को नें वर्ष 1987 में इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

2.महान चोल मंदिर

चोल साम्राज्य के राजाओं द्वारा महान चोल मंदिरों का निर्माण करवाया गया था, यह सम्पूर्ण दक्षिण भारत और पड़ोसी द्वीपों में बना हुआ है, यूनेस्को नें वर्ष 1987 में इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

3.पत्तदकल के स्मारकों का समूह

कर्नाटक में पत्तदकल के स्मारकों का समूह का निर्माण चालुक्य वंश के दौरान 7वीं और 8वीं शताब्दी में कराया गया था, पत्तदकल उद्धारक कला के रूप में जाना जाता है, वर्ष 1987 में यूनेस्को नें इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

4.सुंदरबन राष्ट्रीय उद्यान

भारत और बांग्लादेश में स्थित विश्व का सबसे बड़ा डेल्टा सुन्दरबन 10,200 वर्ग किमी में विस्तृत है, भारत की सीमा में पड़ने वाला सुन्दरबन का हिस्सा ‘सुन्दरबन राष्ट्रीय उद्यान’ कहलाता है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 1987 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

5.नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान

यह भारत के उत्तराखंड राज्य में नंदा देवी की पहाड़ी पर स्थित है, यूनेस्को नें वर्ष 1988 में इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

6.सांची का बौद्ध स्तूप

यह भारत के मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के सांची में स्थित है, बौद्ध पर्यटकों के लिए सांची काफी लोकप्रिय स्थान है, यूनेस्को नें वर्ष 1989 में इसे विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

7.हुमायूं का मकबरा, दिल्ली

हुमायूं का मकबरा दिल्ली में स्थित 21.60 हेक्टेयर में बना है, जो मुगल वास्तुकला और स्थापत्य शैली का सबसे बेहतर  उदाहरण के रूप में है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 1993 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

8.कुतुब मीनार, दिल्ली

दिल्ली के दक्षिण में स्थित कुतुबमीनार 13वीं सदी में बना था, यूनेस्को नें इसे वर्ष 1993 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

9.भारत के पहाड़ी रेलवे

भारत के पहाड़ी क्षेत्र में तीन रेलवे हैं– दार्जीलिंग हिमालयन रेलवे, नीलगिरि माउंटेन रेलवे, और कालका शिमला रेलवे है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 1999 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

10.बोध गया का महाबोधी मंदिर परिसर

यह सम्राट अशोक द्वारा बनवाया गया पहला मंदिर है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 2001  में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

ये भी पढ़े: अपनी जमीन की जानकारी कैसे देखे

11.भीमबेटका पाषाण आश्रय

यह पांच पाषाण आश्रयों का समूह है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 2003 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

12.चंपानेरपावागढ़ पुरातत्व उद्यान

इसमें प्रागैतिहासिक चैकोलिथिक स्थल, एक प्राचीन हिन्दू राज्य की राजधानी का एक महल व किला व सोलहवीं शताब्दी के गुजरात प्रदेश की राजधानी के अवशेष हैं, यूनेस्को नें इसे 2004 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

13.छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (पहले विक्टोरिया टर्मिनस)

भारत के महाराष्ट्र राज्य के पश्चिमी हिस्से में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (पहले विक्टोरिया टर्मिनस ) अरब सागर के किनारे स्थित है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 2004 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

14.लाल किला परिसर (दिल्ली)

शाहजहां नें वर्ष 1638 में दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया और शाहजहांबाद शहर की आधारशिला रखी, यूनेस्को नें इसे वर्ष 2007 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

15.जंतरमंतर, जयपुर

इसका निर्माण 18वीं सदी के आरंभ में किया गया था , यह जयपुर का जंतर मंतर खगोलीय प्रेक्षण स्थल है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 2010 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

16.पश्चिमी घाट

पश्चिमी घाट 1600 किमी की दूरी में विस्तृत फैला हुआ है, यह  तापी नदी की चोटी से निकलकर कन्याकुमारी की गुफा तक है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 2010 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

17.राजस्थान के पहाड़ी किले

राजस्थान के पहाड़ी किले में छह आलीशान किले– चितौड़गढ़, कुंभलगढञ, सवाई माधोपुर, झालवार, जयपुर और जैसलमेर हैं, यूनेस्को नें इसको 2013 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

18.रानीकीवाव (रानी की बावड़ी) पाटण, गुजरात

रानी– की – वाव का निर्माण 11वीं शताब्दी में एक राजा के स्मारक के तौर पर कराया गया था, यह सरस्वती नदी के तट पर स्थित हैं, यूनेस्को नें इसको 2014 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

19.ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान

यह भारत में हिमाचल प्रदेश राज्य के कुल्लु जिले में स्थित है, ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान को वर्ष 1999 में राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था,यूनेस्को नें इसे वर्ष 2014 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

20.नालंदा महाविहार (नालंदा विश्वविद्यालय), बिहार

बिहार में नालंदा विश्वविद्यालय 3 शताब्दी ईसा पूर्व एक बौद्ध मठ था, यह पुरातत्व साइट सीखनें का एक केंद्र हैं, यूनेस्को नें इसको वर्ष 2014 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया था |

