होली (Holi) क्यों मनाई जाती है ?

होली (Holi) त्यौहार से सम्बंधित जानकारी 

भारतवर्ष में हिन्दुओं का मुख्य त्यौहार होली है | यह त्यौहार लगभग सभी धर्मों के द्वारा मनाया जाता है, इसे रंगों के त्यौहार के रूप में जाना जाता है, होली में सभी लोग रंग, गुलाल का प्रयोग करके एक दूसरे के गले मिलते है, रंग खेलने के बाद शाम के समय सभी लोग एक- दूसरे के घर जाकर होली मिलन समारोह मनाते है, तथा नए- नए व्यंजनों के साथ गुजिया और पापड़ का आनंद लेते है, बहुत लोग यह नहीं जानते है, कि होली क्यों मनाई जाती है ? आपको इस पेज पर होली मनाने के कारण, होली की शायरी और मैसेज के बारे में विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: दिवाली (दीपावली) का त्यौहार कैसे मनाया जाता है

ये भी पढ़े: भैया दूज कब है

होली मानाने के पीछे पौराणिक कथा (Mythology)

हिरण कश्यप नाम का एक राक्षस था| उसका एक पुत्र प्रहलाद था| प्रहलाद भगवान विष्णु का परम भक्त था| हिरण कश्यप भगवान विष्णु का विरोधी था,  इस कारण से वह अपने पुत्र से अप्रसन्न रहता था| हिरण कश्यप ने कई बार अपने पुत्र को समझाया की वह भगवान विष्णु की आराधना न किया करे, परन्तु प्रहलाद ने हिरण्य कश्यप की बात को मानने से मना कर दिया| हिरण्य कश्यप ने अपने पुत्र को कई प्रकार से भयभीत किया परन्तु प्रहलाद डरे नहीं, अंत में हिरण्य कश्यप ने प्रहलाद को मारने का निर्णय किया |

हिरण्य कश्यप ने प्रहलाद को मारने के लिए कई प्रकार के षडंयत्र रचे परन्तु सभी में वह असफल हो गया|  हिरण्य कश्यप की एक बहन होलिका थी| होलिका को यह वरदान प्राप्त था, कि उसे आग नहीं जला सकती है, इस कारण हिरण्य कश्यप ने अपनी बहन को प्रहलाद को गोद में लेकर आग पर बैठने को कहा, होलिका प्रहलाद को अपनी गोद में लेकर अग्नि वेदिका पर बैठ गयी| प्रहलाद ने भगवान विष्णु का स्मरण किया, तभी अचानक होलिका जलने लगी उसी समय आकाश वाणी हुई, जिसके अनुसार उसे याद दिलाया गया कि यदि वह वरदान का दुरुप्रयोग करेगी तो स्वयं जल जाएगी| प्रहलाद को भगवान विष्णु की भक्ति के कारण कुछ नहीं हुआ और होलिका जलकर राख हो जाती है | इसे ही होलिका दहन के नाम से जाना जाता है, इसे प्रत्येक वर्ष बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए याद किया जाता है और इसे त्यौहार के रूप में बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया जाता है |

ये भी पढ़े: छठ पूजा कब है

वर्ष 2019 में होली कब है ? (Holi In 2019)

भारत में लगभग सभी त्यौहार हिंदी पंचाग के अनुसार मनाये जाते है, यह त्यौहार फाल्गुन माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है, इसे बंसत ऋतु के स्वागत का त्यौहार माना जाता है| वर्ष 2019 में होली का त्यौहार 20 मार्च 2019 को गुरुवार के दिन मनाई जाएगी |

होलिका दहन का मुहूर्त 20.58 से 24:34
समय अवधि 3 घंटा 36 मिनट
भद्रा पूंछा 17:24 से 18:25
भद्रा मुख 18:25 से 20:07

ये भी पढ़े: धनतेरस पर धन प्राप्ति के उपाय

ये भी पढ़े: धनतेरस पर क्या खरीदना चाहिए

कैसे मानते है, होली का त्यौहार (Holi Celebrated)

होली का त्यौहार सम्पूर्ण भारत में मनाया जाता है, परन्तु उत्तर भारत में इसे अधिक हर्षोउल्लास से मनाया जाता है| होली मनाने के लिए लोग ब्रज, वृंदावन, गोकुल में जाते है, यहां पर होली बहुत ही धूम -धाम से मनाई जाती है| इन स्थानों पर कई दिनों तक होली का त्यौहार मनाया जाता है|

ब्रज में ऐसी प्रथा है, जिसमे पुरुष महिलाओं पर रंग डालते है और महिलाएं उन्हें डंडों से पीटती है| यह बहुत ही प्रसिद्ध प्रथा है, जिसे देखने के लिए लोग दूर- दूर से आते है |

होली दहन के दूसरे दिन लोग रंग खेलते है, यह रंग दोपहर तक चलता है, दोपहर के बाद लोग स्नान करके नए- नए कपड़े पहन कर लोगों से होली मिलने जाते है| इस प्रकार होली का त्यौहार मनाया जाता है |

ये भी पढ़े: धनतेरस कब है

होली की शायरी और मैसेज (Message & Shayari)

1.मथुरा की खुशबु, गोकुल का हार,

वृदावन की सुगंध, बरसाने की फुहार,

राधा की उम्मीद, कान्हा का प्यार,

मुबारक हो आपको होली का त्यौहार|

 

2.रंगों का त्यौहार है थोड़ी ख़ुशी से मना लेना,

हम थोडा दूर हैं आपसे,

जरा गुलाल हमारी तरफ़ से भी लगा लेना…

 

3.पूर्णिमा का चाँद रंगों की डोली,

चाँद से उसकी चाँदनी बोली,

खुशियों से भरे आपकी झोली,

मुबारक हो आपको रंग बिरंगी होली..

 

4.रंगों का त्यौहार मुबारक हो,

खुशियों की फुहार मुबारक हो,

सात रंग से सजे आपका जीवन,

एक नहीं दो नही सौ सौ बार मुबारक,

होली की हार्दिक शुभकामनाएं||

ये भी पढ़े: दीपावली लक्ष्मी पूजन मुहूर्त क्या है ?

5.हमेशा मीठी रहे आपकी बोली,

खुशियों से भर जाए आपकी झोली,

आप सबको मेरी तरफ से हैप्पी होली..

 

6.रंगों के त्यौहार में सभी रंगों की हो भरमार,

रंगों के त्यौहार में सभी रंगों की हो भरमार,

ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार.

यही दुआ है भगवान से हमारी हर बार,

होली मुबारक हो आपको दिल से हर बार…!

 

7.गुलाब का रंग गुब्बारों की मार,

गुलाब का रंग गुब्बारों की मार,

सूरज की किरणें खुशियों की भरमार,

चाँद की चांदनी अपनों का प्यार,

मुबारक हो आपको रंगों का त्योहार..!

 

8.खुशियाँ हो Overflow

मस्ती कभी न हो Low

तुम्हारी होली हो एकदम नंबर One

और तुम करो Whole Lots of Fun

 

9.राधा का रंग और कान्हा कि पिचकारी,

प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी,

ये रंग ना जाने कोई जात ना कोई बोली,

मुबारक हो आपको रंगों भरी होली |

यहाँ पर हमनें आपको होली के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: अमेज़न (Amazon) से शॉपिंग (Shopping) कैसे करे