भारत की सबसे ऊंची मूर्तियों की सूची

भारत की सबसे ऊंची मूर्तियों की जानकारी (About India’s Tallest Statues)

Table of Contents

भारत की संस्कृति में धर्म का महत्त्वपूर्ण स्थान रहा है| भारत एक ऐसा देश है, जहां हिंदू समुदाय के सर्वाधिक लोग निवास करते है, और भारत में ही सबसे अधिक मंदिर मौजूद हैं| यहां सदियों से मूर्तियों को ईश्वर की भक्ति और प्रेम का माध्यम माना जाता है| प्राचीन अवैदिक मानव पहले आकाश, समुद्र, पहाड़, बादल, बारिश, तूफान, जल, अग्नि, वायु, नाग, सिंह आदि प्राकृतिक शक्तियों की शक्ति से परिचित था और वह जानता था, कि यह मानव शक्ति से कहीं ज्यादा शक्तिशाली है, इसलिए वह इनकी प्रार्थना करता था, हालाँकि बाद में धीरे-धीरे इसमें बदलाव आने लगा। व्यक्ति यह मानने लगा कि कोई एक ऐसी शक्ति है, जो इन सभी को संचालित करती है। वेदों में सभी तरह की प्राकृतिक शक्तियों का का गुणागान किया गया है। वस्तुत: भारतीय लोगों का इन मूर्तियों पर अटूट विश्वास और श्रद्धा है| यहाँ हर आकार और प्रकार की मूर्तियाँ मिलती हैं| कुछ मूर्तियाँ इतनी छोटी होती हैं, कि इन्हें छोटी सी डिब्बी में रख कर लोग शुभदायक वस्तु के रूप में जेब में रखते हैं| वहीँ कुछ मूर्तियाँ इतनी विशाल हैं, जिन्हें मीलों दूर से देखा जा सकता है| कुछ ऐसी ही विशाल मूर्तियों के बारे में जानकारी दे रहे है|

ये भी पढ़े: यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल की सूची

ये भी पढ़े: भारत रत्न पुरस्कार विजेता की सूची (नवीनतम)

भारत की सबसे ऊंची मूर्तियां (India’s Tallest Statues)

1.स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, वडोदरा गुजरात (Statue Of Unity)

सरदार पटेल की मूर्ति सिर्फ भारत में ही नहीं दुनिया में सबसे ऊंची है| सरदार पटेल की इस गगनचुंबी मूर्ति की ऊंचाई 182 मीटर अर्थात 597 फीट है। इस मूर्ति के निर्माण में लगभग 42 माह का समय लगा है। इस प्रतिमा को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी कहा जाता है| इसका निर्माण नर्मदा नदी के तट पर नर्मदा डैम के पास किया गया है। स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी गुजरात में वडोदरा से 90 किलोमीटर की दूरी पर है| सरदार सरोवर बांध के पास इस स्थान का नाम साधु बेट द्वीप है, यह मूर्ति नर्मदा नदी के बीच बनी हुई है|

2.वीर अभय अंजनेया स्वामी, आंध्र प्रदेश (Veer Abhay Anjaneya Swamy)

वीर अभय अंजनेया स्वामी नाम की मूर्ति महानतम राम भक्त भगवान हनुमान की एक विशाल प्रतिमा है| यह आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा के पास परिताला शहर में स्थित है| इस प्रतिमा की ऊंचाई 135 फुट है| हनुमान स्वामी प्रतिमा की स्थापना 22 जून 2003 में हुई थी|

ये भी पढ़े: भारत के अब तक के गृहमंत्री की सूची | List of Home Minister of India

3.पद्मसंभव की प्रतिमा, मंडी, हिमाचल प्रदेश (Statue of Padmasambhava)

पद्मसंभव का शाब्दिक अर्थ होता है कमल से उत्पन्न हुआ| पद्मसंभव भारत के एक साधु पुरुष थे, जिन्होंने आठवीं सदी में बौद्ध धर्म को भूटान एवं तिब्बत में ले जाकर प्रचार-प्रसार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी| वहाँ उनको गुरू रिन्पोछे या लोपों रिन्पोछे के नाम से भी जाना जाता है| पद्मसंभव की प्रतिमा हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में प्रसिद्ध रेवालसर झील के पास स्थित एक विशालतम मूर्तियों में है| पद्मसंभव प्रतिमा की ऊंचाई 123 फीट है|

4.मुरुदेश्वर भगवान, कर्नाटक (Murudeshwar Bhagwan, Karnataka)

भगवान शिव की यह विशाल मूर्ति दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य में उत्तर कन्नड़ जिले के मुरुदेश्वर शहर में स्थित है| मुरुदेश्वर का नाम भगवान शिव के नाम पर पड़ा है, यह बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है| मुरुदेश्वर सागर तट कर्नाटक के सब से सुंदर तटों में से एक है| पर्यटकों के लिए यहाँ आना दोगुना लाभप्रद है| जहां एक ओर जहां इस धार्मिक स्थल के दर्शन होते हैं और वहीं दूसरी तरफ प्राकृतिक सुन्दरता का आनंद भी मिलता है| इस मंदिर व प्रतिमा की ऊंचाई 122 फुट है|

