अकाउंटिंग और ऑडिटिंग फील्ड में करियर कैसे बनाये

अकाउंटिंग और ऑडिटिंग फील्ड में करियर 

अकाउंटिंग  फील्ड  के अंतर्गत आपको किसी संस्था में रोजाना होने वाले लेन-देन का हिसाब रखना होता है और ऑडिटिंग के अंतर्गत आपको संस्था की अकाउंटिंग बुक्स की समीक्षा करनी होती है, अधिकतर कंपनी अपने यहाँ अकाउंटिंग के लिए जॉब निकलती है, परन्तु अकाउंटिंग के कार्य कि जाँच किसी अन्य व्यक्ति या संस्था से करवाते है, उसे ही ऑडिटिंग कहा जाता है, भारत में कंपनी अधिनियम के अनुसार किसी कंपनी का आडिट केवल चार्टर्ड एकाउंटेंट के द्वारा ही हो सकता है, इसलिए चार्टर्ड एकाउंटेंट का पद अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाता है, अकाउंटिंग और ऑडिटिंग फील्ड में करियर कैसे बनाये ? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: विज्ञापन के क्षेत्र में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: चार्टर्ड एकाउंटेंट कैसे बने

सरकारी क्षेत्र में अवसर

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) द्वारा इसके लिए प्रत्येक वर्ष नोटिफिकेशन निकालती है, जिसके माध्यम से आप सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते है, एसएससी की परीक्षा के बाद यदि आपका चयन होता है, तो आपको सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों, आयकर या सीमा शुल्क कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र की किसी भी इकाई जैसे बिजली बोर्ड इत्यादि में आपको ज्वाइनिंग मिल सकती है |

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी

शैक्षणिक योग्यता

अभ्यर्थी को बारवीं की परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है, इसके पश्चात् आप बैचलर या डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश प्राप्त कर सकते है |

प्रवेश प्रक्रिया

कुछ विश्वविद्यालय और कॉलेज बारवीं की परीक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर मेरिट बना कर प्रवेश देते है, और कुछ कॉलेज प्रवेश परीक्षा, ग्रुप डिस्कशन व साक्षात्कार के बाद प्रवेश देते हैं |

ऑडिटिंग के प्रसिद्ध सर्टिफिकेशन

आईसीएआई सर्टिफिकेशन (भारत)

बारवीं की परीक्षा के बाद आप चार्टर्ड अकाउंटेंट बननें के लिए कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट (सीपीटी) दे सकते है, इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाता है, पहली बार यह जून महीनें में और दूसरी बार दिसंबर महीनें में आयोजित की जाती है, कॉमर्स संकाय से स्नातक उत्तीर्ण छात्र 55 फीसदी तथा साइंस व आर्ट्स ग्रेजुएट के छात्रों को 60 फीसदी अंक सीपीटी परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: भारत के टॉप 10 लॉ कॉलेज

सर्टिफाइड इंटरनल ऑडिटर (सीआईए)

वैश्विक स्तर पर एक ऑडिटर के रूप में कार्य  करने के योग्य होने के लिए एक अकाउंटेंट के पास यह सर्टिफिकेशन होना अनिवार्य है,  यह सर्टिफिकेशन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनल ऑडिटर्स (आईआईए) द्वारा कराया जाता है ।

सीआईए के लिए योग्यता

अभ्यर्थी को स्नातक उत्तीर्ण होना अनिवार्य है, इसकी अवधि चार साल की होती है, इसकी सभी परीक्षाओं को इस अवधि में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है, इसको सफलता पूर्वक उत्तीर्ण होने के बाद आपको दो वर्ष का इंटरनल ऑडिट में अनुभव प्राप्त करना अनिवार्य है, यदि अभ्यर्थी एमकॉम उत्तीर्ण है, तो उसके लिए केवल एक वर्ष का अनुभव अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: बिजनेस की शुरुआत कैसे करे

ऑडिटिंग में जॉब के अवसर

भारत में ऑडिटिंग के जॉब आपके पास इंटरनल ऑडिटर, एक्सटर्नल ऑडिटर, गवर्नमेंट ऑडिटर, फॉरेंसिक ऑडिटर के रूप में प्राप्त होते है, यह अवसर आपको मेन्युफैक्चरिंग सेक्टर, इंश्योरेंस व बैंकिंग सेक्टर, कॉर्पोरेट, पब्लिक सेक्टर, एनजीओ इत्यादि में आसानी से प्राप्त हो जाते है |

