बेरोजगारी समस्या और समाधान पर निबन्ध

बेरोजगारी समस्या और इसके समाधान हेतु महतवपूर्ण जानकारी (Important information for Unemployment Problem and Its Solution) 

भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था परन्तु आज आजादी के इतने सालों बाद भी हमारा देश बेरोजगारी की समस्या से लड़ रहा है | लोगों के पास हाथ है, पर काम नहीं है | प्रशिक्षण है, पर नौकरी नहीं है | आज के समय में युवाओं के लिए सरकार द्वारा संचालित योजनाओं और उत्साह के बारे में बताया जाता है ,लेकिन अवसर नहीं मिल पाता है| अवसर न मिलनें के कारण युवाओं की प्रतिभा व्यर्थ हो जाती है | इससे युवाओं की मानसिकता पर विपरीत प्रभाव पड़ता है | इस पेज पर बेरोजगारी समस्या और इसके समाधान के विषय में विस्तार से बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: उत्तर प्रदेश बेरोजगार भत्ता (UP Berojgari Bhatta)

ये भी पढ़ें: क्या है प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

बेरोजगारी समस्या क्या है (What is Unemployment Problem)

बेरोजगार उस व्यक्ति को कहा जाता है, जो वर्तमान समय में प्रचलित मजदूरी दर पर कार्य करना चाहता है, परन्तु उसे कार्य उपलब्ध नहीं है| यदि किसी व्यक्ति को उसकी योग्यता के अनुरूप  रोजगार नहीं मिल पाता है, उसे बेरोजगार माना जाता है|

मौसमी बेरोजगारी (Seasonal Unemployment)

इस प्रकार की बेरोजगारी में वर्ष के कुछ समय के लिए कार्य मिलता है | इसमें कृषि, रिसॉर्ट्स और बर्फ कारखाने इत्यादि उद्योग शामिल किये जाते है | कृषि की जुताई, बोवाई, कटाई आदि के समय रोजगार प्राप्त होता है उसके बाद लोग बेरोजगार हो जाते हैं |

ये भी पढ़ें: क्या है स्टार्टअप इंडिया, स्टैंडअप इंडिया

ये भी पढ़ें: www.mahaswayam.in Online Employment Registration in Hindi

प्रछन्न बेरोजगारी (Hidden Unemployment)

इस प्रकार की बेरोजगारी में कुछ लोगों की उत्पादकता शून्य होती है, यदि इन लोगों को उस काम में से हटा दिया जाता है तो उत्पादन में कोई अंतर नहीं पड़ता है |

ये भी पढ़ें: (Private Jobs) प्राइवेट नौकरी कैसे पाए फॉर फ्रेशेर्स

अल्प बेरोजगारी (Low Unemployment)

इस प्रकार की बेरोजगारी में व्यक्ति जितने समय कार्य कर सकता है, उससे कम समय उसे कार्य प्राप्त होता है अथार्त इसमें क्षमता से कम काम मिलता है |

ये भी पढ़ें: मार्केट रिसर्च के क्षेत्र में बेहतर करियर की संभावनाए

बेरोजगारी के कारण (Reason Of Unemployment)

बेरोजगारी के मुख्य कारण इस प्रकार है-

1.जनसंख्या वृद्धि (Population Growth)

बेरोजगारी का सबसे बड़ा कारण जनसंख्या वृद्धि है, भारत विश्व में दूसरे स्थान पर जनसँख्या के कारण है | हर वर्ष बढती हुई जनसंख्या बेरोजगारों की कतार को और अधिक लम्बा कर जाती है | बढ़ती हुई संख्या के अनुरूप रोजगार के अवसरों में बहुत ही कम वृद्धि हो रही है |

2.यंत्रीकरण (Mechanization)

आज के समय में उद्योगों में यंत्रीकरण अथवा मशीनीकरण हो रहा है, इससे गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी हो रही है, परन्तु एक मशीन कई श्रमिकों का कार्य अकेले कर सकती है, जिससे केवल एक व्यक्ति ही मशीन का संचालन करके पूरा कार्य कर सकता है, इससे अन्य व्यक्ति बेरोजगार हो जाते है |

ये भी पढ़ें: पर्यटन क्षेत्र में करियर कैसे बनाये ?

समाधान (Solution)

  • बेरोजगारी को दूर करने के लिए हमें जनसंख्या वृद्धि पर नियंत्रण करना होगा इसके लिए भारत सरकार और राज्य सरकार के द्वारा कड़े कानून का निर्माण करना होगा और लोगों को इसके प्रति जागरूक करना होगा |
  • व्यावसायिक शिक्षा, लघु उद्योगों को प्रोत्साहन, मशीनीकरण पर नियंत्रण, रोजगार के नए अवसरों की तलाश आदि उपायों को शीघ्रता से लागू करना होगा |
  • लोगों की स्किल को स्किल डेवलपमेंट कार्यक्रम के द्वारा बढ़ाना होगा जिससे वह नए- नए क्षेत्र में पारंगत हो सके और अपना जीवन स्तर उच्च कर सके |

ये भी पढ़ें: कैंपस प्लेसमेंट की तैयारी कैसे करे

यहाँ पर हमनें बेरोजगारी समस्या और समाधान के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: जानिये PM मोदी द्वारा सरकारी योजनाएं !

ये भी पढ़ें: कैसे बनाये अच्छी Communication Skills

ये भी पढ़ें: मोटिवेटर कैसे बने (Motivator Kaise Bane)