ये भी पढ़े: सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस की खासियत

21.कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान

भारत के सिक्कम राज्य में स्थित कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान या कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान है, यह एक राष्ट्रीय उद्यान और एक बायोस्फीयर रिज़र्व है |

22.कैपिटल कॉम्प्लेक्स, चंडीगढ़

यह भारत के चंडीगढ़ शहर के सेक्टर-1 में स्थित हैं, इसका डिजायन ली कोर्बुज़िए नें तैयार किया था, इसमें तीन इमारतें, तीन स्मारक और एक झील है, जिनमें विधान सभा, सचिवालय, उच्च न्यायालय, मुक्त हस्त स्मारक, ज्यामितीय पहाड़ी और टॉवर ऑफ शैडोज़ शामिल हैं, यह यूनेस्को का एक विश्व विरासत स्थल है |

23.अहमदाबाद

यह गुजरात राज्य में स्थित है पुराना शहर है, जो लगभग 606 वर्ष पुराना है, इसको यूनेस्को नें विश्व धरोहर सिटी के नाम से विश्व विरासत स्थल का स्थान दिया है |

24.मुंबई की विक्टोरियन गोथिकऔर आर्ट डेको

भारत के महाराष्ट्र में मुंबई शहर की  ‘विक्टोरियन गोथिक’ और ‘आर्ट डेको’ यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल किया हैं, यूनेस्को नें इसको वर्ष 2018 में विश्व विरासत स्थल घोषित किया हैं |

25.आगरा का किला

यह उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में स्थित है, इसे आगरा का किला को “लाल किला” भी कहा जाता है, यूनेस्को नें इसे वर्ष 1983 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

26.अजंता की गुफाएं

अजंता की गुफाओं में चट्टानों की बनी करीब 30 बौद्ध गुफा स्मारक हैं, यह महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले में स्थित है, यूनेस्को नें इसको वर्ष 1983 में विश्व धरोहर स्थल की सूची शामिल किया हैं |

27.एलोरा की गुफाएं

एलोरा की गुफाएं महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले में स्थित है, इसको यूनेस्को नें वर्ष 1983 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

28.ताज महल

यह विश्व प्रसिद्ध आठ अजूबो में गिना जाता है, यह भारत में उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में यमुना नदी के किनारे स्थित है, इसका निर्माण कार्य 1632 ई. से  1648  ई. तक हुआ, यूनेस्को नें  वर्ष 1983 में इसे विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

29.महाबलीपुरम के स्मारकों का समूह

इसका निर्माण पल्लव राजाओं द्वारा कराया गया था, यूनेस्को नें इसको वर्ष 1984 में  विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

30.सूर्य मंदिर कोणार्क

यह भारत के ओडीशा राज्य में स्थित है, इसे वास्तुकला का अदभुत चमत्कार माना जाता है, इसको पर्यटकों के प्रमुख आकर्षण केंद्र के रूप में जाना जाता है, यूनेस्को नें इसको वर्ष 1984 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

31.काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में सबसे अधिक बाघ पाए जाते हैं, इसे 2006 में टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था, यूनेस्को नें इसको वर्ष 1985 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

ये भी पढ़े: बॉलीवुड सिंगर कैसे बने 

32.केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान

यह  आगरा और जयपुर के बीच में स्थित है, इसको भरतपुर पक्षी अभयारण्य के नाम से भी जाना जाता है, यूनेस्को नें इसको वर्ष 1985 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

33.मानस वन्यजीव अभयारण्य

यह भारत के असम राज्य में भूटान देश की हिमालय पर्वतमाला की तलहटी में स्थित है, इसको यूनेस्को नें वर्ष 1985 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

34.गोवा के चर्च और आश्रम (कॉन्वेंट)

यह भारत के गोवा राज्य में पुर्तगाली शासन के समय से स्थित है, इसको वर्ष 1986 में विश्व धरोहर स्थल के रूप में यूनेस्को नें घोषित किया था |

35.फतेहपुर सीकरी

मुग़ल बादशाह अकबर नें 16वीं सदी में फतेहपुर सीकरी का निर्माण करवाया था, इसको वर्ष 1986 में विश्व धरोहर स्थल  के रूप में घोषित किया था |

36.हंपी में स्मारकों का समूह

हंपी में स्मारकों के समूह में अंतिम महान हिन्दू साम्राज्य विजयनगर की राजधानी के अवशेष प्राप्त होते है, यूनेस्को नें इसको वर्ष 1986 में  विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

37.खजुराहो के स्मारकों का समूह

खजुराहो के स्मारकों का समूह, एक मंदिरो का समूह है, जिसको चंदेल शासकों नें 900 और 1130 ई. के बीच निर्माण करवाया था,  यूनेस्को नें इसे वर्ष 1986 में विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था |

यहाँ पर हमनें आपको यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल की सूची के बारे में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: अपनी राशि कैसे जाने