वीवीपीएटी (VVPAT) मशीन क्या है ?

वीवीपीएटी मशीन कैसे कार्य करती है ? (VVPAT Machine Work)

निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव प्रक्रिया को पारदर्शी और डिजिटल बनाने के लिए वीवीपीएटी (VVPAT) मशीन का प्रयोग किया जा रहा है| इस मशीन के प्रयोग के कारण बैलेट पेपर को पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है, जिससे चुनाव में होने वाली धांधली पर रोक लगायी जा सकी है| इस मशीन के प्रयोग से मतगणना में होनें वाली गलती को आसानी से पकड़ा जा सकता है, और चुनाव परिणाम को समय पर जारी करनें, तथा विवाद की स्थिति को सुलझानें में सहायक है| इस पेज पर वीवीपीएटी (VVPAT) मशीन से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: ब्लाक प्रमुख (Block Pramukh) का चुनाव कैसे होता है

ये भी पढ़े: ग्राम प्रधान कैसे बने, चुनाव कैसे होता है

वीवीपीएटी का फुल फॉर्म (VVPAT Full Form)

वीवीपीएटी (VVPAT) का फुल फॉर्म ‘वोटर वेरीफ़ाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल’ (Voter Verifiable Paper Audit Trail) है

ये भी पढ़े: नोटा (NOTA) क्या है

ये भी पढ़े: लोकसभा का चुनाव कैसे होता है

वीवीपीएटी मशीन क्या है (VVPAT Machine Kya Hai)

वीवीपीएटी (VVPAT) एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है, जो ईवीएम मशीन के साथ अटैच रहती है, जब मतदाता वोट डालता है, उस समय वीवीपीएटी में एक पर्ची जनरेट होती है, जिसको स्क्रीन पर सात सेकंड के लिए देखा जा सकता है, इसके बाद यह पर्ची बॉक्स में लॉक हो जाती है| वोट डालने के बाद मतदाता अपने डाले हुए वोट को देख सकता है, इससे उसे संतुष्टि होती है, कि मैंने जिसको वोट किया है, मेरा मत उसी को मिला है

इस मशीन के द्वारा मतगणना में यदि किसी भी प्रकार की त्रुटि होने की सम्भावना होती है, उस परिस्थति में वीवीपीएटी (VVPAT) मशीन के द्वारा जनरेट हुई पर्ची की गिनती कर के आडिट किया जा सकता है | जिससे चुनाव प्रक्रिया पारदर्शी बन जाती है और जनता का भरोसा निर्वाचन आयोग के ऊपर बढ़ जाता है |

ये भी पढ़े: ग्राम पंचायत वोटर नई लिस्ट कैसे देखे (Gram Panchayat Voter List)

ये भी पढ़े: बहुमत क्या होता है, विशेष और साधारण बहुमत में अंतर

वीवीपीएटी मशीन के निर्माता (VVPAT Maker’s)

वीवीपीएटी (VVPAT) मशीन का निर्माण भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के द्वारा किया जाता है सर्वप्रथम इस मशीन का डिजायन वर्ष 2013 में डिज़ायन किया गया था | इस मशीन का सबसे पहला प्रयोग वर्ष 2013 में नागालैंड के चुनाव में किया गया था | यह परिक्षण सफल साबित हुआ इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने वीवीपैट मशीन बनाने और इसके लिए धन की व्यवस्था करने के लिए केंद्र सरकार को आदेश जारी किया | इसके बाद केंद्र सरकार ने लोकसभा चुनाव 2019 में किया जायेगा |

ये भी पढ़े: नई राजनीतिक पार्टी (Political Party) कैसे बनाये

यहाँ पर हमनें आपको वीवीपीएटी (VVPAT) मशीन के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: राज्यसभा सदस्य का चुनाव कैसे होता है

ये भी पढ़े: राज्यसभा के कार्य,शक्ति और अधिकार

ये भी पढ़े: (ऑनलाइन) www.nvsp.in मतदाता सूची में अपना नाम कैसे खोजें