अकाउंटेंसी के प्रमुख सर्टिफिकेट

अकाउंटेंसी के क्षेत्र में प्रमुख सर्टिफिकेट इस प्रकार है-

एसोसिएशन ऑफ चार्टर्ड सर्टिफाइड अकाउंटेंट्स

अकाउंटेंसी के क्षेत्र में प्रवेश के लिए  एसीसीए सर्टिफिकेट को पासपोर्ट माना जाता है, जिसके माध्यम से आप इस क्षेत्र में आसानी से प्रवेश प्राप्त कर सकते है, इस सर्टिफिकेट के द्वारा छात्र अकाउंटिंग और फाइनेंस मैनेजर के रूप में कार्य कर सकते है |

एसीसीए के लिए योग्यता

बारवीं की परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद आप इसमें प्रवेश प्राप्त कर सकते है, इसकी अवधि तीन साल की है, कॉमर्स संकाय से उत्तीर्ण छात्र के लिए इसकी अवधि दो से ढाई साल की होती है, इस सर्टिफिकेट के माध्यम से आप मैनेजमेंट अकाउंटिंग एग्जीक्यूटिव, अकाउंट एग्जीक्यूटिव, क्रेडिट असिस्टेंट, असिस्टेंट फ्यूचर्स ट्रेड, असिस्टेंट टैक्स ऑफिसर आदि पदों पर कार्य कर सकते है |

ये भी पढ़े: Income Tax अधिकारी कैसे बने

सर्टिफाइड मैनेजमेंट अकाउंटेंट (सीएमए)

सीएमए  सर्टिफिकेट विश्व स्तर पर मान्य है, इसको करने के बाद आप किसी मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब प्राप्त कर सकते है, इसके माध्यम से आप किसी भी  बहुराष्ट्रीय कंपनी के वित्तीय रिकॉर्ड को चेक कर सकते है, इस सर्टिफिकेट को इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट अकाउंटेंट द्वारा सीएमए (अमेरिका) के लिए  जारी किया जाता है, इसकी अवधि छ: महीनें की होती है भारत के लिए यह सर्टिफिकेट इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया जारी करता है, इस कोर्स की अवधि तीन से लेकर चार साल की होती है |

शैक्षिक योग्यता

स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद इसके  साथ अतिरिक्त कोर्स के रूप में फाइनेंस और अकाउंटिंग में डिग्री होनी चाहिए, इसके लिए दो वर्ष का अनुभव आवश्यक है |

प्राप्त पद

फाइनेंस मैनेजर, अकाउंटिंग मैनेजर, बजटिंग मैनेजर, इंटरनल ऑडिटर, इनवेस्टमेंट मैनेजर, कॉस्टिंग और फाइनेंशियल मैनेजर आदि  |

ये भी पढ़े: Career In Law After 12th-Graduation

सर्टिफाइड पब्लिक अकाउंटेंट (सीपीए)

यह सर्टिफिकेट अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है, इस कोर्स को सीए व समकक्ष कोर्स वाले,एमकॉम और एमबीए किए हुए अभ्यर्थी कर सकते है, इस कोर्स में स्नातक और परास्नातक के  आधार पर क्रेडिट आवर्स निर्धारित किये जाते है, अधिकतर राज्यों में बीकॉम के आधार को स्वीकार्य नहीं किया है, इसकी अवधि एक वर्ष छ: महीनें की होती है, अभ्यर्थी को इसके अंदर परीक्षा उत्तीर्ण करनी अनिवार्य है |

सॉफ्टवेयर्स का ज्ञान

अभ्यर्थी को छोटी कम्पनी में कार्य करने के लिए ईआरपी, टैली, क्विकबुक्स जैसे सॉफ्टवेयर का प्रयोग करना आना चाहिए, बड़ी कंपनियों में जोहोबुक्स, बिजी, मार्ग जैसे सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है, इसलिए यदि आपको इन सॉफ्टवेयर का सही से ज्ञान है, तो आपको जॉब मिलनें की संभावना अधिक हो जाती है |

वेतन

इस क्षेत्र में अच्छी डिग्री प्राप्त करने के बाद अच्छा अनुभव भी आवश्यक है, इसके बाद आपके पास जॉब के अनेक अवसर प्राप्त होने लगेंगे, भारत में एक ऑडिटर का वेतन लगभग तीन से चार लाख रुपये प्रतिवर्ष हैं, अकाउंटेंट के रूप में आप दो से साढ़े तीन लाख रुपये प्रतिवर्ष आसानी से प्राप्त कर सकते है, यह वेतन पद और अनुभव के आधार पर बढ़ता रहता है |

ये भी पढ़े: One Nation One Exam- क्या है ?

यहाँ पर हमनें आपको अकाउंटिंग और ऑडिटिंग फील्ड में करियर के विषय में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: IRS (Indian Revenue Service) Officer कैसे बने

ये भी पढ़े: मेडिकल-इंजीनियरिंग के अलावा ये कोर्स दे सकते है रोज़गार

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी मिलेगी जरूर अगर आपका करेंट अफेयर्स होगा मजबूत