ये भी पढ़े: रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट की सूची

5.हनुमान की मूर्ति, शिमला, हिमाचल प्रदेश (Statue of Hanumanji)

नुमान जी की यह मूर्ति हिमाचल प्रदेश में शिमला के निकट जाखू पहाड़ी पर स्थित है| इस मूर्ति की ऊंचाई 108 फुट हैं| विशालकाय हनुमान प्रतिमा, बर्फ से लदी चोटियों, पर्यटन स्थलों का भ्रमण और सुरम्य घाटियों के साथ शिमला एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण स्थल हैं| यह प्रतिमा वर्ष 2010 में स्थापित की गई थी| यहां से पर्यटक सूर्योदय और सूर्यास्त के लुभावने दृश्यों का आनंद प्राप्त कर सकते हैं|

6.मिन्ड्रोलिंग मठ बुद्ध प्रतिमा, देहरादून (Mindrolling Monastery Buddha Statue)

भगवान गौतम बुद्ध यह विशाल की प्रतिमा देहरादून मिंद्रोल्लिंग मठ में स्थित है| मिन्ड्रोलिंग मठ भारत के प्रमुख मठों और तिब्बत में न्यिंगमा स्कूल के छह प्रमुख मठों में से एक है| इस मठ की ऊंचाई 107 फुट है|

ये भी पढ़े: भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज की सूची (List Of Top Universities In India)

7.नांदुरा मारुति मूर्ति, महाराष्ट्र (Nandura Maruti Murthy, Maharashtra)

भगवान हनुमान जी की यह मूर्ति महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में नांदुरा शहर में स्थित है| यह नांदुरा तालुका का मुख्यालय है| नांदुरा नगर पालिका 1931 में ब्रिटिश राज के दौरान स्थापित किया गया था, इस मूर्ति की ऊंचाई 105 फुट है|

8.शिव मूर्ति, हर की पौड़ी, हरिद्वार (Statue Of Lord Shiva)

भगवन शिव की यह मूर्ति भारत के उत्तराखंड राज्य के धार्मिक स्थल हरिद्वार में स्थित है| हर की पौड़ी का भावार्थ है हरी यानी नारायण के चरण| इस प्रतिमा की ऊंचाई 100 फुट है| यहाँ पर स्नान करना हरिद्वार आए हर श्रद्धालु की सबसे प्रबल इच्छा होती है, क्योंकि यह माना जाता है, कि यहाँ पर स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है|

ये भी पढ़े: भारत के वर्तमान मुख्यमंत्री (Chief Minister) की सूची

9.संत तिरुवल्लुवर की प्रतिमा, कन्याकुमारी (Statue of Saint Thiruvalluvar)

संत तिरुवल्लुवर की यह प्रतिमा कन्याकुमारी का प्रमुख चिन्ह स्थान है| यह पत्थर की बनी एक विशाल खड़ी प्रतिमा है और प्रसिद्ध सन्त और तमिल कवि थिरूवल्लूवर को समर्पित है| थिरूवल्लूवर प्रतिमा की ऊँचाई लगभग 133 फीट है| प्रतिमा के आधार की ऊँचाई लगभग 38 फीट है| यह थिरूवल्लूवर द्वारा रचित थिरूकुलाल पुस्तक के अरम के 38 अध्यायों को दर्शाता है|

10.चिन्मय गणाधीश, महाराष्ट्र (Chinmay Ganadhish, Maharashtra)

चिन्मय गणाधीश प्रतिमा महाराष्ट्र में कोल्हापुर में स्थित भगवान गणेश की सबसे ऊंची मूर्ति है| इस प्रतिमा की ऊंचाई 85 फुट है| इस प्रतिमा का अभिषेक 19 नवंबर 2001 में हुआ था|

ये भी पढ़े: दुनिया के सबसे अमीर देशों की सूची

11.आदिनाथ बवांगाजा, मध्यप्रदेश (Adinath Bawangaja, Madhya Pradesh)

भगवान आदिनाथ बावनगजा की प्रतिमा की ऊंचाई 84 फुट है| भगवान आदिनाथ बवांगाजा की ये मूर्ति मध्यप्रदेश के बडवानी जिले में स्थित है| यह स्थान देश का एक प्रसिद्द जैन तीर्थ स्थल है| इस मूर्ति का निर्माण पत्थर को ताराश्कर किया गया है, इसीलिए इसका रंग भूरा है, परन्तु इसकी ख़ास बात यह है, कि इसका निर्माण 12वीं शताब्दी में हुआ था|

यहाँ पर हमनें भारत की सबसे ऊंची मूर्तियों के बारें में बताया| यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है|

ये भी पढ़े: भारत के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची

ये भी पढ़े: भारत के टॉप 10 लॉ कॉलेज – सूची सहित हिंदी में

 ये भी पढ़े: भारत के मुख्य न्यायाधीश (चीफ जस्टिस) की सूची (नवीनतम)